Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाजराजस्थान पुलिस ने एल्विश यादव को छोड़ा, कार रोक कर की थी पूछताछ: नोएडा...

राजस्थान पुलिस ने एल्विश यादव को छोड़ा, कार रोक कर की थी पूछताछ: नोएडा पुलिस से बातचीत के बाद जाने दिया

बताया जा रहा है कि कोटा पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेने के बाद नोएडा पुलिस से संपर्क किया और इसकी सूचना दी। हालाँकि...

राजस्थान पुलिस ने एल्विश यादव को हिरासत में लिए जाने के बाद उनसे पूछताछ की, अब उन्हें छोड़ दिया गया है। मीडिया में उनकी गिरफ़्तारी की खबर सामने आई, उसके कुछ ही देर बाद सूचना आई कि उन्हें छोड़ दिया गया है। राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (DGP) उमेश मिश्रा ने उन्हें हिरासत में लिए जाने की पुष्टि की थी। मीडिया में बताया गया कि एक चेकपॉइंट के पास उनकी कार को रोका गया था। उनकी पहचान ज़ाहिर होने के बाद कोटा पुलिस ने हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की।

फिर उन्हें छोड़ दिया गया। बताया जा रहा है कि कोटा पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेने के बाद नोएडा पुलिस से संपर्क किया और इसकी सूचना दी। हालाँकि, यूपी पुलिस ने स्पष्ट किया कि वो फ़िलहाल वॉन्टेड नहीं हैं और फरार नहीं चल रहे, जिसके बाद उन्हें छोड़ दिया गया। दोनों राज्यों की पुलिस ने आपस में बातचीत की, फिर उन्हें छोड़ दिया गया। एल्विश यादव फ़िलहाल अपने अगले प्रोजेक्ट्स की शूटिंग और प्रमोशन से जुड़े गतिविधियों में व्यस्त हैं।

राजस्थान पुलिस ने बताया कि राजस्थान पुलिस ने चुनाव के मद्देनज़र रखते हुए नाकाबंदी लगाई थी और इसी दौरान कार में बैठे व्यक्ति व्यक्ति की पहचान एल्विश यादव के रूप में हुई, तभी उन्हें रोका गया था। नोएडा पुलिस से बातचीत करने के बाद उन्हें रोकने की ज़रूरत नहीं महसूस हुई और उन्हें छोड़ दिया गया।

एल्विश यादव की सोशल मीडिया पर बहुत बड़ी फैन फॉलोविंग है। जहाँ यूट्यूब पर उनके 1.46 करोड़ सब्सक्राइबर्स हैं, वहीं इंस्टाग्राम पर उनके पेज को 1.56 करोड़ लोगों ने लाइक कर रखा है। वहीं फेसबुक पर भी एल्विश यादव के 45 लाख फॉलोवर्स हैं। ‘X’ (पूर्व में ट्विटर) पर भी अक्सर उनके सपोर्ट में उनके फैंस ट्रेंड चलते रहते हैं, जहाँ उनके हैंडल पर 7.12 लाख फॉलोवर्स हैं। अब उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। साँपों के साथ उनके कुछ वीडियो भी सामने आए थे।

हालाँकि, उन्होंने एक स्पष्टीकरण जारी कर के कहा था कि ये सभी वीडियो 5-6 महीने पुराने हैं। उनका कहना है कि गानों की शूटिंग के लिए इनका इस्तेमाल किया गया था। मीडिया में यहाँ तक दावा किया गया था कि वो भागने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। कोटा ग्रामीण स्थित रामगंज सुकेत थाने की पुलिस ने ये कार्रवाई की थी। रेव पार्टी और साँपों के ज़हर से नशे के मामले में नोएडा पुलिस उनकी तलाश कर रही थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान पर ‘मत देखो’, इस्लामी कुरीति पर सवाल उठाना ‘आपत्तिजनक’: PK और ‘हमारे बारह’ को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दोहरा रवैया...

राधा व दुर्गा के साथ 'सेक्सी' शब्द जोड़ने वालों और भगवान शिव को बाथरूम में छिपते हुए दिखाने वालों पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कार्रवाई की थी? इस्लामी कुरीति दिखाने पर भड़क गया सर्वोच्च न्यायालय, हिन्दू धर्म के अपमान पर चूँ तक नहीं किया जाता।

‘इंशाअल्लाह, राम मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन चुकी है’: धमकी के बाद अयोध्या में अलर्ट जारी कर कड़ी की गई सुरक्षा, 2005 में...

"बाबरी मस्जिद की जगह तुम्हारा मंदिर बना हुआ है और वहाँ हमारे 3 साथी शहीद हुए हैं। इंशाअल्लाह, इस मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन गई है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -