Saturday, October 23, 2021
Homeदेश-समाजवैक्सीन ही नहीं, दारू के लिए भी कतार: ठेके खुले-लगी भीड़, छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस...

वैक्सीन ही नहीं, दारू के लिए भी कतार: ठेके खुले-लगी भीड़, छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस सरकार कर रही होम डिलिवरी

शराब की दुकानों पर किसी तरह की विवाद न हो इसके लिए प्रशासन ने थानों को भी अलर्ट जारी किया है। प्रशासन की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक, इन सभी दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिग के नियमों का पालन करना जरूरी होगा।

छत्तीसगढ़, यूपी समेत पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है और संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश में लॉकडाउन लगा हुआ है। यूपी सरकार के आदेश के बाद जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 17 मई तक कोरोना कर्फ्यू को बढ़ा दिया गया है। वाराणसी में कोरोना कर्फ्यू के बीच स्थानीय प्रशासन ने शराब की दुकानों को खोलने को लेकर दिशा निर्देश जारी किया। मंगलवार (मई 11, 2021) से वाराणसी में सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक शराब की दुकानें खुली रहेंगी। वहीं छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन शराब की बिक्री की वजह से सर्वर क्रैश होने की खबरें आ रही हैं।

शराब की दुकानों पर किसी तरह की विवाद न हो इसके लिए प्रशासन ने थानों को भी अलर्ट जारी किया है। प्रशासन की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक, इन सभी दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिग के नियमों का पालन करना जरूरी होगा। शराब की दुकानों के अलावा दूध, सब्जी, ब्रेड, फल, बेकरी, मिठाई की दुकानें, फल और सब्जी मंडी दोपहर एक बजे तक खुली रहेंगी। इनके अलावा सभी तरह के मॉल, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और अन्य दुकानें पूरी तरह बंद रहेंंगे।

वाराणसी के अलावा नोएडा और गौतम बुद्ध नगर जिले में सभी शराब और बीयर की दुकानें को मंगलवार से खोलने का आदेश जारी किया गया है। आदेश के अनुसार, शराब और बीयर की दुकान सुबह 10 बजे से शाम 7 बजे तक खुलेंगी। दुकान खुलने के बाद ठेके के बाहर लोग शराब लेने के लिए टूट पड़े। हालात शर्मनाक करने वाले थे, क्योंकि इतनी लंबी लाइन किसी भी दवा की दुकान पर नजर नहीं आई। शराब के लिए लोग सड़क किनारे वाहन खड़े कर कतार में लग गए। 

बता दें कि छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में शराब की ऑनलाइन बिक्री और होम डिलीवरी की अनुमति दे दी है। छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन के बीच शराब की होम डिलीवरी के लिए शुरू किए ऐप पर पहले ही दिन इतना भार आ गया कि ऐप क्रैश हो गया। सुबह 9 बजे से लोग इस ऐप के जरिए शराब की होम डिलीवरी के लिए जुट गए, जिसका नतीजा यह हुआ कि महज कुछ ही देर में ऐप क्रैश हो गया। गौरतलब है कि पिछले दिनों केजरीवाल ने जैसे ही कर्फ्यू का ऐलान किया वैसे ही दिल्ली के ठेकों पर लंबी लंबी कतारें देखने को मिली थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘खालिस्तान’ के नक़्शे में UP और राजस्थान भी, भारत से अलग देश बनाने का ‘खेल’ सोशल मीडिया पर… लोगों ने वहीं दिखाई औकात

'सिख्स फॉर जस्टिस' नाम की कट्टरवादी सिख संस्था ने तथाकथित खालिस्तान का नक्शा जारी किया है, जिसके बाद से लोग सोशल मीडिया पर उसकी आलोचना कर रहे हैं।

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति की बेटी सुकमावती इस्लाम छोड़ रहीं, अपनाएँगी हिंदू धर्म: सुधी वदानी रस्म की होगी प्रक्रिया

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति सुकर्णो की बेटी ने इस्लाम से वापस हिंदू धर्म अपनाने का फैसला किया है। सुधी वदानी नाम की रस्म होगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,988FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe