Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजतिरंगा यात्रा को लेकर हिंदू परिवार पर हमला, घर में घुसकर छेड़खानी और फायरिंग:...

तिरंगा यात्रा को लेकर हिंदू परिवार पर हमला, घर में घुसकर छेड़खानी और फायरिंग: सपा नेता रहमत अली, पूर्व अध्यक्ष रिजवान सहित 210 पर मुकदमा, 20 गिरफ्तार

हालाँकि, पुलिस इसे आपसी विवाद बता रही है, लेकिन कहा जा रहा है कि झगड़े की जड़ तिरंगा यात्रा ही है। मोहल्ला इमाम चौक मुस्लिम बहुल इलाका है। कुछ रिपोर्ट के मुताबिक, यहाँ के रस्तोगी परिवार के एक सदस्य की बाइक मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति से टकरा गई। इसके बाद यह विवाद शुरू हुआ।

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में तिरंगा यात्रा को लेकर बुधवार (10 अगस्त 2022) को लेकर एक हिंदू परिवार पर हमले के मामले में पूर्व चेयरमैन रिजवान खान और समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला उपाध्यक्ष समेत 210 अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। इसमें 10 नामजद, जबकि 200 अज्ञात हैं। मामले में 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

सांप्रदायिक तनाव को देखते हुए इलाके में पुलिस और PAC के जवानों को तैनात कर दिया या है। इस मामले में अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

मामला इमाम चौक का है। यहाँ की निवासी सिद्वेश्वरी रस्तोगी ने थाने में तहरीर देकर कहा था कि मुहर्रम के दिन शाम को मोहल्ला के मुन्ना, मारूफ, जुबैर, आरिफ, शमशाद आदि लोग उसके घर घुस आए और बेटी के साथ छेड़छाड़ करने लगे।

महिला ने यह भी आरोप लगाया है कि जब वह अपनी बेटी को बचाने लगी तो आरोपितों ने उसकी छाती पर तमंचा भिड़ाकर फायर कर दिया। हालाँकि, फायर मिस हो गई और सिद्धेश्वरी की जान बच गई।

अपनी तहरीर में हिंदू महिला ने यह भी कहा, “वे लोग (आरोपित) कह थे कि तेरा बेटा कहाँ है? आज वो मेरे त्योहार (मुहर्रम) पर तिरंगा यात्रा की अगुवाई कर रहा था। उसे जान से मार डालेंगे।” महिला का कहना है कि जब वह चिल्लाने लगी और आस-पड़ोस के लोग इकट्ठा होने लगे तो आरोपित हवाई फायरिंग करते और जान से मारने की धमकी देते हुए भाग गए।

उन्होंने कहा कि इस दौरान पुलिस आ गई और मामला शांत हो गया, लेकिन कुछ देर बाद बड़ी संख्या में लोग आए और पत्थरबाजी करने लगे। इस अचानक हमले में कुछ पुलिस वालों को भी चोट लगने की बात कही जा रही है।

इसके साथ ही, इमाम चौक के रहने वाले नाने रस्तोगी ने अपनी तहरीर में कहा कि शाम को पाली नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन रिजवान खान, सपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष रहमत अली मोनू, सेनियाज खां, शान वारिस, रिसालत के साथ लगभग 200 अज्ञात लोग घर के इकट्ठे हो गए।

उन्होंने कहा कि उस समय रिजवान के हाथ में पिस्टल थी। इसके अलावा, उसके साथ आए हुए लोग पथराव करने लगे। इस दौरान रिजवान और उसके साथ के कुछ लोगों ने फायरिंग भी की। उन्होंने अपनी तहरीर में कहा कि आरोपितों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है।

कुछ रिपोर्ट के अनुसार, हालात को समझते हुए रस्तोगी परिवार ने इसकी सूचना पुलिस को दी। इसी बात से नाराज होकर फारुख और मुन्ना नाम के आरोपित सिद्धेश्वरी रस्तोगी के घर में तब घुस गए, जब वो अपनी 2 बेटियों के साथ थीं। आरोप है कि दोनों आरोपित उनकी बेटी को खींचने लगे और विरोध करने पर उनकी माँ के सीने पर तमंचा रख कर फायर कर दिया, जो मिस हो गया।

हालाँकि, पुलिस इसे आपसी विवाद बता रही है, लेकिन कहा जा रहा है कि झगड़े की जड़ तिरंगा यात्रा ही है। मोहल्ला इमाम चौक मुस्लिम बहुल इलाका है। यहाँ के रस्तोगी परिवार के एक सदस्य की बाइक मुस्लिम समुदाय के व्यक्ति से टकरा गई। इसके बाद यह विवाद शुरू हुआ।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -