Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाज'तिरंगे का अपमान, तिलक देख हिंदू युवक को चाकू घोंपा': शिवमोगा बवाल पर बोले...

‘तिरंगे का अपमान, तिलक देख हिंदू युवक को चाकू घोंपा’: शिवमोगा बवाल पर बोले चश्मदीद- सावरकर की जगह लगाना चाहते थे जिन्ना का पोस्टर

चश्मदीद ने कहा, "पूरा देश स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगाँठ की खुशी में डूबा था और भारत के स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर रहा था। हमने भी सार्वजनिक स्थान पर कई स्वतंत्रता सेनानियों के होर्डिंग लगाए, जिनमें से एक पोस्टर विनायक दामोदर सावरकर का था।"

कर्नाटक के शिवमोगा में वीर सावरकर के पोस्टर पर हुए बवाल के बाद अब चश्मदीदों ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। बताया जा रहा है कि जहाँ पर सावरकर के पोस्टर फाड़े गए वहाँ पर तिरंगे का भी अपमान हुआ। कथिततौर पर सावरकर की तस्वीर फाड़ने वाले उस जगह टीपू सुल्तान और मोहम्मद अली जिन्ना के पोस्टर लगाना चाहते थे। वहीं प्रेम सिंह को चाकू मारने वालों को लेकर बताया गया है कि हमलावरों ने प्रेम के माथे पर टीका देखकर अटैक किया था।

रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष व चश्मदीद ने कहा कि 50 से 60 गुंडे सावरकर के पोस्टर फाड़ने के लिए आए थे। उन्होंने तिरंगे को अपमानित किया। वह सावरकर के पोस्टर फाड़ कर मोहम्मद अली जिन्ना और टीपू सुल्तान के पोस्टर लगाना चाहते थे। चश्मदीद ने ये भी बताया कि गाँधी मैदान के बाहर कैसे एक व्यक्ति को चाकू मार दिया गया।

चश्मदीद ने कहा, “कल पूरा देश स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगाँठ की खुशी में डूबा था और भारत के स्वतंत्रता सेनानियों को याद कर रहा था। हमने भी सार्वजनिक स्थान पर कई स्वतंत्रता सेनानियों के होर्डिंग लगाए, जिनमें से एक पोस्टर विनायक दामोदर सावरकर का था।”

बकौल चश्मदीद, “लगभग 50 से 60 गुंडों ने इकट्ठा होकर सावरकर के पोस्टर को फाड़ा जो तिरंगे के बीच था। उन्होंने पोस्टर तोड़ने के लिए अपने पैरों का इस्तेमाल किया और इस तरह उन्होंने तिरंगे को भी अपमानित किया। वे मुहम्मद अली जिन्ना और टीपू सुल्तान के पोस्टर लगाने आए थे। झड़प के बाद हमारा एक कार्यकर्ता दोपहर भोजन के लिए अकेले घर जा रहा था, जिसे गाँधी मैदान के पास चाकू मार दिया गया।”

तिलक देख हुआ हमला

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक के शिवमोगा में जिस व्यक्ति को चाकू मारने की बात सामने आई है उस व्यक्ति की पहचान प्रेम सिंह के तौर पर हुई है। एक चश्मदीद ने बताया कि उनके माथे पर तिलक लगा देख उन्हें पकड़ा गया और उन्हें चाकू मारा गया। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इस चाकू घोंपने के मामले में 4 आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

इनमें दो की पहचान नदीम और अब्दुल रहमान के तौर पर हुई है जबकि जो तीसरा व मुख्य आरोपित है उसका नाम जबीउल्लाह है। उसे पुलिस ने सोमवार को पकड़ा है। वहीं शिवमोगा जिला कलेक्टर आर सेल्वमणि ने मंगलवार को धारा 144 लगाते हुए शहर और भद्रावती नगर सीमा में स्कूल और कॉलेज बंद रखने का आदेश दिया है। उनके आदेशानुसार 18 अगस्त तक ये रोक इलाके में रहेगी। अभी हालात नियंत्रण में हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -