Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजअंबेडकर जयंती पर अल्लाह-हू-अकबर/इस्लाम जिंदाबाद के नारे, महिलाओं से छेड़खानी... राज ठाकरे को PFI...

अंबेडकर जयंती पर अल्लाह-हू-अकबर/इस्लाम जिंदाबाद के नारे, महिलाओं से छेड़खानी… राज ठाकरे को PFI की चेतावनी

PFI नेता अब्दुल शेखानी ने कहा, "हमारा एक दूसरा नारा भी है कि हमको छेड़ो मत। हमको छेड़ोगे तो हम छोड़ेंगे नहीं, ये याद रखना। एक भी मदरसा, एक भी मस्जिद, एक भी लाउडस्पीकर पर आपने हाथ लगाने की कोशिश की तो सबसे आगे PFI नजर आएगी।"

महाराष्ट्र के संगमनेर (Sangamner, Maharashtra) में बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर की जयंती पर निकाले गए जुलूस में कुछ दंगाई युवकों ने हंगामा कर दिया और इस्लाम जिंदाबाद और अल्लाह-हू-अकबर के भड़काऊ नारे लगाए। इस दौरान भीड़ द्वारा महिलाओं से छेड़छाड़ करने की भी बात कही जा रही है। वहीं, मनसे प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) द्वारा लाउडस्पीकर पर नमाज को लेकर दिए गए बयान पर कट्टर इस्लामिक संगठन PFI ने चेतावनी देते हुए कहा कि मुस्लिमों को छोड़ोगे तो वे छोड़ेंगे नहीं।

दरअसल, बाबासाहेब की जयंती पर 14 अप्रैल को अहमदनगर जिले के संगमनेर में जुलूस निकाला जा रहा था। इस दौरान 100-120 मुस्लिमों की भीड़ ने हाथ में धार्मिक झंडे लेकर आपत्तिजनक नारे शुरू कर दिए। जुलूस में अफरा-तफरी का माहौल पैदा करते हुए दंगाई ने ना सिर्फ इस्लाम जिंदाबाद और अल्लाह-हू-अकबर के नारे लगाए, बल्कि महिलाओं से छेड़छाड़ भी की। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

इस मामले को पुलिस ने गंभीरता से लिया है। महाराष्ट्र पुलिस ने इस मामले में 100-120 दंगाइयों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। उन लोगों के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने, दंगा भड़काने, मारपीट करने और महिलाओं से छेड़छाड़ करने के साथ-साथ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति रोकथाम अधिनियम (अत्याचार) (SC-ST Act) के तहत मामले दर्ज कर लिया है। इस मामले में अब तक दंगाइयों को गिरफ्तार भी किया गया है।

राज ठाकरे को PFI ने दी चेतावनी

इधर कट्टर इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) प्रमुख राज ठाकरे को लाउडस्पीकर पर नमाज का विरोध करने पर चेतावनी दी है। ठाणे ग्रामीण के मुस्लिम बहुल इलाके मुंब्रा में जुमे की नमाज के बाद संगठन के स्थानीय अध्यक्ष अब्दुल मतीन शेखानी ने यह धमकी दी।

शेखानी ने कहा कि अगर लाउडस्पीकर पर किसी ने हाथ लगाया तो PFI सबसे पहले खड़ी नजर आएगी। उन्होंने धमकाने वाले अंदाज में कहा, “हमें छेड़ेगो तो हम छोड़ेंगे नही।” लोगों को उकसाते हुए उन्होंने कहा कि देश में मुस्लिमों के साथ बहुत जुल्म हो रहा है।

शेखानी ने कहा, “हमारा एक दूसरा नारा भी है कि हमको छेड़ो मत। हमको छेड़ोगे तो हम छोड़ेंगे नहीं, ये याद रखना। एक भी मदरसा, एक भी मस्जिद, एक भी लाउडस्पीकर पर आपने हाथ लगाने की कोशिश की तो सबसे आगे PFI नजर आएगी।”

मामला सामने आने के बाद मुंबई पुलिस ने शेखानी के खिलाफ बिना अनुमति सभा करने और भड़काऊ भाषण देने के मामले में केस दर्ज कर लिया है। शेखानी ने जिस सभा का आयोजन किया था, उसके लिए उन्होंने अनुमति नहीं ली थी। पुलिस ने IPC की धारा 188 और महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम की धारा 37 (3) और 135 के तहत केस दर्ज किया गया है।

बता दें कि कुछ दिन पहले राज ठाकरे ने मुंबई के शिवाजी पार्क में एक रैली को संबोधित करते हुए मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने की माँग की थी। उन्होंने चेतावनी दी थी कि अगर इस मुद्दे पर राज्य सरकार ने कार्रवाई नहीं की तो हम मस्जिदों के सामने लाउडस्पीकर लगाकर फुल वॉल्युम में हनुमान चालीसा का पाठ किया जाएगा। 

बता दें कि रामनवमी में देश के कई राज्यों में हिंसा की घटनाएँ सामने आई थी। गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों में दंगाइयों ने भगवान राम की शोभा यात्रा पर पथराव किया और इलाके के हिंदुओं के घरों में आग लगा दी। इस दौरान दंगाई भीड़ ने घरों में लूट-पाट को भी अंजाम दिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -