Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजमो. अमीन खान ने राजा पंडित बनकर 3 बच्चों की माँ को फँसाया: जबरन...

मो. अमीन खान ने राजा पंडित बनकर 3 बच्चों की माँ को फँसाया: जबरन धर्मांतरण का दबाव, दहेज के लिए किया प्रताड़ित

महिला ने आगे बताया कि अमीन के माता-पिता और परिवार वालों ने कुछ दिनों बाद ही उसे दहेज के लिए परेशान करना शुरू कर दिया। उन्होंने उस पर इस्लाम कबूल करने का दबाव भी बनाया। पीड़िता ने अमीन पर उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाने और उसे रिकॉर्ड करने का भी आरोप लगाया।

उत्तर प्रदेश में जबरन धर्मांतरण कराने के मामले में हाल ही में पुलिस ने मोहम्मद अमीन खान नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। उसके खिलाफ तीन बच्चों की माँ पूजा पांडे को फँसाने और बाद में उसे दहेज, जबरन धर्म परिवर्तन के लिए प्रताड़ित करने के आरोप में 5 सितंबर 2021 को मामला दर्ज किया गया है।

पूजा पांडे अपने पति विशाल कुमार और तीन बच्चों के साथ तेलंगाना में रहती थीं। पिछले साल वह एक ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आई, जो उसके पति के लिए काम करता था। वह उसके झूठे प्यार के जाल में फँसकर अपने परिवार को छोड़कर उसके साथ भागकर उत्तर प्रदेश आ गई। हालाँकि, सच्चाई सामने आने के बाद पूजा ने अब अमीन खान और उसके परिवार वालों के खिलाफ शारीरिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित करने और मारपीट करने का मामला दर्ज कराया है।

मोहम्मद अमीन ने खुद को राजा पंडित बताया

महिला ने अपनी शिकायत में बताया कि उसके पति के लिए काम करने वाला मोहम्मद अमीन खान अपनी फर्जी पहचान बताकर उसके करीब आया था। उसने महिला को अपना नाम राजा पंडित बताया था। दोनों में नजदीकियाँ बढ़ने के बाद पूजा उसके साथ भागकर उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में आ गई थी।

शुरुआत में राजा उर्फ अमीन ने उसे शांति कॉलोनी में रखा। बाद में वह उसे अपने गाँव मसनाई ले गया। पूजा के बयान के अनुसार, अमीन खान के गाँव पहुँचने के बाद उसे पता चला कि वह एक मुसलमान है।

महिला ने आगे बताया कि अमीन के माता-पिता और परिवार वालों ने कुछ दिनों बाद ही उसे दहेज के लिए परेशान करना शुरू कर दिया। उन्होंने उस पर इस्लाम कबूल करने का दबाव भी बनाया। पीड़िता ने अमीन पर उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाने और उसे रिकॉर्ड करने का भी आरोप लगाया।

पुलिस को पीड़िता का बयान। साभार: स्वराज्य

विरोध करने पर अमीन ने उसे ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी। पीड़िता ने अपने बयान में अमीन पर उसे शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप भी लगाया है।

कुछ मीडिया इंटरव्यू में पूजा ने यह भी बताया कि अमीन ने उससे कुछ दस्तावेजों पर साइन भी करवाए थे, जिन्हें वह पढ़ नहीं पाई थी। हालाँकि, उसे बाद में पता चला कि उन दस्तावेजों में साइन करवाकर उससे इस्लाम कबूल करवाया गया था। अब वह हिंदू से मुस्लिम में कन्वर्ट हो चुकी थी।

फिर अमीन ने उसे बुर्का पहनने के लिए मजबूर किया, लेकिन उसने हिंदू होने के कारण पहनने से मना कर दिया। इस पर अमीन का परिवार गुस्सा हो गया। उन्होंने कहा कि अगर इसने बुर्का नहीं पहना तो गाँव वालों को पता चल जाएगा कि उनका बेटा एक हिंदू महिला को अपने घर पर ले आया है। पूजा ने यह भी आरोप लगाया कि अमीन का परिवार उसे अपना नाम बदलकर नसरीना रखने के लिए मजबूर कर रहा था।

यूपी पुलिस ने अमीन के परिवार वालों पर मामला दर्ज किया

महिला की शिकायत के आधार पर पुलिस ने अमीन खान के पिता जलालुद्दीन खान, माँ खेरुनिशन और भाइयों सलमान व अंसार पर उत्पीड़न का मामला दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि आईपीसी की धारा 498 ए (दहेज), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुँचाना), 504 (अपमान करना), 419 (धोखाधड़ी) और दहेज निषेध अधिनियम व यूपी के गैरकानूनी धार्मिक रूपांतरण अध्यादेश 2020 से संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

फ्रेंड्स कॉलोनी के थाना प्रभारी (एसएचओ) द्वारा स्वराज्य को दिए गए बयान के अनुसार, सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। अधिकारी ने यह भी बताया कि अमीन ने अदालत में पेश किए जाने पर अपने ऊपर लगे सभी आरोपों का खंडन किया है।

हिंदू कार्यकर्ता ने केस दर्ज कराने में पीड़िता की मदद की

रिपोर्ट के मुताबिक, पूजा को नारायणी सेना के कार्यकर्ता अनुज पुरोहित ने एक स्थानीय अदालत के बाहर रोते हुए देखा था। महिला की आपबीती सुनने के बाद उसने अपनी संस्था के साथ मिलकर फ्रेंड्स कॉलोनी थाने में पीड़िता की केस दर्ज कराने में मदद की थी।

पुरोहित ने पीड़िता को भरोसा दिलाया कि उसके लिए उन्होंने फ्रेंड्स कॉलोनी के पास किराए का घर उपलब्ध कराया है और जल्द ही उसका बड़ा बेटा उसे तेलंगाना वापस ले जाने के लिए आएगा। नारायणी सेना के कार्यकर्ता ने बताया, “जब तक उसका परिवार नहीं आएगा, हम उसकी देखभाल करेंगे।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -