Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजहिंदू लड़का-मुस्लिम लड़की, प्रेम कहानी से बिहार के एक गाँव में महीनों रहा तनाव;...

हिंदू लड़का-मुस्लिम लड़की, प्रेम कहानी से बिहार के एक गाँव में महीनों रहा तनाव; पंचायत ने मंदिर में कराई शादी: छपरा में राजा बाबू की हुई निशा

साबिर अली शाह की बेटी निशा और चंदा देवी के बेटे राजा बाबू प्रेम में थे। लेकिन मजहब के कारण परिजन रिश्ते के खिलाफ थे। गाँव में तनाव के माहौल के बाद पंचों ने पहल की। पंचायत में दोनों परिवारों की सहमति के बाद इनकी शादी करा दी गई।

बिहार के छपरा में पंचायत की पहल के बाद हिंदू लड़का और मुस्लिम लड़की शादी के बंधन में बंध गए हैं। दोनों काफी समय से प्रेम में थे। लेकिन मजहब के नाम पर उनके घर वाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। दोनों के परिवार इसको लेकर आपस में उलझ चुके थे। गाँव में तनाव का माहौल हो गया था। आख़िरकार पंचायत ने दोनों परिवारों को साथ बिठा कर शादी करवाने का फैसला सुनाया। दोनों परिवार फैसले से सहमत बताए जा रहे हैं। शादी सोमवार (20 मार्च 2023) को हुई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला छपरा के गड़खा बाजार क्षेत्र का है। यहाँ के रहने वाले साबिर अली शाह की बेटी निशा उसी क्षेत्र की चंदा देवी के बेटे राजा बाबू से प्यार करती थी। दोनों काफी दिनों तक छिप कर एक-दूसरे से मिलते रहे। जब इस मामले की जानकारी दोनों परिवारों को हुई तो उन्होंने नाराजगी जताई। मजहब अलग-अलग होने के चलते दोनों ही परिवारों ने इस रिश्ते का विरोध किया। इन बंदिशों से परेशान राजा बाबू और निशा घर से भागने की फिराक में थे।

बताया जा रहा है कि कुछ माह पहले मौक़ा पाकर राजा बाबू और निशा एक साथ घर छोड़ कर कहीं चले गए। इस बात को लेकर लड़की और लड़के के घर वालों में झगड़ा भी हुआ। गाँव में तनाव फ़ैल गया जो महीनों तक बना रहा। कुछ दिनों बाद हालात सामान्य होने पर गाँव के पंचों ने दोनों ही परिवारों से बात शुरू की। गाँव में पंचायत बुलाई गई, जिसमें राजा बाबू और निशा का परिवार मौजूद था। पंचायत ने लड़की और लड़के से उनकी राय जानी। दोनों ने एक साथ रहने की बात कही।

प्रेमी युगल की सहमति को देख पंचायत ने दोनों के एक साथ रहने का फैसला सुनाया। लड़की के अब्बा साबिर अली और लड़के की माँ चंदा देवी ने भी आखिरकार पंचायत में इस रिश्ते पर सहमति जता दी। दोनों पक्षों की हामी के बाद राजा बाबू और निशा को गाँव वालों की ही मौजूदगी में गड़खा बाजार के मंदिर में ले जाया गया। यहाँ हिन्दू विधि-विधान से विवाह कराया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -