Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजजिस थाने में एल्विश यादव पर हुई FIR, उसके थानेदार पर गिरी गाज: कमिश्नर...

जिस थाने में एल्विश यादव पर हुई FIR, उसके थानेदार पर गिरी गाज: कमिश्नर ने लाइन हाजिर करने का दिया आदेश, कारण- अपराध पर नहीं लगा पाए अंकुश

एल्विश अपने ऊपर लगे आरोपों पर पहले ही सफाई दे चुके हैं। उन्होंने इन आरोपों को झूठा बताते हुए मानहानि का केस करने की बात कही थी ,वहीं अब इस मामले में नोएडा सेक्टर-49 के थाना प्रभारी पर गाज गिरी है। 

‘बिग बॉस ओटीटी 2’ के विजेता एल्विश यादव इन दिनों सुर्खियों में हैं। एल्विश पर नोएडा में आयोजित एक रेव पार्टी के लिए, कथित तौर पर साँप के जहर की आपूर्ति करने का आरोप लगा लगा था। दरअसल, एक प्रतिबंधित साँप के साथ उनका वीडियो वायरल हुआ था। इसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। लेकिन अब इस मामले में एक और मोड़ आया है। इस FIR में एल्विश यादव का नाम डालने वाले थाना प्रभारी पर एक्शन लिया गया है। 

जहाँ एल्विश अपने ऊपर लगे आरोपों पर पहले ही सफाई दे चुके हैं। उन्होंने इन आरोपों को झूठा बताते हुए मानहानि का केस करने की बात कही थी, वहीं अब इस मामले में नोएडा सेक्टर-49 के थाना प्रभारी पर गाज गिरी है। 

इस कार्रवाई पर अपर आयुक्त (कानून और व्यवस्था) आनंद कुलकर्णी ने कहा कि बढ़ते अपराध पर अंकुश न लगा पाने और विवेचना में लापरवाही बरतने की वजह से थाना प्रभारी पर कार्रवाई की गई है। नोएडा सेक्टर-49 के थाना प्रभारी संदीप चौधरी को लाइन हाजिर किया गया है। 

इस मामले में आगे जानकर देते हुए उन्होंने बताया कि कोटा पुलिस द्वारा नोएडा पुलिस से संपर्क कर एल्विश यादव को पकड़ने की बात कही गई थी। जिसके जवाब में नोएडा पुलिस ने कहा कि एल्विश मामले की अभी जाँच चल रही है, जाँच के बाद ही कार्रवाई की जाएगी।

हालाँकि इसके बाद राजस्थान पुलिस ने एल्विश यादव को छोड़ दिया था वहीं नोएडा पुलिस का कहना है कि एल्विश को न अभी आरोपित बनाया गया है और न ही क्लीन चिट दी गई है। मामले में जाँच जारी है आगे उसके अनुसार ही कार्रवाई होगी। 

वहीं, आज एल्विश यादव ने भी एक पोस्ट कर अपनी बात रखी। जो देखते ही देखते वायरल हो गया। एल्विश यादव ने लिखा, “नाम के साथ बदनामी भी आती है, जलने वाले भी बढ़ते हैं और मैं हैरान नहीं होऊँगा कि आने वाले समय पर मुझपे और भी इल्जाम लगेंगे। मुझे भगवान पर पूरा भरोसा है, श्री राम जी पर भरोसा है। ये टाइम भी जल्दी बीतेगा।'”

गौरतलब है कि इससे पहले शनिवार (4 नवंबर, 2023) को राजस्थान पुलिस द्वारा एल्विश यादव को हिरासत में लिए जाने के कुछ ही देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया था। मीडिया में बताया गया था कि एक चेकपॉइंट के पास उनकी कार को रोका गया था। उनकी पहचान ज़ाहिर होने के बाद कोटा पुलिस ने हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की थी। फ़िलहाल, एल्विश यादव अपने अगले प्रोजेक्ट्स की शूटिंग और प्रमोशन से जुड़ी गतिविधियों में व्यस्त हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्र सरकार की नौकरी के मजे? अब 15 मिनट से ज्यादा की देरी पर आधे दिन की छुट्टी: ऑफिस टाइमिंग को लेकर कड़ा फैसला

भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने आदेश जारी किया है कि जिन दफ्तरों के खुलने का समय 9 बजे है, वहाँ अधिकतम 15 मिनट का ही ग्रेस पीरियड मिलेगा।

ईदगाह का गेट निकाले जाने उग्र हुई भीड़ ने जला डाला दुकान और ट्रैक्टर, पुलिस पर भी पत्थरबाजी: जोधपुर में धारा-144 लागू, 40 आरोपित...

ईदगाह के पीछे की दीवार से 2 दरवाजों को निकाले जाने का काम शुरू किया गया था। पुलिस ने बताया कि बस्ती में रहने वाले कुछ लोगों ने इसका विरोध किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -