Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजमिशनरी स्कूल प्रिंसिपल ने लाइब्रेरियन पर डाला धर्मांतरण का दबाव: लालच देकर सैलरी रोकी...

मिशनरी स्कूल प्रिंसिपल ने लाइब्रेरियन पर डाला धर्मांतरण का दबाव: लालच देकर सैलरी रोकी फिर गालियाँ देकर नौकरी से निकाला

जब स्कूल प्रिंसिपल सिस्टर भाग्या को रूबी सिंह की आर्थिक स्थिति के बारे में पता चला, तो उसने उस पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डालना शुरू कर दिया।

मध्य प्रदेश में एक ईसाई मिशनरी स्कूल के प्रिंसिपल पर धर्मांतरण विरोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है। प्रिंसिपल पर आरोप है कि उसने स्कूल की एक लाइब्रेरियन रूबी सिंह की कमजोर आर्थिक पृष्ठभूमि को देखकर उनकी सैलरी रोक दी और उन पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डाला था। फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। खजुराहो थाना प्रभारी संदीप खरे ने इसकी जानकारी दी

मामला खजुराहो के विद्याधर कॉलोनी में सिथित सेक्रेट हार्ट कॉन्वेंट स्कूल का है। मिशनरी स्कूल के प्रिंसिपल के खिलाफ लाइब्रेरियन द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद नए धर्मांतरण विरोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है। महिला ने मंगलवार (फरवरी 23, 2021) को मध्य प्रदेश फ्रीडम ऑफ रिलीजन ऑर्डिनेंस 2020 के तहत शिकायत दर्ज करवाई है। लाइब्रेरियन रूबी सिंह ने आरोप लगाया कि आरोपित प्रिंसिपल ने उन्हें परेशान किया और इस बात के लिए दबाव बनाया कि वह अपना धर्म परिवर्तित कर ले

प्रिंसिपल की पहचान सिस्टर भाग्या के रूप में की गई है। वह खजुराहो के एक कॉन्वेंट स्कूल की प्रिंसिपल है और उस पर स्कूल टीचर रूबी सिंह ने उत्पीड़न का आरोप लगाया है। थाना प्रभारी संदीप खरे ने बताया कि रूबी सिंह पिछले चार साल से कॉन्टैक्ट पर स्कूल में काम कर रही थी। वह एक निम्न मध्यमवर्गीय परिवार से हैं। जब स्कूल प्रिंसिपल सिस्टर भाग्या को रूबी सिंह की आर्थिक स्थिति के बारे में पता चला, तो उसने उस पर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डालना शुरू कर दिया।

धर्मांतरण से मना करने पर रोक दी सैलरी

संदीप खरे ने बताया कि प्रिंसिपल ने लाइब्रेरियन रूबी की आर्थिक स्थिति का लाभ बताते हुए उस पर दबाव डाला और उसके धर्म का अपमान किया। प्रिंसिपल ने महिला को उसकी सैलरी बढ़ाने और नौकरी नियमित करने के बहाने लालच देना शुरू कर दिया। जब सिंह ने अपना धर्म बदलने से इनकार कर दिया, तो आरोपित ने कथित रूप से उसका वेतन रोक दिया और उन्हें नौकरी से निकाल दिया।

खजुराहो थाने में रूबी सिंह द्वारा दिए गए शिकायती आवेदन में कहा गया है कि वह स्कूल में चार सालों से कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रही है। अक्टूबर 2019 से अप्रैल 2020 तक उन्हें स्कूल से वेतन प्राप्त नहीं हुआ है। पति बीमार रहते हैं, उनका इलाज कराना जरूरी है।

सैलरी बढ़ाने का दिया लालच

इस पर जब पीड़िता ने स्कूल प्राचार्य सिस्टर भाग्या से वेतन की माँग की तो उन्होंने कहा कि धर्मांतरण करो तो हम तुम्हारा वेतन दे देंगे। वेतन बढ़ा भी देंगे और नौकरी को नियमित भी कर देंगे। इसके साथ ही प्राचार्य सिस्टर भाग्या द्वारा जबरन घर पर झाड़ू-पोंछा का काम भी करवाया। प्रिंसिपल ने रूबी को अपशब्द भी कहे। लगातार मानसिक रूप से प्रताड़‍ित कर रूबी सिंह को नौकरी से भी निकाल दिया।

हिंदूवादी संगठनों के हस्तक्षेप पर दर्ज किया गया मामला

स्कूल की प्राचार्य सिस्टर भाग्या द्वारा लगातार प्रताडि़त किए जाने और नौकरी से निकाले जाने पर रूबी सिंह ने इस संबंध में जानकारी खजुराहो के विभिन्न हिन्दूवादी नेताओं को दी। इस पर मामला थाने पहुँच गया है। रूबी सिंह द्वारा दिए गए शिकायती आवेदन पर सेक्रेड हार्ट स्कूल की प्राचार्य सिस्टर भाग्य के खिलाफ मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 3 व 5 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। इस संबंध मे खजुराहो थाना प्रभारी संदीप खरे का कहना है कि शिकायती आवेदन पर मामाला विवेचना में लिया गया है।

वहीं मध्य प्रदेश कैथोलिक चर्च के जनसंपर्क अधिकारी मारिया स्टीफन का कहना है कि मिशनरी स्कूल को निशाना बनाया जा रहा है और शिक्षिका को ही दोषी बता दिया। उन्होंने कहा, “माता-पिता और छात्रों की शिकायत मिलने के बाद शिक्षिका को बर्खास्त कर दिया गया था। उसे चेतावनी दी गई थी, लेकिन उसके पढ़ाने के तरीके में सुधार नहीं किया गया।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योगी सरकार के एक्शन के डर से 3 कुख्यात गैंगस्टर मोमीन, इन्तजार और मंगता हाथ उठाकर पहुँचे थाने, किया आत्मसमर्पण

मामला यूपी के शामली जिले का है। सभी गैंगस्टर्स ने कहा कि वो अपराध से तौबा कर भविष्य में अपराध न करने की कसम खाते हैं।

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,018FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe