Saturday, July 2, 2022
Homeदेश-समाजजजों की चड्ढी भगवा, इसलिए गर्म: PFI नेता; हिंदू-विरोधी नारे वाले बच्चे के अब्बा...

जजों की चड्ढी भगवा, इसलिए गर्म: PFI नेता; हिंदू-विरोधी नारे वाले बच्चे के अब्बा को फक्र, बोला- खुद सीखा, कई बार लगाया

इस मामले में अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उन्हें रिमांड पर लिया गया है। इस रैली में शामिल अन्य लोगों को हिरासत में लेने के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है, ताकि उनसे पूछताछ की जा सके। इस मामले में पहली गिरफ्तारी बच्चे को कंधे पर उठाने वाले अनस की हुई थी।

केरल (Kerala) में चरमपंथी इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) ने न्यायाधीशों को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी है। PFI के नेता याहिया तंगत ने कहा कि न्यायाधीशों का इनरवियर (जाँघिया) भगवा है, वे इसलिए वे रैली के नारे सुनकर चौंक रहे हैं। वहीं, रैली में आपत्तिजनक नारे लगाने वाले नाबालिग लड़के के अब्बा ने अपने बेटे का बचाव किया है। पुलिस ने उसके अब्बा को हिरासत में ले लिया है।

PFI नेता तंगल ने अलाप्पुझा रैली में कहा, “अदालतें अब आसानी से चौंक रही हैं। हमारे नारे सुनकर हाईकोर्ट के न्यायाधीश चौंक रहे हैं। इसका कारण यह है कि उनका इनरवियर भगवा है। चूँकि, यह भगवा है, इसलिए वे बहुत तेजी से गर्म हो जाते हैं। आपको जलन महसूस होगी और यह आपको परेशान करेगा।”

दरअसल, केरल हाईकोर्ट ने 21 मई को अलाप्पुझा में हुई रैली में भड़काऊ नारेबाजी को लेकर PFI के खिलाफ उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। इससे पहले PFI के प्रदेश अध्यक्ष सीपी मुहम्मद बशीर ने को कहा कि यह नारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के खिलाफ है।

अलाप्पुझा में PFI की इस रैली का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें एक नाबालिग लड़का नारा लगा रहा है, “हिंदुओं को अपने अंतिम संस्कार के लिए चावल रखना चाहिए और ईसाइयों को धूप रखनी चाहिए। यम (मृत्यु के देवता) आपके घर आएँगे। यदि आप सम्मानपूर्वक रहते हैं तो आप हमारे स्थान पर रह सकते हैं। अगर नहीं, तो हम नहीं जानते कि क्या होगा।”

इस तरह के आपत्तिजनक नारे को केरल में रहने वाले हिंदुओं और ईसाइयों को सीधे तौर पर धमकी के रूप में देखा गया। चरमपंथी संगठन PFI ने चेतावनी हिंदू-ईसाइयों को धमकाते हुए कहा था कि अगर वे रास्ते पर नहीं आते हैं तो उन्हें मौत की सजा दी जाएगी।

इस मामले इस नाबालिग लड़के के अब्बा को पुलिस ने केरल स्थित उसके घर पल्लुरथी से हिरासत में ले लिया है। इस दौरान PFI के कार्यकर्ताओं ने भारी विरोध प्रदर्शन किया। दरअसल, द्वारा 21 मई को आयोजित ‘गणतंत्र बचाओ’ रैली में लड़का एराट्टुपेट्टा निवासी अनस के व्यक्ति के कंधे पर बैठकर आपत्तिजनक नारे लगा रहा था। इस वीडियो जब सामने आया तो पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया।

अपने बेटे का नारे का बचाव करते हुए उसके अब्बा ने कहा कि यह नारा किसी ने उसे सिखाया नहीं था, इस तरह के कार्यक्रमों में भाग लेते हुए उसने खुद सीखा था। उसके अब्बा का कहना है कि उसका बेटा पहली बार ऐसा नारा नहीं लगा रहा है। इससे पहले भी उसने नारे लगाए हैं और इसके कई वीडियो यूट्यूब पर मौजूद हैं।

हिरासत में लिए जाने से पहले लड़के के अब्बान ने कहा, “हम PFI के कार्यक्रमों में हिस्सा लेते रहे हैं। जब नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में भाग लिया था, तब उसने यह नारा सिखा था।” बच्चे को भी हिरासत में ले लिया है और जल्द ही उसे काउंसलिंग के लिए भेजा जाएगा।

इस मामले में अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उन्हें रिमांड पर लिया गया है। इस रैली में शामिल अन्य लोगों को हिरासत में लेने के लिए पुलिस लगातार दबिश दे रही है, ताकि उनसे पूछताछ की जा सके। इस मामले में पहली गिरफ्तारी बच्चे को कंधे पर उठाने वाले अनस की हुई थी। वहीं, PFI के अलाप्पुझा सचिव मुजीब और नवास भी को भी आरोपित बनाया गया है।

इस मामले में आरोपितों के खिलाफ धारा 153A (धर्म के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता पैदा करना), 295A (किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्य), 505(1)(B) (सार्वजनिक शांति भंग करना), 505(1) (C), 505 (2) और 506 (आपराधिक धमकी) और केरल पुलिस अधिनियम की धारा 120 (O) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe