Wednesday, April 17, 2024
Homeदेश-समाज'मुस्लिम भीड़ ने घरों में घुस मचाया उत्पात, डरी लड़कियों के आ रहे थे...

‘मुस्लिम भीड़ ने घरों में घुस मचाया उत्पात, डरी लड़कियों के आ रहे थे फोन’: पंचायत नेता के आरोप पर बोली बिहार पुलिस – कुछ नहीं हुआ

पवन महतो का कहना है कि हिंसा का परिणाम ये हुआ है कि अभी तक उनलोगों ने गाँव में कदम नहीं रखा है और मधुबनी शहर में ही हैं। उन्होंने कहा कि मतगणना के कारण गाँव में कम लोग बचे हुए थे, इसी दौरान हमला हुआ।

बिहार के मधुबनी जिले में स्थित देवधा गाँव से हिंसा के आरोप की खबर आ रही है। बता दें कि मंगलवार (14 दिसंबर, 2021) को बिहार में पंचायत चुनाव के लिए 20 जिलों के 38 प्रखंडों में मतगणना चल रही है। ये पंचायत चुनाव का 11वाँ चरण है। इससे एक दिन पहले देवधा गाँव में हिंसा के आरोप की ख़बरें सामने आई हैं। पंचायत समिति उम्मीदवार पवन महतो का आरोप है कि गाँव में मुस्लिम भीड़ ने जम कर उत्पात मचाया है और लोगों के घरों में घुस कर उनकी पिटाई की है।

ऑपइंडिया से बात करते हुए पवन महतो ने बताया, “वास्तविक बात ये है कि मैं अभी तक घर पर नहीं पहुँचा हूँ। मैं पंचायत समिति का चुनाव लड़ रहा था। इसके तहत मंगलवार को मधुबनी जिला मुख्यालय में मतगणना होनी थी। इसके लिए मैं एक दिन पहले ही शाम के 4 बजे जिला मुख्यालय के लिए निकल गया। रात को मैं गाँव में नहीं था। मैं जैसे ही यहाँ पहुँचा, मुझे गाँव से कॉल आया कि यहाँ अफरा-तफरी मची हुई है और कई लोग घायल हो गए हैं।”

हालाँकि, पवन महतो पंचायत समिति का चुनाव हार चुके हैं। उन्हें 500 से अधिक मत प्राप्त हुए, लेकिन वो तीसरे स्थान पर रहे। उन्होंने बताया कि चूँकि वो मधुबनी शहर में थे, इसीलिए से जब उन्हें हिंसा की सूचना मिली तो मोबाइल फोन से ही लोगों से संपर्क करना शुरू किया और इस दौरान बीडीओ से लेकर एसडीएम तक का नंबर मिलाया। उनका कहना है कि वो रात के 12 बजे तक इसमें व्यस्त रहे। उन्होंने दावा किया कि पुलिस-प्रशासन वहाँ पहुँची, लेकिन पुलिसकर्मियों की भी पिटाई की गई है।

पवन महतो का कहना है कि हिंसा का परिणाम ये हुआ है कि अभी तक उनलोगों ने गाँव में कदम नहीं रखा है और मधुबनी शहर में ही हैं। उन्होंने कहा कि मतगणना के कारण गाँव में कम लोग बचे हुए थे, इसी दौरान हमला हुआ। उन्होंने बताया कि वो मंगलवार की शाम को घर पहुँचेंगे। उन्होंने इस बात का डर जताया कि फिर से हमला किया जा सकता है, क्योंकि आरोपितों की तरफ से लगातार ऐसी ही धमकी दी जा रही है। दंगेबाजी करने वाले कौन लोग हैं?

इसके जवाब में उन्होंने बताया कि वो भीड़ मुस्लिमों की थी और उसमें बकरा-गाय काटने वाले मुस्लिम समाज के लोग शामिल थे। उन्होंने कहा कि मुस्लिम भीड़ ने काफी बुरी घटना को अंजाम दिया है, जिसकी हम कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने जानकारी दी कि उन्हें गाँव से लड़कियों ने फोन कॉल्स आ रहे थे। वो कह रही थीं कि हमें बचाइए, ये लोग हमारे घरों में घुस रहे हैं। वो लोग बार-बार पुलिस को भेजने की गुहार लगा रही थीं और पूछ रही थीं कि आपलोग कहाँ हैं।

पवन महतो को इस बात का अफ़सोस है कि वो यहाँ से कुछ नहीं कर पाए, क्योंकि मोबाइल फोन पर लोगों से संपर्क करने के अलावा कोई और चारा ही नहीं था। उन्होंने कहा कि एसपी तक ने अपना मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर लिया। हालाँकि, जयनगर के सडीपीओ शौर्य सुमन ने ऑपइंडिया को बताया कि इस तरह की कोई घटना सामने नहीं आई है। IPS अधिकारी ने कहा कि हिंसा की घटना और पुलिसकर्मियों की पिटाई के पंचायत समिति उम्मीदवार के आरोपों पर उन्होंने कहा कि इस तरह की कोई घटना ही ही नहीं है, ऐसा कुछ नहीं हुआ है।

हमने इस मामले में हमने मधुबनी के एसपी सत्य प्रकाश से भी बात की, जिन्होंने कहा कि उन्हें इस तरह की किसी घटना की कोई सूचना नहीं मिली है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अनुपम कुमार सिंह
अनुपम कुमार सिंहhttp://anupamkrsin.wordpress.com
चम्पारण से. हमेशा राइट. भारतीय इतिहास, राजनीति और संस्कृति की समझ. बीआईटी मेसरा से कंप्यूटर साइंस में स्नातक.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नॉर्थ-ईस्ट को कॉन्ग्रेस ने सिर्फ समस्याएँ दी, BJP ने सम्भावनाओं का स्रोत बनाया: असम में बोले PM मोदी, CM हिमंता की थपथपाई पीठ

PM मोदी ने कहा कि प्रभु राम का जन्मदिन मनाने के लिए भगवान सूर्य किरण के रूप में उतर रहे हैं, 500 साल बाद अपने घर में श्रीराम बर्थडे मना रहे।

शंख का नाद, घड़ियाल की ध्वनि, मंत्रोच्चार का वातावरण, प्रज्जवलित आरती… भगवान भास्कर ने अपने कुलभूषण का किया तिलक, रामनवमी पर अध्यात्म में एकाकार...

ऑप्टिक्स और मेकेनिक्स के माध्यम से भारत के वैज्ञानिकों ने ये कमाल किया। सूर्य की किरणों को लेंस और दर्पण के माध्यम से सीधे राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला के मस्तक तक पहुँचाया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe