Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाज'रोज मैं उनके साथ होती थी, उस दिन होती तो वो बच जाते': BJYM...

‘रोज मैं उनके साथ होती थी, उस दिन होती तो वो बच जाते’: BJYM नेता की पत्नी ने बयाँ किया दर्द, कर्नाटक के गृह मंत्री बोले- केरल भागे होंगे अपराधी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रवीण ने राजस्थान के उदयपुर में कन्हैया लाल साहू की गला काट कर हुई दिन दहाड़े हत्या पर 29 जून को पोस्ट किया था। अपने पोस्ट में प्रवीण ने लिखा था कि इन लोगों ने गरीब टेलर को मार डाला है। यही नहीं, ये सब हमारे पीएम को टारगेट करने की बात कर रहे हैं।

कर्नाटक के मंगलूरु के दक्षिण कन्नड़ जिले के बेल्लारे में मंगलवार (26 जुलाई 2022) रात भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के जिला सचिव प्रवीण नेत्तारू की हत्या कर दी गई। हालाँकि, परिजनों को अभी भी पता नहीं है कि प्रवीण को क्यों मारा गया। वहीं, राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने आशंका व्यक्त की है कि प्रवीण के हत्यारे केरल से आकर घटना को अंजाम दिए और वापस भाग गए।

इस बीच हत्या के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने बुधवार (27 जुलाई 2022) के दौरान जमकर प्रदर्शन किया और भाजपा नेताओं के खिलाफ ही अपना आक्रोश निकाला। मृतक के परिजनों से मिलने गए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं स्थानीय सांसद नलिन कुमार कटील की कार को कार्यकर्ताओं ने घेर लिया। इसके बाद कुछ लोगों ने कार की पहिया का हवा निकालने और वाहन को पलटने की कोशिश भी की।

कर्नाटक के गृह मंत्री ज्ञानेंद्र ने रिपब्लिक टीवी से कहा, “कर्नाटक के इस हिस्से में, जो तटीय इलाका है और केरल की सीमा से लगता है, कई ऐसे मामले सामने आए हैं। ऐसे कई मामलों में हत्यारों ने अपराध किया है और केरल भाग गए।” बता दें कि जिन लोगों ने प्रवीण पर हमला किया था, वे केरल के रजिस्ट्रेशन नंबर वाली बाइक से आए थे। घटना भी केरल के बॉर्डर के नजदीक वाले इलाके की है।

मृतक की पत्नी ने कहा, “मुझे नहीं पता कि उन्होंने मेरे पति को क्यों मारा। जब वह दुकान बंद कर घर वापस आ रहे होते थे, तब मैं हर दिन वहाँ होती थी, लेकिन उस दिन मैं वहाँ नहीं थी। अगर मैं वहाँ होती तो ऐसा नहीं होता।” बता दें कि इस मामले में पुलिस ने 10 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। कुछ मीडिया रिपोर्ट में हिरासत में लोगों की संख्या 15 बताई जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रवीण ने राजस्थान के उदयपुर में कन्हैया लाल साहू की गला काट कर हुई दिन दहाड़े हत्या पर 29 जून को पोस्ट किया था। अपने पोस्ट में प्रवीण ने लिखा था कि इन लोगों ने गरीब टेलर को मार डाला है। यही नहीं, ये सब हमारे पीएम को टारगेट करने की बात कर रहे हैं।

बता दें कि मंगलवार की रात को प्रवीण बेल्लारे स्थित अपनी पॉल्ट्री की दुकान पर थे। जब रात में उनके घर जाने का समय हुआ तो वहाँ 9 बजे के करीब कुछ बाइक सवार हमलावर आए और उनके ऊपर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। प्रवीण भाजपा युवा मोर्चा के सदस्य थे और साथ ही सोशल व पॉलिटिकल सर्कल में काफी सक्रिय थे।

प्रवीण की हत्या के मामले में PFI और SDPI पर संदेह जताया गया है। कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि पुलिस को संदेह है कि हत्या बेल्लारी के मुस्लिम युवक मसूद की हत्या के बदले में की गई होगी, क्योंकि कुछ दिनों पहले एक युवक की हत्या हुई थी। कर्नाटक पुलिस ने भी मामले की जाँच के लिए 5 स्पेशल टीम का गठन किया है। इनमें से तीन टीमें केरल, मदिकेरी और हसन गईं हैं। बेल्लारे में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

इस मामले में केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता प्रह्लाद जोशी ने कहा, “प्रारंभिक रिपोर्ट और कुछ मीडिया रिपोर्ट SDPI और PFI लिंक की तरफ इशारा करती हैं। उन्हें केरल में बढ़ावा दिया जा रहा है। कर्नाटक में कॉन्ग्रेस उन्हें प्रोत्साहित कर रही है। कर्नाटक में हमारी सरकार कार्रवाई करेगी और दोषियों को सजा देगी।”

वहीं, भाजपा कार्यकर्ता प्रवीण नेट्टारू की हत्या के बाद भाजपा युवा मोर्चा (BJYM) के सदस्यों ने कर्नाटक के कई हिस्सों में इस्तीफा देने का अभियान शुरू कर दिया है। ये लोग हमलों के विरोध में कर्नाटक में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के लिए यह अभियान चलाया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

3 आतंकियों को घर में रखा, खाना-पानी दिया, Wi-Fi से पाकिस्तान करवाई बात: शौकत अली हुआ गिरफ्तार, हमलों के बाद OGW नेटवर्क पर डोडा...

शौकत अली पर आरोप है कि उसने सेना के जवानों पर हमला करने वाले आतंकियों को कुछ दिन अपने घर में रखा था और वाई-फाई भी दिया था।

नई नहीं है दुकानों पर नाम लिखने की व्यवस्था, मुजफ्फरनगर पुलिस ने काँवड़िया रूट पर मजहबी भेदभाव के दावों को किया खारिज: जारी की...

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पुलिस ने ताजी एडवायजरी जारी की है, जिसमें दुकानों और होटलों पर मालिकों के नाम लिखने को ऐच्छिक कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -