Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाजमंदिर के गेट का ताला तोड़ा, फिर बजरंग बली की मूर्ति तोड़ी: CCTV से...

मंदिर के गेट का ताला तोड़ा, फिर बजरंग बली की मूर्ति तोड़ी: CCTV से पकड़ा गया रमीज अहमद, ‘मानसिक रोगी’ बता रही रही रांची पुलिस

स्थानीय लोग रमीज अहमद को मानसिक बताए जाने के पुलिसिया दावे पर सवाल उठा रहे हैं। वे पूछ रहे हैं कि हमलावर ने चाँदी के मुकुट और दान पेटी के पैसे को छोड़ कर सिर्फ मूर्ति को टारगेट क्यों किया?

झारखंड की राजधानी रांची के एक मंदिर का ताला तोड़कर बजरंग बली की मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। सीसीटीवी की जाँच से रमीज अहमद पकड़ा गया। पुलिस उसे ‘मानसिक रोगी’ बता रही है। लेकिन स्थानीय लोग इस दावे पर सवाल उठा रहे हैं।

घटना मंगलवार (27 सितम्बर 2022) रात की है। इसकी जानकारी स्थानीय लोगों को अगली सुबह हुई। लोगों के आक्रोश को देखते हुए इलाके में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला हिन्दपीढ़ी थाना क्षेत्र का है। यहाँ मेन रोड पर स्थित हनुमान मंदिर में बुधवार की सुबह विक्की विश्वकर्मा साफ-सफाई के लिए पहुँचा तो मंदिर का ताला टूटा हुआ था। अंदर जाकर देखा तो मंदिर में स्थापित हनुमान मूर्ति का नाक, माथा और गदा तोड़ दिया गया था। इसके अलावा मंदिर के अन्य सभी सामान सही सलामत थे। दान पेटी का पैसा भी सुरक्षित था।

स्थानीय लोगों ने आज तक से बात करते हुए बताया कि आरोपित को भले ही पुलिस द्वारा मानसिक रोगी बताया जा रहा हो लेकिन उसने चांदी के मुकुट और दानपेटी के पैसे को छोड़ कर सिर्फ मूर्ति को टारगेट क्यों किया।

इस घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय लोग मंदिर में जुटे। प्रदर्शन के बाद पुलिस मौके पर पहुँची। CCTV फुटेज की जाँच हुई। इसके आधार पर रमीज अहमद को गिरफ्तार किया गया। हिंदपीढ़ी के SHO ने रमीज अहमद को मानसिक रोगी बताया है।

तनाव को देखते हुए शहर में फ्लैग मार्च की भी सूचना है। भाजपा ने इस घटना के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार बताया है। मंदिर का शुद्धिकरण कराने की घोषणा भी हुई है।

घटना की रात लगे थे मज़हबी नारे

रमीज को मानसिक रोगी बताए जाने के पुलिसिया दावे से स्थानीय लोग सहमत नहीं हैं। स्थानीय लोगों ने आज तक से बात करते हुए कहा जिसे पुलिस मानसिक रोगी बता रही है उसने चाँदी के मुकुट और दान पेटी के पैसे को छोड़ कर सिर्फ मूर्ति को टारगेट क्यों किया। एक अन्य स्थानीय व्यक्ति का दावा है कि मूर्ति तोड़े जाने की रात वे दुर्गा पूजा के लेकर चर्चा कर रहे थे। इसी दौरान कुछ लोगों ने मजहबी नारे लगाकर उन्हें भड़काने की कोशिश की थी।

गौरतलब है कि इसी नवरात्रि हैदराबाद में बुर्का पहन कर 2 मुस्लिम महिलाओं ने एक पंडाल में घुस कर माँ दुर्गा की मूर्तियों को क्षतिग्रस्त करने का प्रयास किया था। मौके पर मौजूद श्रद्धालुओं ने दोनों को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया था। गिरफ्तारी के बाद इन दोनों महिलाओं को भी मानसिक रोगी बताया जाने लगा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -