Friday, August 6, 2021
Homeदेश-समाजराहत इंदौरी ने राशन के लिए लगाई गुहार तो मदद के लिए आगे आए...

राहत इंदौरी ने राशन के लिए लगाई गुहार तो मदद के लिए आगे आए तजिंदर बग्गा: शायर ने कहा- बहुत शुक्रिया आपका

एक व्यक्ति ने ये भी पूछा कि राहत इंदौरी तो ख़ुद सक्षम हैं, वो ऐसे लोगों की मदद कर सकते हैं। इस पर इंदौरी ने कहा कि वो सक्षम तो हैं लेकिन लॉकडाउन की वजह से पीड़ितों तक पहुँच नहीं पा रहे हैं, इसीलिए उन्होंने जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई है।

प्रसिद्ध शायर डॉक्टर राहत इंदौरी अक्सर अपने मोदी-विरोधी रुख के कारण जाने जाते हैं। शायद ही ऐसा कोई कार्यक्रम हो, जहाँ वो ‘किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है’ या ‘तेरी जुबान कतरना बहुत ज़रूरी है’ जैसे शेर न पढ़ते हों। इधर जब उन्हें अपने एक परिचित तक मदद पहुँचानी थी तो उन्होंने दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा से गुहार लगाईं, जिन्होंने उनके निवेदन को न सिर्फ़ सहर्ष स्वीकार किया बल्कि इंदौर के विधायक रमेश मेंदोला से बात कर के मदद सुनिश्चित किया। गदगद इंदौरी ने उन्हें धन्यवाद भी दिया है।

राहत इंदौरी ने की अपील

हुआ यूँ की राहत इंदौरी ने ट्वीट किया कि उनके पास सचिन कोडिया और विजय चौरसिया का फोन आया है। ये दोनों इंदौर स्थित शांतिनाथ पुरी के हवा बंगल में रहते हैं, जो साईं मंदिर के पास है। ये दोनों वहाँ परिवार सहित रहते हैं। इंदौरी ने उन दोनों का नंबर भी ट्वीट किया और मध्य प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष सुदर्शन गुप्ता को टैग किया। राहत इंदौरी ने बताया कि ये दोनों ही पीड़ित व उनका परिवार काफ़ी परेशान है। परिवार में बच्चे भी हैं और राशन उपलब्ध नहीं है। उन्होंने राशन उपलब्ध कराने की गुहार लगाई।

तजिंदर बग्गा ने जैसे ही इस ट्वीट को देखा, वो हरकत में आ गए। उन्होंने इंदौर के विधायक रमेश मेंदोला को टैग करते हुए राहत इंदौरी की मदद करने का निवेदन किया। रमेश के एक सहयोगी ने तुरंत पीड़ित परिवार के फोन नंबर पर कॉल कर के उनसे बातचीत की और फिर उन्हें उचित मात्रा में राशन उपलब्ध कराया। उन्होंने बातचीत का स्क्रीनशॉट भी ट्वीट किया, जिसमें दिख रहा है कि 1:15 मिनट तक पीड़ित से बातचीत हुई। इसके बाद राहत इंदौरी ने दोनों नेताओं को टैग कर के उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने लिखा- ‘बहुत-बहुत शुक्रिया आपका।

बीच में एक व्यक्ति ने ये भी पूछा कि राहत इंदौरी तो ख़ुद सक्षम हैं, वो ऐसे लोगों की मदद कर सकते हैं। इस पर इंदौरी ने कहा कि वो सक्षम तो हैं लेकिन लॉकडाउन की वजह से पीड़ितों तक पहुँच नहीं पा रहे हैं, इसीलिए उन्होंने जनप्रतिनिधियों से गुहार लगाई है। बता दें कि ट्विटर पर सक्रिय तजिंदर बग्गा न सिर्फ़ सपने क्षेत्र में लोगों तक मदद पहुँचा रहे हैं बल्कि वो देश भर में जनप्रतिनिधियों और भाजपा कार्यकर्ताओं से सम्पर्क कर के पीड़ितों की मदद कर रहे हैं। अब तक उन्होंने सैकड़ों ऐसे लोगों की मदद की है। उन्होंने दिल्ली दंगों के बाद भी पीड़ितों की मदद की थी।

बग्गा ने दिल्ली के हरि नगर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था लेकिन उन्हें हार मिली थी। हारने के बावजूद उन्होंने वादा किया था कि वो अपने ‘घोषणापत्र’ में लिखी बातों को पूरा करेंगे। इसके बाद लोगों ने उनकी जम कर सराहना की थी। कोरोना आपदा के बीच लगातार लोगों की मदद में लगे तजिंदर बग्गा की विपक्ष के नेतागण भी सराहना कर रहे हैं। सभी उन्हें टैग कर के अपनी समस्याएँ बताते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,145FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe