Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजबाप-बेटे को गोली मारने वाला आरिफ अब भी फरार, तनाव के बाद भारी पुलिस...

बाप-बेटे को गोली मारने वाला आरिफ अब भी फरार, तनाव के बाद भारी पुलिस बल तैनात: दिल्ली में पार्किंग विवाद में हुई थी फायरिंग

दिल्ली पुलिस ने इसमें किसी तरह के सांप्रदायिक तनाव से इनकार कर दिया है। अतिरिक्त डीसीपी, नॉर्थ ईस्ट संध्या स्वामी ने कहा कि इस घटना में कोई सांप्रदायिक कोण नहीं है। फिर भी, किसी भी तरह की अफवाहें या किसी भी अप्रिय स्थिति को रोकने के लिए क्षेत्र में पुलिस की उपस्थिति बढ़ा दी गई है। 

देश की राजधानी दिल्ली के भजनपुरा (Bhajanpura, Delhi) इलाके में एक आरिफ हसन ने एक हिन्दू पिता-पुत्र को गोली मार दी। आरिफ ने 10-15 लोगों को इकट्ठा कर लिया था और 10-15 राउंड फायरिंग की थी। लोगों ने इनमें से एक इबले हसन को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया है, जबकि आरिफ और अन्य लोग भागने में कामयाब हो गए।

घायल पिता-पुत्र का इलाज चल रहा है। घटना से नाराज लोगों ने वाहनों में तोड़फोड़ की है। हालात संभालने के लिए इलाके में पुलिस गश्त बढ़ाने के साथ-साथ पैरामिलिट्री फ़ोर्स को भी तैनात कर दिया गया है। गोली मारने की घटना गुरुवार (16 फरवरी 2023) की रात की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विवाद की शुरुआत पार्किंग को लेकर कहासुनी से हुई। जिन पिता-पुत्र को गोली लगी है, उनके नाम वीरेंद्र अग्रवाल और सचिन अग्रवाल हैं। पीड़ित के परिजनों ने बताया कि वो यमुना विहार इलाके में रहते हैं। अग्रवाल परिवार की ब्रह्मपुरी क्षेत्र में बिल्डिंग मैटेरियल की दुकान है। इस परिवार के पड़ोस में फुरकान का मकान है। फुरकान के मकान में आसिफ नाम का व्यक्ति 4 माह से किराए पर रह रहा था।

बताया जा रहा है कि घटना के दिन 55 वर्षीय वीरेंद्र अपने 27 साल के बेटे सचिन के साथ दिल्ली के मायापुरी इलाके में एक विवाह समारोह में शामिल के बाद लौट रहे थे। रात लगभग 12:30 बजे उन्होंने रास्ते में पड़ोसी आरिफ की गाड़ी खड़ी देखी। जब उन्होंने आरिफ से गाड़ी हटाने के लिए कहा तो वो झगड़ने लगा और गालियाँ देने लगा।

परिजनों ने बताया कि वीरेंद्र और सचिन झगड़े के बाद घर चले गए थे। कुछ ही देर में आरिफ ने फोन करके अपने साथियों को झगड़े के लिए बुलाना शुरू कर दिया। इनमें से एक इबले हसन भी शामिल था। इबले हसन अपने एक अन्य साथी के साथ आया और बाद में तीनों अग्रवाल के घर गए। यहाँ पहुँच कर तीनों ने पिस्टल से सचिन और वीरेंद्र पर गोलियाँ बरसा दीं। ये गोलियाँ पीड़ित पिता-पुत्र के हाथों पर लगीं।

हमले में शोरगुल सुन कर आसपास के लोग जमा हुए तो हमलावर भागने की कोशिश करने लगे। मौके पर जमा लोगों ने इबले हसन को पकड़ लिया और पिटाई करके पुलिस को सौंप दिया। हालाँकि, आरिफ और उसका साथी भागने में सफल रहा। नाराज लोगों ने आरिफ की ब्रीजा गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिया। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

इस बीच हमले में घायल पिता-पुत्र वीरेंद्र और सचिन को पटपड़गंज के मैक्स अस्पताल ले जाया गया, यहाँ दोनों का इलाज चल रहा है। पुलिस फरार आरोपित आरिफ और उसके साथी की तलाश कर रही है। दिल्ली पुलिस ने IPC की धारा 307 और 34 और आर्म्स एक्ट की धारा 25 और 27 के तहत मामला दर्ज किया है।

दिल्ली पुलिस ने इसमें किसी तरह के सांप्रदायिक तनाव से इनकार कर दिया है। अतिरिक्त डीसीपी, नॉर्थ ईस्ट संध्या स्वामी ने कहा कि इस घटना में कोई सांप्रदायिक कोण नहीं है। फिर भी, किसी भी तरह की अफवाहें या किसी भी अप्रिय स्थिति को रोकने के लिए क्षेत्र में पुलिस की उपस्थिति बढ़ा दी गई है। 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिंदू लड़की का Video किया वायरल, हिंदुओं पर ही हमला, घर छोड़कर भागे भी हिंदू: यह पाकिस्तान नहीं, झारखंड के एक गाँव में ‘बांग्लादेशी...

हिंदुओं के घरों में तोड़फोड़ का आरोप भाजपा नेताओं ने बांग्लादेशी घुसपैठियों पर लगाया है। बाबू लाल मरांडी ने कहा- झारखंड को तालिबान नहीं बनने देंगे।

अब तक 39 मौतें, स्कूल-कॉलेज-इंटरनेट बंद, सरकारी मीडिया के मुख्यालय पर हमला: ‘आरक्षण’ की आग में जल रहा बांग्लादेश, भारत ने जारी की एडवाइजरी

भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में आरक्षण को लेकर हो रहे प्रदर्शन हिंसक होता जा रहा है। इस प्रदर्शन में अब तक 39 मौतें हो चुकी हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -