Friday, July 12, 2024
Homeदेश-समाज13 साल के लड़के से कुकर्म करना चाहता था मोहम्मद फुरकान, नाकाम होने पर...

13 साल के लड़के से कुकर्म करना चाहता था मोहम्मद फुरकान, नाकाम होने पर गला घोंट कर मार डाला: यूपी पुलिस ने दबोचा

पुलिस के मुताबिक, 13 वर्षीय रिहान (अब्बा का नाम शकील) दारानगर गंज का रहने वाला था। 4 अगस्त को उसका शव बिजनौर के दारानगर में कश्यप मोहल्ले के पीछे वन विभाग की जमीन पर पड़ा मिला था।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर (Bijnor) में मोहम्मद फुरकान (Mohammad Furqan) नाम के शख्स ने 13 साल के लड़के का गला घोंटकर उसकी हत्या दी। बताया जा रहा है कि आरोपित लड़के के साथ कुकर्म करना चाहता था। लेकिन इसमें विफल होने पर उसने लड़के की हत्या कर दी। पुलिस ने मोहम्मद फुरकान को गिरफ्तार कर लिया है। बिजनौर के पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह ने बताया कि लड़का 3 अगस्त को लापता हो गया था, जिसके बाद परिवार के सदस्यों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर उसकी काफी तलाश की, लेकिन देर रात तक उसका कोई सुराग नहीं मिला।

पुलिस के मुताबिक, 13 वर्षीय रिहान (अब्बा का नाम शकील) दारानगर गंज का रहने वाला था। 4 अगस्त को उसका शव बिजनौर के दारानगर में कश्यप मोहल्ले के पीछे वन विभाग की जमीन पर पड़ा मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि गला घोंटने की वजह से उसकी मृत्यु हुई है। आरोपित फुरकान उर्फ काला (25 साल) को पुलिस ने 8 अगस्त को गिरफ्तार किया था।

पूछताछ में आरोपित ने अपने जुर्म कबूला है। उनसे बताया कि रिहान उसी के गाँव का रहने वाला था। वह रिहान के साथ गलत काम करने के लिए उसे काफी दिनों से बहला-फुसला रहा था। 3 अगस्त को मौका पाते ही वह लड़के को बहला-फुसलाकर अपने साथ रात करीब 8 बजे जंगल की ओर ले गया। वहाँ उसने रिहान के कपड़े उतारे और जैसे ही आरोपित उसके साथ गलत काम करने लगा, वह उसके चंगुल से भागकर जोर-जोर से शोर मचाने लगा और कहने लगा कि वह सारी बात अपने घर वालों बताएगा।

गाँव में बदनामी के डर से उसने (फुरकान) रिहान को पकड़ लिया और अपने हाथों से गला दबाकर उसकी हत्या की दी। घटना को अंजाम देने के बाद वह वहाँ से भाग गया।

गौरतलब है कि इसी साल मार्च में राजस्थान की राजधानी जयपुर (Jaipur, Rajasthan) में एक ऐसी घटना सामने आई थी। शौहर मोहम्मद रियाज (27) और बीवी रुही परवीन (25) ने एक नाबालिग बच्चों के साथ ना सिर्फ मारपीट की, बल्कि शराब के नशे में रियाज उसके साथ कुकर्म भी किया। इतना ही नहीं, नाबालिग बंधकर बनाकर रखा गया और खाने के नाम पर उसे बिस्किट और पानी दिया जाता था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -