Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजसलमान खान ड्रग्‍स लेता है, शाहरुख का बेटा ड्रग्‍स के कारण जेल गया... एक्ट्रेस...

सलमान खान ड्रग्‍स लेता है, शाहरुख का बेटा ड्रग्‍स के कारण जेल गया… एक्ट्रेस लोग का तो भगवान ही मालिक: बाबा रामदेव

“जिन्‍ना दारू पीता था, मर गया, अच्‍छा हुआ... इस्लाम में अगर लोगों ने दारू छोड़ दी तो बीड़ी, सिगरेट, तंबाकू, गुटखा और यहाँ तक की ड्रग्स लेने लग गए।"

बॉलीवुड अक्‍सर ड्रग्‍स को लेकर विवादों में रहता है। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से बॉलीवुड का ड्रग्‍स कनेक्‍शन आम जनता के सामने आया और सितारों को लेकर लोगों का मोहभंग होना शुरू हुआ। योग गुरु बाबा रामदेव भी बॉलीवुड में ड्रग्‍स के इस्‍तेमाल का लगातार विरोध करते रहे हैं। इस बार उन्‍होंने ड्रग्‍स को लेकर तीनों खानों (सलमान, शाहरुख, आमिर) पर निशाना साधा है।

योग गुरु बाबा रामदेव शनिवार (15 अक्टूबर 2022) को मुरादाबाद में आर्यसमाज के एक कार्यक्रम आर्यवीर और वीरांगना सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने पहुँचे थे। रिपोर्ट के मुताबिक, स्‍वामी रामदेव ने सम्‍मेलन में कहा, “शाहरूख खान का बेटा ड्रग्स लेने के आरोप में पकड़ा गया और जेल भी गया। सलमान भी ड्रग्स लेता है। आमिर ड्रग्स लेता है या नहीं, यह पता नहीं। पूरा बॉलीवुड आज ड्रग्स की चपेट में है। एक्ट्रेसेस का तो भगवान ही मालिक है।”

स्‍वामी रामदेव ने मंच से देश को नशामुक्‍त बनाने के लिए लोगों को जागरूक करने का आहवान किया। योगगुरु ने लोगों से आर्य समाज के मूल्‍यों को अपनाने के लिए भी कहा। स्‍वामी रामदेव ने केवल बॉलीवुड (ramdev target salman for drugs) पर ही निशाना नहीं साधा बल्कि पाकिस्‍तान के जनक मोहम्‍मद अली जिन्‍ना को भी नशा करने के लिए आड़े हाथों लिया ।

बाबा रामदेव ने जिन्‍ना पर कहा, “जिन्‍ना दारू पीता था, मर गया, अच्‍छा हुआ।”

योग गुरु ने इस्‍लाम में नशे को लेकर फैली कुरीति पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इस्लाम में दारू पीने वाले को नापाक कहते हैं फिर हम तो ऋषियों के वंशज हैं। हमें सिगरेट-दारू हर बुरी आदत से परहेज करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस्लाम में अगर लोगों ने दारू छोड़ दी तो बीड़ी, सिगरेट, तंबाकू, गुटखा और यहाँ तक की ड्रग्स लेने लग गए। आज एकमात्र कोई पवित्र समाज है, तो वो आर्यसमाज है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -