Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाज'हिन्दू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी बंद करो': अजमेर में सड़क पर निकले आम लोग,...

‘हिन्दू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी बंद करो’: अजमेर में सड़क पर निकले आम लोग, व्यापारी और साधु-संत, नूपुर शर्मा का किया समर्थन

राष्ट्रपति के नाक सौंपे गए ज्ञापन में नूपुर शर्मा को धमकी देने वालों, हिन्दू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी करने वालों और देश को खंडित करने का प्रयास करने वालों पर कार्रवाई की माँग की गई।

हिन्दू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणियों के विरोध में राजस्थान का अजमेर में हिन्दुओं ने ‘शांति मार्च’ निकाला। साथ ही उन्होंने नूपुर शर्मा के समर्थन में भी आवाज़ बुलंद की। रविवार (26 जून, 2022) को निकाली गई इस यात्रा में सब कुछ शांतिपूर्ण ढंग से हुआ। इस दौरान पुलिस ने 20 SHO और 1000 से अधिक जवानों की तैनाती की थी। महिला संतों ने इस मौके पर कहा कि हिन्दुओं की भावनाओं का लगातार अपमान हो रहा है और अभद्र टिप्पणियाँ की जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि हमारती बेटियाँ ‘ल जिहाद’ का शिकार हो रही हैं, उन्हें धमकी देकर मारा जाता है और उन पर तेजाब फेंक दिए जाते हैं। साधु-संतों ने कहा कि इन घटनाओं का विरोध करने के लिए वो लोग ये रैली निकाल रहे हैं। इस दौरान स्थानीय भाजपा विधायक अनीता भदेल भी वहाँ मौजूद रहीं। उन्होंने कहा कि हिन्दू समाज हमेशा सद्भाव से रहता है, ऐसे में इसकी भावनाओं को चोट नहीं पहुँचाई जानी चाहिए। ये ‘शांति मार्च’ अजंता पुलिया से लेकर कलेक्ट्रेट तक पहुँचा।

मार्च में कई संगठन शामिल थे और अधिकतर आम लोग थे। उन्होंने अपने हाथों में तिरंगा ले रखा था। भाजपा के भी कई नेता-कार्यकर्ता साथ थे। साधु-संतों ने भी भागीदारी दिखाई। लोको ग्राउंड के पास परशुराम मंदिर से इसका आगाज़ हुआ। कलेक्ट्रेट पहुँच कर हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। इस दौरान 10 ड्रोन कैमरों से शहर में नजर रखी जाती रही। राष्ट्रपति के नाक सौंपे गए ज्ञापन में नूपुर शर्मा को धमकी देने वालों, हिन्दू देवी-देवताओं पर अभद्र टिप्पणी करने वालों और देश को खंडित करने का प्रयास करने वालों पर कार्रवाई की माँग की गई।

व्यापार संघ ने भी इस शांति मार्च के समर्थन में अपनी दुकानें बंद रखीं। कुछ घंटों के लिए अपने-अपने प्रतिष्ठान बंद कर के वो भी मार्च का हिस्सा बने। शांति मार्च में उपस्थित लोगों की संख्या हजारों में थी। बता दें कि काशी ज्ञानवापी विवादित ढाँचे में शिवलिंग मिलने के बाद लगातार इस्लामी कट्टरपंथियों और भीम-मीम समर्थकों ने भगवान शिव का मजाक बनाया था। नूपुर शर्मा को इस्लामी चरमपंथियों ने हत्या से लेकर बलात्कार तक की धमकियाँ दी थीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वकील चलाता था वेश्यालय, पुलिस ने की कार्रवाई तो पहुँचा हाई कोर्ट: जज ने कहा- इसके कागज चेक करो, लगाया ₹10000 का जुर्माना

मद्रास हाई कोर्ट में एक वकील ने अपने वेश्यालय पर कार्रवाई के खिलाफ याचिका दायर की। कोर्ट ने याचिका खारिज करके ₹10,000 का जुर्माना लगा दिया।

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -