Saturday, April 20, 2024
Homeदेश-समाजजनता कर्फ़्यू में ईदगाह मैदान में CAA विरोध-प्रदर्शन: 12 आयोजकों, 150 अज्ञात पर FIR...

जनता कर्फ़्यू में ईदगाह मैदान में CAA विरोध-प्रदर्शन: 12 आयोजकों, 150 अज्ञात पर FIR – जान से खिलवाड़ का आरोप

चाँद खान उर्फ़ अतहर, शाकिर हुसैन, जाकी राईनी, वाकी रशीद, आसिफ चौधरी, साहिल शम्सी, गुड्डू उर्फ़ अजीम, बब्बन अब्बासी, अनवर नवेद, असलम खान, एहतेशाम मंसूरी और हाफिज इरफ़ान अंसारी व 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद रविवार (मार्च 22, 2020) को जहाँ पूरा देश जनता कर्फ्यू का पालन कर रहा था, वहीं मुरादाबाद के ईदगाह मैदान में हजारों लोग सीएए और एनआरसी के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे थे। आरोप है कि आयोजकों ने एक साजिश के तहत 21 मार्च की रात से ही मैसेज वायरल कर हजारों लोगों को इकट्ठा किया। इसके बाद रविवार सुबह जहाँ पूरा शहर कोरोनावायरस से लड़ने के लिए घरों में कैद था, वहीं ईदगाह मैदान में प्रदर्शनकारी धरने पर थे। इन सभी लोगों पर दूसरों की जान से खिलवाड़ करने के आरोप में FIR दर्ज किया गया है।

मुरादाबाद में 29 जनवरी से चल रहा धरना रविवार को भी बदस्तूर जारी रहा। जबकि एसीएम प्रथम ने इसे स्थगित करने के लिए नोटिस भी दिया था। प्रधानमंत्री के जनता कर्फ्यू के आह्वान के बाद प्रशासन ने इस संबंध में आदेश जारी किया था। इस आदेश के बाद एसीएम प्रथम की ओर से ईदगाह में धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों को नोटिस दिया गया था। उन्हें 21 मार्च को शाम 5 बजे तक धरना खत्म करने के लिए अल्टीमेटम दिया गया था। अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम ने शनिवार (मार्च 21, 2020) को ईदगाह मैदान में धरने का संचालन करने रहे 12 लोगों को नोटिस जारी किया था। जिसमें उन्हें चेतावनी दी गई थी कि 21 मार्च की शाम पाँच बजे तक धरना प्रदर्शन खत्म किया जाए। यदि जनहित में धरना स्थगित नहीं किया गया तो कार्रवाई की जाएगी।

इस नोटिस के बावजूद रविवार को ईदगाह मैदान में लोगों ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन किया। इसमें अन्य दिनों की अपेक्षा रविवार को अधिक लोग नजर आए। इस दौरान मंच से भाषण भी दिए गए। इस संबंध में एसएसपी अमित पाठक ने कहा कि प्रदर्शनकारियों को सचेत किया गया था। इसके बावजूद उन्होंने जनता के लिए खतरा उत्पन्न किया है। मामले में 12 आयोजकों और 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज किया गया है।

सभी के खिलाफ गलशहीद थाने में आईपीसी की धारा 269, 270 और 188 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने कोरोनावायरस को महामारी घोषित किए जाने के बाद विनियमावली 2020 की धारा 12 में वर्णित प्रावधानों के उल्लंघन में ईदगाह मैदान में चल रहे विरोध प्रदर्शन के आयोजकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। गलशहीद थाना प्रभारी अजीत रोरिया ने बताया कि सीएए एवं एनआरसी बिल के विरोध में विरोध प्रदर्शन की कमिटी के सदस्य चाँद खान उर्फ़ अतहर, शाकिर हुसैन, जाकी राईनी, वाकी रशीद, आसिफ चौधरी, साहिल शम्सी, गुड्डू उर्फ़ अजीम, बब्बन अब्बासी, अनवर नवेद, असलम खान, एहतेशाम मंसूरी और हाफिज इरफ़ान अंसारी व 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज किया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, संविधान में बदलाव का कोई इरादा नहीं’: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- ‘सेक्युलर’ शब्द हटाने...

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने जीएसटी लागू की, 370 खत्म की, राममंदिर का उद्घाटन हुआ, ट्रिपल तलाक खत्म हुआ, वन रैंक वन पेंशन लागू की।

लोकसभा चुनाव 2024: पहले चरण में 60+ प्रतिशत मतदान, हिंसा के बीच सबसे अधिक 77.57% बंगाल में वोटिंग, 1625 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में...

पहले चरण के मतदान में राज्यों के हिसाब से 102 सीटों पर शाम 7 बजे तक कुल 60.03% मतदान हुआ। इसमें उत्तर प्रदेश में 57.61 प्रतिशत, उत्तराखंड में 53.64 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe