Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजनमाज पढ़ने के लिए मस्जिद गए थे रिटायर SSP, आतंकियों ने बरसा दीं गोलियाँ:...

नमाज पढ़ने के लिए मस्जिद गए थे रिटायर SSP, आतंकियों ने बरसा दीं गोलियाँ: मौत के बाद जम्मू-कश्मीर में जगह-जगह तलाशी

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही इस्लामी आतंकी और उसके आका पाकिस्तान में छटपटाहट है। वे किसी भी हाल में प्रदेश की शांति व्यवस्था को बिगाड़ना चाहते हैं। सेना के काफिले पर हमले के दो दिन बार आतंकियों ने अब एक रिटार्यड पुलिस अधिकारी को निशाना बनाया है। वे नजदीकी मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए गए हुए थे।

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही इस्लामी आतंकी और उसके आका पाकिस्तान में छटपटाहट है। वे किसी भी हाल में प्रदेश की शांति व्यवस्था को बिगाड़ना चाहते हैं। सेना के काफिले पर हमले के दो दिन बार आतंकियों ने अब एक रिटार्यड पुलिस अधिकारी को निशाना बनाया है। वे नजदीकी मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए गए हुए थे।

मामला बारामूला के गांटमूला शीरी बारामूला इलाके का है। कहा जा रहा है कि मोहम्मद शफी मीर नाम के रिटायर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मस्जिद में नमाज पढ़ (कुछ मीडिया रिपोर्ट में अजान दे रहे) थे तो आतंकियों ने उन पर फायरिंग कर दी। गोली लगते ही वे गिर पड़े। उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया है कि पूरे इलाके को घेर लिया गया है और स्थानीय लोगों से इस इलाके से दूर रहने को कहा गया है। पुलिस ने यह भी कहा कि मामले की जाँच की जा रही है और हत्या को अंजाम देने वालों के बारे पता लगा रही है। सुरक्षा एजेंसियों को सूत्रों से पता चला है कि हत्या को अंजाम देने के बाद आतंकी बाज जंगल में छिपे हुए हैं।

बता दें कि आतंकियों ने ऐसे समय में हमला किया है, जब पुँछ में सेना आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चला रही है। जम्मू-कश्मीर के पुँछ जिले में गुरुवार (21 दिसंबर 2023) को हथियारों से लैस आतंकवादियों ने सेना के दो वाहनों पर घात लगाकर हमला कर दिया था। इस हमले में 4 सैनिक बलिदान हो गए थे। इनमें से दो जवानों के शव क्षत-विक्षत मिले थे।

बता दें कि BSF के एक वरिष्ठ अधिकारी ने 16 दिसंबर 2023 को इंटेलिजेंस के हवाले से कहा था कि पाकिस्तानी सीमा में 250 से 300 आतंकी घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हैं। अधिकारी ने बताया था कि सुरक्षाबलों को अलर्ट कर दिया गया है और सीमा पार से किसी भी तरह की घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दी जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के बाहर ‘सर तन से जुदा’ की गूँज के 11 दिन बाद उदयपुर में काट दिया गया था कन्हैयालाल का गला, 2...

राजस्थान के अजमेर दरगाह के सामने 'सर तन से जुदा' के नारे लगाने वाले खादिम मौलवी गौहर चिश्ती सहित छह आरोपितों को कोर्ट ने बरी कर दिया है।

जिस किले में प्रवेश करने से शिवाजी को रोक नहीं पाई मसूद की फौज, उस विशालगढ़ में बढ़ रहा दरगाह: काटे जा रहे जानवर-156...

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में स्थित विशालगढ़ किला में लगातार अतिक्रमण बढ़ रहा है। यहाँ स्थित एक दरगाह के पास कई अवैध दुकानें बन गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -