Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजमनीष सिसोदिया ने कारोबारी से लिया ₹2.2 करोड़ घूस, नई शराब नीति में एक...

मनीष सिसोदिया ने कारोबारी से लिया ₹2.2 करोड़ घूस, नई शराब नीति में एक नियम जोड़ने के लिए हुई डील: ED चार्जशीट का हवाला दे रिपोर्ट में बताया

अमित अरोड़ा ने मनीष सिसोदिया से मार्च 2021 में मुलाकात की थी, जब उन्हें पता चला था कि 'साउथ ग्रुप' (एक फार्मा कंपनी और तेलंगाना के नेताओं के गठबंधन को ये नाम दिया गया है) शराब कारोबार में घुसना चाहती है और अरोड़ा द्वारा चलाए जा रहे एयरपोर्ट बिजनेस में भी एंट्री लेना चाहती है।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दिल्ली में हुए शराब घोटाले के मामले में जो चार्जशीट दायर की है, उससे कई बड़े खुलासे हुए हैं। ED ने बताया है कि शराब घोटाले में दिल्ली के तत्कालीन उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने करीबी सहयोगी दिनेश अरोड़ा के माध्यम से कारोबारी अमित अरोड़ा से घूस के रूप में 2.2 करोड़ रुपए लिए। AAP सरकार का ये घोटाला 2011-22 का है। इस मामले की जाँच CBI भी अलग से कर रही है।

ये पहली बार है जब किसी जाँच एजेंसी ने मनीष सिसोदिया को लेकर सीधे ये खुलासा किया है कि उन्होंने घूस लिया। इस चार्जशीट को 4 मई, 2023 को दायर किया गया था, जिसका अदालत ने संज्ञान लेते हुए गुरुवार (1 जून, 2022) को समन किया गया है। AAP नेता मनीष सिसोदिया स मामले में पहले से ही जेल में बंद हैं। अमित अरोड़ा ‘Buddy Retail Pvt Ltd’ नामक कंपनी चलाता है और उसे 30 नवंबर, 2022 को गिरफ्तार किया गया था।

इस घोटाले को लेकर ये लोग कई तरह के गड़बड़झालों में शामिल थे और इसे लागू करने के लिए भी वैध तरीकों का इस्तेमाल नहीं किया गया। मनीष सिसोदिया को ये घूस की रकम इसीलिए मिली थी, क्योंकि उन्होंने अमित अरोड़ा को फायदा पहुँचाया था। ‘आम आदमी पार्टी’ ने इन आरोपों को झूठा बताते हुए कहा है कि ED की चार्जशीट पूरी तरह काल्पनिक है। पार्टी ने दावा किया कि ऐसी ही एक चार्जशीट में राज्यसभा सांसद संजय सिंह को भी फँसाया गया था और फिर अदालत में इसे वापस लेना पड़ा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने दावा किया कि मनीष सिसोदिया पर 14 मोबाइल फोन बर्बाद करने का आरोप लगाया गया लेकिन फिर पता चला कि ये फोन ED की कस्टडी में ही हैं। ED ने बताया है कि अमित औराद को अपनी कंपनियों से जो रोजाना कमाई हो रही थी, उसी में से मनीष सिसोदिया को घूस दिया गया। अप्रैल 2021 के दूसरे हफ्ते में 1 करोड़ रुपए दिए गए थे। बाकि पैसे अगले 2-3 महीनों में दिए गए।

अमित अरोड़ा ने मनीष सिसोदिया से मार्च 2021 में मुलाकात की थी, जब उन्हें पता चला था कि ‘साउथ ग्रुप’ (एक फार्मा कंपनी और तेलंगाना के नेताओं के गठबंधन को ये नाम दिया गया है) शराब कारोबार में घुसना चाहती है और अरोड़ा द्वारा चलाए जा रहे एयरपोर्ट बिजनेस में भी एंट्री लेना चाहती है। उन्होंने एयरपोर्ट बिजनेस में किसी अन्य को NOC न मिलने वाला नियम जोड़ने की डील सिसोदिया से की थी। इस पर दिनेश ने उनसे कहा कि इसके लिए 2.5 करोड़ रुपए लगेंगे।

बैठक में मनीष सिसोदिया के पहुँचने के 15 मिनट बाद दिनेश अरोड़ा पहुँचा। बैठक में सिसोदिया के बगल में दिनेश अरोड़ा के बैठने का सन्देश पहुँचा कि नई शराब नीति का काम उनकी तरफ से वही देख रहा है। दिनेश अरोड़ा ने सिसोदिया के लिए 6% घूस जमा करने का दावा भी किया है। ED ने बताया कि दिनेश अरोड़ा अरविद केजरीवाल का करीबी होने का भी दावा करता था और AAP के कम्युनिकेशन इंचार्ज विजय नायर के इशारों पर कैश का प्रबंधन करता था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -