नदीम खान तीसरी पत्नी सीमा का गला रेतने के आरोप में गिरफ्तार, सोशल मीडिया की मदद से पुलिस ने ढूँढ़ निकाला

फेसबुक पर पुलिस को नदीम की फ्रेंड लिस्ट में ‘सीमा खान’ दिखी, जिसकी शक्ल घायल सीमा सोनी से मिलती थी, और उसके हाथ में अंगूठियाँ भी वैसे ही थीं, जैसे सीमा सोनी ने पहन रखी थी। वहीं से पुलिस को यकीन हो गया कि नदीम खान का मामले से कोई कनेक्शन है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी में एक और रूह कंपा देने वाले मामले में नदीम खान को पुलिस ने गुरुवार (10 अक्टूबर) को पत्नी सीमा सोनी की हत्या के प्रयास में गिरफ्तार कर लिया। मीडिया खबरों के अनुसार नदीम ने सीमा का गला रेत कर बुधवार रात को उसे शहीद पथ के पास मरा समझकर छोड़ दिया था। संयोगवश न केवल सीमा की मौत घाव से नहीं हुई, बल्कि किसी राहगीर ने पुलिस को सूचित कर उसे सही समय पर अस्पताल भी पहुँचा दिया।

चिट पर लिखा आधा नंबर, पुलिस ने लगाया PermutationCombination  

लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (Senior superintendent of police, SSP) कलानिधि नैथानी ने बताया कि आधी बेहोशी की हालत में भी महिला ने अपना नाम सीमा सोनी एक कागज़ पर लिख कर बता दिया। उसने कागज़ पर एक मोबाइल नंबर भी अंग्रेज़ी के ‘N’ अक्षर के साथ लिखा, जो अंततः नदीम तक पुलिस को ले गया।

नैथानी के मुताबिक सीमा का दिया हुआ नंबर तो गलत निकला, लेकिन पुलिस ने हार नहीं मानी। इस अंदाज़े से कि शायद गलती आखिर के ही 3-4 अंकों में रही होगी, नैथानी ने Permutation-Combination नामक गणित की टेक्नीक लगानी शुरू की, और हर नंबर को WhatsApp, TrueCaller आदि पर चेक किया। इन्हीं में से एक नंबर WhatsApp और TrueCaller पर ‘नदीम खान’ नाम से दिखा, जिससे सीमा का ‘N’ लिखना समझ में आया। इसके बाद फेसबुक पर ‘नदीम खान’ सर्च किए जाने पर एक प्रोफाइल की तस्वीर नंबर की WhatsApp प्रोफाइल पिक्चर से मेल खा गई।

फेसबुक पर सीमा खान?

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

फेसबुक पर पुलिस को नदीम की फ्रेंड लिस्ट में ‘सीमा खान’ दिखी, जिसकी शक्ल घायल सीमा सोनी से मिलती थी, और उसके हाथ में अंगूठियाँ भी वैसे ही थीं, जैसे सीमा सोनी ने पहन रखी थी। वहीं से पुलिस को यकीन हो गया कि नदीम खान का मामले से कोई कनेक्शन है। उसके फेसबुक पर मौजूद एक वैन का नंबर पुलिस ने निकलवाया तो वह एक स्कूल वैन का नंबर निकला, जिसका नदीम चालक था

पैसे की चिक-चिक से तंग आकर किचन के चाकू से किया हमला

उसके घर का पता निकलवा कर जब पुलिस नदीम के घर पहुँची तो देखा आरोपित शहर छोड़ कर अपने पैतृक शहर बलरामपुर निकल भागने की फ़िराक में था, वहीं पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। उसके पास से हमले में इस्तेमाल किचन का चाकू बरामद हुआ, और सीमा का खून उसकी कार में भी मिला। इसके बाद हुई पूछताछ में पूरी बात पता चली।

विभिन्न मीडिया रिपोर्टों में नदीम की कुल पत्नियों की संख्या में अंतर है, लेकिन सीमा के उसकी पहली पत्नी न होने की बात पर सभी सहमत हैं। तो नदीम की दूसरी/तीसरी पत्नी सीमा ने नदीम के साथ रहने के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी थी, और काफ़ी समय से उस पर पैसे देने का दबाव बना रही थी जिस वजह से वह अपनी पहली पत्नी/पत्नियों को पैसा नहीं दे पा रहा था। इसी विवाद से बचने के लिए उसने प्लान बनाकर सीमा को घुमाने के बहाने गाड़ी में बिठाया और शहीद पथ की ओर ले गया।

डीजीपी मुख्यालय के पास उसने सन्नाटा पाकर सीमा का गला रेता, और उसे मरा हुआ समझकर कार से धकेल कर भाग निकला। NBT की खबर के मुताबिक नदीम की बाकी दोनों पत्नियों में से एक नेहा को कैंसर है, और वह सीमा की बहन भी है। इसके बावजूद सीमा उस पर नेहा की मदद न करने, उससे न मिलने का दबाव बना रही थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

मोदी, उद्धव ठाकरे
इस मुलाकात की वजह नहीं बताई गई है। लेकिन, सीएम बनने के बाद दिल्ली की अपनी पहली यात्रा पर उद्धव ऐसे वक्त में आ रहे हैं जब एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के साथ अनबन की खबरें चर्चा में हैं। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक सरगर्मियॉं अचानक से तेज हो गई हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

153,901फैंसलाइक करें
42,179फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: