Tuesday, June 18, 2024
Homeराजनीति'जल्लादों ने वामपंथी तरीके से की हत्याएँ, ये किसान नहीं राजनीतिक दलों के लोग'...

‘जल्लादों ने वामपंथी तरीके से की हत्याएँ, ये किसान नहीं राजनीतिक दलों के लोग’ – लखीमपुर खीरी हिंसा पर भारतीय किसान संघ

"कानून हाथ में लेना, सरेआम हत्याएँ कराना... ऐसा लगता है जैसे प्रोफेशनल लोगों ने, जल्लादों ने ये कार्य किया हो। इस घटना की जितनी निंदा की जाए, कम है। इस प्रकार के कृत्यों में लिप्त लोगों को कठोरतम दंड दिया जाना चाहिए।"

देश के सबसे बड़े किसान संगठनों में से एक ‘भारतीय किसान संघ’ ने लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि इसमें लिप्त लोग किसान नहीं थे। ‘भारतीय किसान संघ’ ने स्पष्ट कहा है कि ये विभिन्न राजनीतिक दलों के लोग थे, जिन्होंने वामपंथी तरीकों से इस घटना को अंजाम दिया। संगठन ने कहा कि जिस तरह से लाठी-डंडों से पीट-पीट कर लोगों की निर्मम हत्या की गई, ऐसा काम किसान नहीं कर सकते।

‘भारतीय किसान संगठन’ ने कहा, “कानून हाथ में लेना, सरेआम हत्याएँ कराना… ऐसा लगता है जैसे प्रोफेशनल लोगों ने, जल्लादों ने ये कार्य किया हो। इस घटना की जितनी निंदा की जाए, कम है। इस प्रकार के कृत्यों में लिप्त लोगों को कठोरतम दंड दिया जाना चाहिए। हम माँग करते हैं कि इस घटना की निष्पक्ष जाँच करा के जल्द से जल्द मृतकों के परिजनों को न्याय मिले। हम मृतकों के परिजनों के साथ संवेदना प्रकट करते हैं।”

लखीमपुर खीरी हिंसा पर ‘भारतीय किसान संघ’ का बयान

वहीं योगी आदित्यनाथ की सरकार ने 20 घंटों के भीतर पीड़ितों से बात कर के स्थिति को संभाल लिया, जिससे यहाँ गिद्धदृष्टि लगाए नेताओं को भी निराशा हाथ लगी है। बड़े पैमाने पर प्रदर्शन की योजना थी और कई विपक्षी नेताओं समेत एक्टिविस्ट्स भी यहाँ पहुँच रहे थे, लेकिन प्रशासन ने स्थिति संभाल लिया। नेताओं को यहाँ आने से रोका गया, ताकि तनाव न बढ़े। FIR भी की गई। मृतकों के आश्रितों के लिए मुआवजे की घोषणा हुई।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आदेश दिया है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में RAF और SSB की दो-दो कंपनियों की तैनाती 6 अक्टूबर तक रहेगी। किसान नेताओं के साथ प्रशासन ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के समझौते का ऐलान किया। दिल्ली-NCR की सीमाएँ पहले ही बंद कर दी गई थीं। सपा समर्थकों ने राज्य भर में हिंसा की, लेकिन लखीमपुर खीरी में उन्हें टपने नहीं दिया गया। अभी भी वरिष्ठ अधिकारी वहाँ मौजूद हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजा बेटे पर हत्या करवाने का आरोप, माँ बिहार पुलिस को हड़का रही: कहा- कोई चोर चिल्लर है जो भाग जाएगा… RJD नेता बीमा...

पूर्णिया की राजद नेता बीमा भारती के पटना स्थित आवास पर बिहार पुलिस ने दबिश दी है। पुलिस को उनके बेटे राजा की हत्या के मामले में तलाश है।

घर लूटा, दुकानें फूँकी, हत्या की धमकी… परिवार समेत पलायन कर BJP दफ्तर में रहने को मजबूर कार्यकर्ता, रिपोर्ट में बताया – TMC के...

किसी का घर लूट लिया गया, किसी की दुकान में ताला जड़ दिया गया, तो कहीं भाजपा का दफ्तर ही फूँक दिया गया। पलायन को मजबूर कार्यकर्ता पार्टी के दफ्तरों में बिता रहे रात।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -