Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजशरीर के 56 टुकड़े, कुछ पका कर खाया, कुछ को कच्चा: केरल हत्याकांड में...

शरीर के 56 टुकड़े, कुछ पका कर खाया, कुछ को कच्चा: केरल हत्याकांड में मोहम्मद शफी ने दिए थे ‘जवानी बरकरार’ के टिप्स

मोहम्मद शफी के कहने पर दोनों महिलाओं को मारने के बाद उनके शरीर के कुछ हिस्सों को कच्चा खाया गया। इनमें से एक पीड़िता की सामने की पसलियों को काटा गया था। इसके बाद शरीर के कुछ हिस्सों को पका कर खाया गया क्योंकि लालच था जवानी बरकरार रखने का।

केरल हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। वामपंथी कार्यकर्ता भगवल सिंह और उसकी बीवी लैला ने काले जादू के चक्कर में पड़कर ना केवल दोनों महिलाओं की हत्या की, बल्कि मोहम्मद शफी के कहने पर उनके शरीर के छोटे-छोटे टुकड़े कर उसे पकाकर भी खाया।

दोनों मृत महिलाओं के शरीर के अंगों को मंगलवार (11 अक्टूबर 2022) को पथानामथिट्टा गाँव में दंपति के घर से बरामद किया गया। बताया जा रहा है कि आरोपित दंपति को शफी ने कहा था कि मानव शरीर के अंगों को पकाकर खाने से वह हमेशा जवान रहेंगे।

एक स्थानीय अदालत ने बुधवार (12 अक्टूबर 2022) को केरल के पथानामथिट्टा (Pathanamthitta) जिले में रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना को अंजाम देने वाले तीनों आरोपितों भगवल सिंह, उसकी पत्नी लैला और मोहम्मद शफी को दो सप्ताह की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आरोपित दंपति पथानामथिट्टा जिले के अरनमुला के पास अपने घर में मसाज सेंटर चलाते थे। उनका एजेंट मोहम्मद शफी जून और सितंबर में दोनों महिलाओं को घर ले आया था, जहाँ दंपति ने उनकी बेरहमी से हत्या कर दी थी।

कोच्चि पुलिस आयुक्त सीएच नागराजू ने मीडियाकर्मियों को बताया कि वो इस पूरे मामले की तहकीकात कई चीजों को ध्यान में रख कर कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “जब हमने मुख्य आरोपित मोहम्मद शफी से पहले पूछताछ की, तो हमें उससे कुछ नहीं मिला। इसके बाद हमने जाँच में पाया कि साजिश रचने वाला मुख्य आरोपित मानसिक रूप से विकृत (साइको) है।”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पहले दोनों महिलाओं का अपहरण किया गया, फिर कत्ल और उसके बाद उनके शवों के साथ दरिंदगी की गई। मोहम्मद शफी के कहने पर दंपति ने दोनों महिलाओं के शव के टुकड़े-टुकड़े किए। इसके बाद उसे पकाकर खा गए। ऐसी खबरें हैं कि लैला ने दोनों महिलाओं की हत्या करने के बाद उनके मांस के कुछ हिस्सों को पकाने की बात स्वीकार की है।

कोच्चि के पुलिस आयुक्त नागराजू ने कहा कि इसकी पुष्टि होनी बाकी है, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा, “दोनों महिलाओं के शरीर के सभी हिस्सों को बरामद कर लिया गया है। एक महिला के शरीर के कुछ हिस्सों को तीन गड्ढों से बरामद किया गया, जहाँ उन्हें दफनाया गया था।”

पुलिस आयुक्त ने आगे कहा, “हम इसकी जाँच भी कर रहे हैं कि क्या इस घटना को आरोपितों के साथ मिलकर और लोगों ने भी अंजाम दिया है। क्या ऐसे और भी मामले हुए हैं।”

कोच्चि के डीसीपी एस शशिधरन ने रविवार (10 अक्टूबर 2022) को बताया, “हम इस बात की भी जाँच कर रहे हैं कि क्या मुख्य आरोपित शफी ने इन महिलाओं को मौत के घाट उतारने से पहले उनके साथ दुष्कर्म तो नहीं किया। इस केस के अलावा शफी के खिलाफ 8 आपराधिक मामले दर्ज हैं।” शफी के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि वह 75 वर्षीय महिला के बलात्कार के मामले में जमानत पर बाहर था।

शफी ने वामपंथी कार्यकर्ता और उसकी पत्नी से करवाया कत्ल

पुलिस ने इस केस का खुलासा मंगलवार (11 अक्टूबर 2022) को किया था। उन्होंने बताया कि दो महिलाओं के अपहरण और हत्या केस में कोच्चि पुलिस ने तीन लोगों को पकड़ा है। इनकी पहचान मोहम्मद शफी, भगवल सिंह और उनकी पत्नी लैला के तौर पर हुई।

भगवल सिंह और उसकी पत्नी लैला ने मोहम्मद शफी के कहने पर दोनों महिलाओं को मारने के बाद उनके शरीर के कुछ हिस्सों को कच्चा खाया। इनमें से एक पीड़िता की सामने की पसलियों को काटा गया था। शरीर के कुछ हिस्सों को पका कर खाया गया क्योंकि मोहम्मद शफी ने कहा था कि मानव अंगों को पका कर खाने से जवानी बरकरार रहती है।

पुलिस ने आगे बताया कि मोहम्मद शफी ने महिलाओं की कुर्बानी देने के लिए उकसाया और फिर औरतों को पैसों का लालच देकर घर तक बुलाया। इसके बाद हत्या को अंजाम दिया गया। इन औरतों की पहचान लॉटरी डीलर पद्मा और सेल्सवुमन रोजलिन के तौर पर हुई थी। दोनों की उम्र 50 पार थी।

दोनों औरतें त्रिशूर जिले की वड्डाक्केनचेरी की रहने वाली थीं। इनमें से एक जून 2022 में गायब हुई थीं जबकि दूसरी सितंबर 2022 में। घटना के दौरान वह एर्नाकुलम के कलाड़ी में थीं। दंपती ने शफी के कहने पर इनकी हत्या के बाद इनके शरीर के 56 टुकड़े किए और इन्हें दफना दिया गया।

कैसे हुआ खुलासा?

दोनों हत्याओं का खुलासा तब हुआ, जब पद्मा के बेटे ने अपनी माँ के गायब होने की शिकायत पुलिस में दी। बेटे ने बताया कि उनकी माँ हमेशा उनको कॉल करती थीं लेकिन जब एक दिन उन्होंने ऐसा करना बंद कर दिया तो वो केरल में उन्हें खोजने आए। यहाँ वह नहीं थीं।

पुलिस ने शिकायत पर जाँच शुरू की। पुलिस ने उनका मोबाइल ट्रेस किया और उस जगह पहुँची, जहाँ शरीर के हिस्से दफन थे। उसी जगह पुलिस को रोजलिन के शव के भी टुकड़े मिले।

कथित तौर पर पहले पैसों की लालच में रोजलिन को मारा गया, लेकिन जब घर की आर्थिक स्थिति नहीं सुधरी तो फिर शफी ने एक और कुर्बानी देने को कहा। रिपोर्ट्स के अनुसार, दंपती ने औरतों को पहले चारपाई से बाँधा था। फिर लैला ने शफी के बताए अनुसार उन औरतों का सिर तन से अलग किया और फिर पूरी बॉडी को धारदार हथियार से काट डाला। शरीर बाद में दफना दिया गया।

बता दें कि मोहम्मद शफी उर्फ राशिद ने कुछ महीने पहले पथानामथिट्टा जिले के एलंथूर में रहने वाले भगवल सिंह के साथ फेसबुक पर चैट करना शुरू किया था। पुलिस के मुताबिक, राशिद ने खुद को श्रीदेवी नाम की महिला बताया था। कुछ समय के बाद शफी ने सिंह का विश्वास जीत लिया और उसे आर्थिक रूप से मजबूत बनने के लिए एर्नाकुलम के पेरुम्बवूर के एक आलिम की मदद लेने की सलाह दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -