Monday, July 26, 2021
Homeदेश-समाजमस्जिद में छिपा था शाहीन बाग़ का सरगना शरजील इमाम, चाचा ने कहा- दिल्ली...

मस्जिद में छिपा था शाहीन बाग़ का सरगना शरजील इमाम, चाचा ने कहा- दिल्ली चुनाव के कारण फँसाया गया

शरजील की तलाश 6 राज्यों की पुलिस कर रही थी- बिहार, मणिपुर, असम, अरुणाचल प्रदेश, दिल्ली और उत्तर प्रदेश। महात्मा गाँधी को सबसे बड़ा फासिस्ट नेता बताने वाले शरजील को फिलहाल जहानाबाद थाने में रखा गया है। शरजील इमाम की जहानाबाद कोर्ट में पेशी होगी। फिर ट्रांजिट रिमांड के बाद दिल्ली पुलिस उसे ले जाएगी।

शाहीन बाग़ उपद्रव के मुख्य साज़िशकर्ता शरजील इमाम को जहानाबाद से गिरफ़्तार किया गया। वहाँ उनके कुछ राजनीतिक कनेक्शन भी सामने आए हैं। उसके पिता अकबर इमाम तो नीतीश कुमार की पार्टी जदयू से चुनाव भी लड़ चुके हैं। उसका भाई पूर्व सांसद अरुण कुमार का क़रीबी है। उसके भाई से पूछताछ के बाद पुलिस को कुछ अहम सुराग मिले, जिसके बाद ये कार्रवाई की गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्पष्ट कर दिया है कि देश के ख़िलाफ़ बात करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और इस मामले में कोर्ट अपना काम करेगा। राजद प्रवक्ता भाई वीरेंदर ने भी कड़ी कार्रवाई की माँग की है।

एक और चौंकाने वाली बात ये है कि भारत के ‘टुकड़े-टुकड़े’ करने की बात करने वाला शरजील इमाम जहानाबाद के एक मस्जिद में छिपा हुआ था। शरजील ने एएमयू में भाषण देते हुए लोगों को भड़काते हुए कहा था कि वो सिलीगुड़ी कॉरिडोर (चिकेन्स नेक) को यूँ ठप्प कर दें कि भारत से असम व अन्य उत्तर-पूर्वी राज्य टूट कर अलग हो जाएँ। शरजील की तलाश 6 राज्यों की पुलिस कर रही थी- बिहार, मणिपुर, असम, अरुणाचल प्रदेश, दिल्ली और उत्तर प्रदेश। महात्मा गाँधी को सबसे बड़ा फासिस्ट नेता बताने वाले शरजील को फिलहाल जहानाबाद थाने में रखा गया है।

शरजील इमाम की जहानाबाद कोर्ट में पेशी होगी। फिर ट्रांजिट रिमांड के बाद दिल्ली पुलिस उसे ले जाएगी। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने उसे बिहार पुलिस के सहयोग से जहानाबाद के काको से गिरफ़्तार किया, जहाँ उसका पैतृक निवास भी है। नीतीश कुमार ने इस कार्रवाई के लिए पुलिस की तारीफ करते हुए कहा कि किसी में दम नहीं है कि वो भारत के टुकड़े-टुकड़े कर सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश का माहौल इन दिनों ख़राब करने की कोशिश की जा रही है, जिसे सामान्य किया जाना चाहिए।

शरजील इमाम के ख़िलाफ़ राजद्रोह का मुक़दमा चलाया जाएगा। जेएनयू प्रशासन ने भी इस मामले में कड़ा रुख अपनाते हुए शरजील को समन जारी किया है। उसे 3 फ़रवरी तक स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। वहीं शरजील के परिवार वालों ने साज़िश का रोना रोया है। उसके चाचा अरशद इमाम ने कहा है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में राजनीतिक फायदा लेने के लिए उनके भतीजे का इस्तेमाल किया जा रहा है। वहीं शरजील की अम्मी ने कहा है कि मेरा बेटा निर्दोष है। परिवार ने कहा कि उन्हें संविधान पर पूरा भरोसा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पेगासस पर भड़के उदित राज, नंगी तस्वीरें वायरल होने की चिंता: लोगों ने पूछा – ‘फोन में ये सब रखते ही क्यों हैं?’

पूर्व सांसद और खुद को 'सबसे बड़ा दलित नेता' बताने वाले उदित राज ने आशंका जताई कि पेगासस ने कितनों की नंगी तस्वीर भेजी होगी या निजता का उल्लंघन किया होगा।

कारगिल के 22 साल: 16 की उम्र में सेना में हुए शामिल, 20 की उम्र में देश पर मर मिटे

सुनील जंग ने छलनी सीने के बावजूद युद्धभूमि में अपने हाथ से बंदूक नहीं गिरने दी और लगातार दुश्मनों पर वार करते रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,222FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe