Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजकस्टडी में 40 घंटे, मारे थप्पड़, सादे कागज पर दस्तख्त: श्रीकांत के परिवार ने...

कस्टडी में 40 घंटे, मारे थप्पड़, सादे कागज पर दस्तख्त: श्रीकांत के परिवार ने राजस्थान पुलिस को बताया झूठा, मारपीट में गर्भस्थ शिशु की मौत का आरोप

विष्णु कौशिक ने ऑपइंडिया को बताया कि लगभग 40 घंटे तक उन्हें गोपालगढ़ के पहाड़ी थाने में रखा गया। इस दौरान उन्हें थप्पड़ मारे गए। 2 सादे कागजों पर दस्तखत करवाए गए। विष्णु का भी कहना है कि राजस्थान पुलिस ने उनके सामने श्रीकांत की पत्नी से मारपीट की थी।

हरियाणा के भिवानी में गो तस्कर जुनैद और नासिर का जला शव मिला था। इस मामले में राजस्थान पुलिस सवालों के घेरे में है। आरोप है कि पुलिस की दबिश के दौरान मामले में आरोपित श्रीकांत कौशिक की गर्भवती पत्नी के साथ मारपीट की गई। इससे नवजात मृत पैदा हुआ। इस मामले में हरियाणा के नगीना थाने में राजस्थान पुलिस के कई स्टाफ के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई गई है। हालाँकि राजस्थान की भरतपुर पुलिस पुलिस ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया है। लेकिन श्रीकांत के परिवार ने ऑपइंडिया से बातचीत में राजस्थान पुलिस को झूठा करार दिया है।

झूठ बोल रही राजस्थान पुलिस

ऑपइंडिया से बात करते हुए श्रीकांत के चाचा प्रवीण कुमार ने कहा कि मारपीट से राजस्थान पुलिस का इनकार करना सरासर झूठ है। उन्होंने कहा कि पुलिस दबिश के दौरान उनकी बहू को चोटें आईं और वह गिर कर तड़पने लगी थी। प्रवीण ने राजस्थान पुलिस के रवैये को अमानवीय बताया है। श्रीकांत के चाचा का कहना है कि पुलिस टॉर्चर से पुरुष सदस्य घर में नहीं थे। इसके कारण श्रीकांत की पत्नी को चोट लगने के बाद समय से अस्पताल ले जाने वाला कोई नहीं था। इसकी वजह से नवजात ने गर्भ में ही दम तोड़ देना पड़ा। प्रवीण ने बताया कि राजस्थान पुलिस के डर से घर के पुरुष सदस्यों ने अपने फोन भी बंद कर रखे थे।

भाइयों को उठा ले गई थी पुलिस

श्रीकांत के चाचा के मुताबिक 16 फरवरी 2023 की सुबह करीब 3 बजे पुलिस ने उनके घर दबिश दी। पुलिस श्रीकांत के चचेरे भाई विष्णु और अश्विन को उठाकर ले गई थी। उन्होंने कहा कि पुलिस की इस हरकत के कारण उनके परिवार के लोग भयभीत हैं।

40 घंटे रखा हिरासत में, मारे थप्पड़

विष्णु कौशिक ने ऑपइंडिया को बताया कि लगभग 40 घंटे तक उन्हें गोपालगढ़ के पहाड़ी थाने में रखा गया। इस दौरान उन्हें थप्पड़ मारे गए। 2 सादे कागजों पर दस्तखत करवाए गए। विष्णु का भी कहना है कि राजस्थान पुलिस ने उनके सामने श्रीकांत की पत्नी से मारपीट की थी।

श्रीकांत को बेगुनाह बताते हुए उनके चाचा प्रवीण कुमार ने मामले की CBI जाँच की माँग की है। उनका कहना है कि 90% मुस्लिम आबादी के बीच रह कर हिंदुत्व का काम करना ही श्रीकांत का गुनाह है। घटना के पीछे किसी बड़ी साजिश की आशंका जताते हुए उन्होंने कहा कि श्रीकांत को पहले भी झूठे केसों में फँसाने की कोशिश हो चुकी है। बताया जा रहा है कि श्रीकांत की पत्नी अब खतरे से बाहर है। उनका इलाज घर के ही पास के एक अस्पताल में चल रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नारी शक्ति को मोदी सरकार ने समर्पित किए ₹3 लाख करोड़: नौकरी कर रहीं महिलाओं और उनके बच्चों के लिए भी रहने की सुविधा,...

बजट में महिलाओं की हिस्सेदारी कार्यबल में बढ़ाने पर काम किया गया है। इसके अलावा कामकाजी महिलाओं के लिए छात्रावास स्थापित करने का भी ऐलान हुआ।

25000 ग्रामीण बसावटों के लिए सड़क, कोसी-मेची के जुड़ने से किसानों को फायदा: बजट 2024 में इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए ₹1111111 करोड़, राज्यों को भी...

बजट 2024-25 में इंफ्रास्ट्रक्चर पर जोर है। इसके साथ ही पहाड़ी राज्यों में बादल फटने और लैंड स्लाइड से हुई हानि के लिए भी प्रावधान है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -