Tuesday, October 4, 2022
Homeदेश-समाजमस्जिद में पढ़ने आए नाबालिग को बेड पर नंगा सुलाया फिर खुद उतार लिए...

मस्जिद में पढ़ने आए नाबालिग को बेड पर नंगा सुलाया फिर खुद उतार लिए कपड़े: आबिद के कुकर्म को मीडिया ने ‘धार्मिक स्थल’ कह छिपाया

स्थानीय साइट्स में यह साफ लिखा है कि मस्जिद में अजान देने वाले मुजीम जिसका नाम मोहम्मद आबिद है, उसने नाबालिग लड़के से पहले कपड़े उतरवाए फिर उसे बेड पर लिटाया। इसके बाद आबिद खुद बिन कपड़े हो गया और कुकर्म का प्रयास करने लगा।

राजस्थान के बीकानेर जिले के धोबी तलाई स्थित मस्जिद में एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म का प्रयास हुआ। घटना 18 सितंबर 2021 की है। करतूत करने वाला मस्जिद में अजान देता है। उसकी पहचान मोहम्मद आबिद के तौर पर हुई है। पुलिस ने इस मामले में शिकायत मिलने के बाद मामले को दर्ज कर लिया है। अब पुलिस आगे आरोपित को गिरफ्तार कर कार्रवाई कर रही है।

कुछ स्थानीय साइट्स में यह साफ लिखा है कि मस्जिद में अजान देने वाले मुजीम जिसका नाम मोहम्मद आबिद है, उसने नाबालिग लड़के से पहले कपड़े उतरवाए फिर उसे बेड पर लिटाया। इसके बाद आबिद खुद बिन कपड़े हो गया और कुकर्म का प्रयास करने लगा। ये सब देख बच्चा डर गया और पेशाब के बहाने बोलकर वहाँ से भाग गया। घर आकर जब उसने सारी बात बताई तब परिवार ने इस केस को पुलिस में दर्ज करवाया।

हमारा बीकानेर साइट पर प्रकाशित जानकारी का स्क्रीनशॉट, जहाँ मस्जिद साफ लिखा है और मुजीम यानी मो आबिद का नाम भी।

कोटगेट थाना क्षेत्र के सीआई मनोज माचरा इस संबंध में कहते हैं कि एक व्यक्ति ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि उसके दो बेटे मस्जिद पर पढ़ाई करने के लिए जाते हैं। वहाँ आबिद नाम के एक शख्स ने उसके दो बेटों में से एक को तो घर भेज दिया, लेकिन दूसरे बेटे के साथ कुकर्म करने का प्रयास किया। बच्चे ने घर जाकर अपने परिजनों को आरोपित की हर​कत के बारे में बताया, जिसके बाद उन्होंने उसके खिलाफ पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है। मनोज माचरा ने कहा कि पुलिस ने आरोपित के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज उसे राउंडअप कर लिया है।

अब अजीब बात ये है कि इस पूरी खबर में हर जगह अच्छे से ये बात स्पष्ट है कि ये घटना मस्जिद-मदरसे से जुड़ी है। लेकिन फिर भी कुछ मीडिया साइट और अखबार इसे धार्मिक स्थल कहकर अलग एंगल देने का प्रयास कर रहे हैं या ये कहें कि अपने पाठक को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। बच्चे धार्मिक स्थल में पढ़ने नहीं जाते हैं, ये हम सभी जानते हैं। मगर, फिर भी दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका ने इस संवेदनशील मुद्दे पर मदरसे के लिए धार्मिक स्थल का इस्तेमाल कर केवल लोगों को भ्रमित करने का काम किया है और कुछ नहीं।

राजस्थान पत्रिका का स्क्रीनशॉट

गौरतलब है कि जून 2021 में उत्तर-पूर्वी दिल्ली के हर्ष विहार में एक मस्जिद में बलात्कार की घटना सामने आई थी। मस्जिद में पानी लेने गई 12 साल की लड़की का मौलवी इलियास ने बलात्कार किया था। मंदिरों में एक थप्पड़ की घटना को भी उछालने वाले मीडिया ने उस दौरान मस्जिद में रेप के मामले को छिपाने का प्रयास किया था। उस समय ‘दैनिक जागरण’ ने भी अपनी हैडिंग में मस्जिद को ‘धार्मिक स्थल’ लिखा था। इतना ही नहीं, पूरे लेख में 4 बार मस्जिद की जगह ‘धार्मिक स्थल’ लिखा गया।

‘दैनिक जागरण’ ने मस्जिद को लिखा ‘धार्मिक स्थल’

सिर्फ ‘दैनिक जागरण’ ही नहीं, ‘अमर उजाला’ और ‘दैनिक भास्कर’ ने भी उस दौरान ऐसा ही कारनामा किया था। ‘दैनिक भास्कर’ ने लिखा था – ‘धार्मिक स्थल पर हुई वारदात।’ 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

एक मिनट में दागेगा 750 गोलियाँ, ऊँचाई वाले स्थानों पर दुश्मन की खैर नहीं: जानें 5800 किलो के स्वदेशी ‘प्रचंड’ के बारे में, जो...

'प्रचंड' चॉपर दुश्मनों के लड़ाकू विमानों को ध्वस्त करने, आतंकवाद विरोधी अभियानों को अंजाम देने, कॉम्बैट सर्च और बचाव कार्यों में सक्षम हैं।

कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने भारत आए चीतों को बताया लंपी वायरस का कारण, नामीबिया को बताया ‘नाइजीरिया’: BJP नेता ने कहा – इनको...

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा है कि देश में फैले हुए लंपी वायरस के लिए 'नाइजीरिया' से आए चीते जिम्मेदार हैं। हुई जगहँसाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,129FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe