Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजRSS नेता को तलवार से काट डाला था, केरल में PFI का जिला सचिव...

RSS नेता को तलवार से काट डाला था, केरल में PFI का जिला सचिव अबू बकर सिद्दीकी गिरफ्तार: अब तक 27 धरे जा चुके, इनमें 9 SDPI के

गिरफ्तार अबू बकर सिद्दीकी पलक्कड़ में PFI का जिला सचिव है। उस पर न सिर्फ हत्या की साजिश रचने, बल्कि हत्यारों को भड़काने का भी आरोप है।

केरल के पलक्कड़ में शनिवार (16 अप्रैल, 2022) को हुई RSS नेता श्रीनिवासन की हत्या के मामले में पुलिस ने PFI (पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया) नेता को गिरफ्तार किया है। आरोपित का नाम अबू बकर सिद्दीकी है। अब तक इस हत्याकांड में शामिल कुल 27 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें PFI के अलावा उसकी स्टूडेंट विंग SDPI से जुड़े 9 आरोपित भी शामिल हैं। पुलिस का कहना है कि सभी आरोपित नेताओं को टारगेट करने की सूची तैयार कर रहे थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गिरफ्तार अबू बकर सिद्दीकी पलक्कड़ में PFI का जिला सचिव है। उस पर न सिर्फ हत्या की साजिश रचने, बल्कि हत्यारों को भड़काने का भी आरोप है। हत्याकांड में शामिल अन्य आरोपितों ने भी पुलिस से हुई पूछताछ में अबू बकर की संलिप्तता को स्वीकार किया है। पहले इस हत्याकांड को पलक्कड़ में ही हुई जुबेर नामक व्यक्ति की हत्या का बदला माना जा रहा था। जुबेर को ईलापुल्ली इलाके में तब मार दिया गया था, जब वो नमाज़ पढ़ कर लौट रहा था।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, अपने जिला सचिव की गिरफ्तारी का PFI ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिख कर विरोध किया है। PFI ने इसे राजनीतिक दुश्मनी बताते हुए कहा है कि कोझिकोड में हुई उनकी रैली में भीड़ देख कर वामपंथी सरकार घबरा गई है और इसी के चलते अब संगठन के सदस्यों को गिरफ्तार किया जा रहा है। PFI ने अबू बकर सिद्दीकी पर लगे आरोपों को झूठा बताया है।

गौरतलब है कि RSS कार्यकर्ता श्रीनिवासन संगठन के शारीरिक शिक्षण प्रमुख के पद पर यह चुके थे। एक दुकान के पास उनकी हत्या हुई। तीन बाइक पर आए पाँच बदमाशों ने उन्हें मार डाला। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया था कि श्रीनिवासन पर तलवार के कई हमले हुए थे। उन्हें एक नजदीकी प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -