Thursday, August 18, 2022
Homeदेश-समाजहत्यारों के घर राजस्थान पुलिस का पहरा, कन्हैया लाल के परिवार को कॉन्स्टेबल तक...

हत्यारों के घर राजस्थान पुलिस का पहरा, कन्हैया लाल के परिवार को कॉन्स्टेबल तक नसीब नहीं: रिपोर्ट में दावा, बोलीं यशोदा देवी- पति की हत्या के बाद भी ध्यान नहीं

रिपोर्ट की माने तो रियाज के घर के बाहर भारी पुलिस बल की तैनाती है। घर तक जाने के सभी रास्तों को सील कर दिया गया है। बिना पुलिस की अनुमति के कोई भी रियाज के घर तक नहीं पहुँच सकता है।

क्या कन्हैया लाल की तरह राजस्थान पुलिस उनके परिवार की सुरक्षा को भी गंभीरता से नहीं ले रही है? यह सवाल एक मीडिया रिपोर्ट से खड़ा हुआ है? इसके अनुसार कन्हैया लाल की पत्नी का कहना है कि उनका पूरा परिवार खतरे में है। लेकिन घर के बाहर एक कॉन्स्टेबल तक की तैनाती नहीं है। कन्हैया लाल की मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद ने 28 जून 2022 को गला रेत हत्या कर दी थी।

राजस्थान पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार कन्हैया लाल की पत्नी जसोदा देवी ने मुख्य सचिव उषा देवी से परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाई है। मुख्य सचिव 30 जून 2022 को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ उदयपुर स्थित उनके घर आईं थी। रिपोर्ट के अनुसार उषा देवी को देखते ही कन्हैया लाल की पत्नी भावुक हो गईं और कहा, “मेरा पूरा परिवार खतरे में है। पति की हत्या के बाद भी अब तक किसी का ध्यान हमारी सुरक्षा पर नहीं है। हमारे घर के बाहर एक कॉन्स्टेबल तक नहीं हैं। यदि कोई किसी भी वेश में घर आ जाता है तो हमारा क्या होगा?” इसके बाद मुख्य सचिव ने सुरक्षा का भरोसा दिलाया।

वहीं दैनिक भास्कर की रिपोर्ट की माने तो आरोपित रियाज के आसींद स्थित घर के बाहर राजस्थान पुलिस ने कड़ा पहरा लगा रखा है। रियाज के परिवार के अन्य सदस्यों के घर के बाहर भारी पुलिस बल की तैनाती है। आरोपित के घर तक जाने के सभी रास्तों को सील कर दिया गया है। बिना पुलिस की अनुमति के कोई भी रियाज के घर तक नहीं पहुँच सकता है। रियाज के कुछ रिश्तेदार अपने घरों में ताला लगा कर कहीं और चले गए हैं।

हटाए गए उदयपुर के SP और IG

ताजा जानकारी के मुताबिक अशोक गहलोत के उदयपुर दौरे के बाद उदयपुर के SP मनोज कुमार और IG हिंगलाज दान को राजस्थान सरकार ने हटा दिया है। अब विकास शर्मा को उदयपुर का नया SP और प्रफुल्ल कुमार को वहाँ का IG बनाया गया है। करौली जिले के SP शैलेन्द्र सिंह इंदौलिया को भी हटाया गया है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक उदयपुर की जिला अदालत ने दोनों आरोपितों को 13 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। रियाज और गौस को 30 जून को कड़ी सुरक्षा में अदालत में पेश किया गया था। इस दौरान वकीलों ने दोनों को फाँसी देने के लिए नारेबाजी की। राजस्थान ATS ने दोनों के पास से कत्ल में प्रयोग खंजर बरामद कर लिया है। सुरक्षा के लिहाज से दोनों आरोपितों को अजमेर जेल में शिफ्ट किया गया है। यहाँ उन्हें हाई सिक्योरिटी बैरकों में रखा गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

1 नाव-3 AK 47, कारतूस और विस्फोटक भी: जैसे 26/11 के लिए समंदर से आए पाकिस्तानी आतंकी, वैसे ही इस बार महाराष्ट्र के तट...

डिप्टी सीएम ने जानकारी दी कि अभी तक किसी आतंकी एंगल की पुष्टि नहीं हुई है। केंद्रीय जाँच एजेंसियों को सूचित कर दिया गया है।

रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड बनवा रहा है PFI : पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा

फर्जी दस्तावेज से पीएफआई बनवा रहा है रोहिंग्याओं और बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आधार कार्ड। पटना पुलिस की जाँच में बड़ा खुलासा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
215,081FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe