Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजट्रेन में आग लगाने वाला निकला शाहरुख़ सैफ, केरल में मजदूरी करता था: बैग...

ट्रेन में आग लगाने वाला निकला शाहरुख़ सैफ, केरल में मजदूरी करता था: बैग से मिले कई जगहों के बारे में नोट्स, मृतकों में 2 साल की बच्ची भी

इस मामले की आतंकी एंगल से भी जाँच की जा रही है। NIA ने भी इस मामले में शुरुआती जाँच शुरू कर दी है। ये घटना अलपुझा-कन्नूर एक्सप्रेस की है।

केरल में ट्रेन में आग लगाने वाले की पहचान शाहरुख़ सैफ के रूप में हुई है, जो नोएडा का रहने वाला है। वो बतौर मजदूर केरल में काम करता था। पुलिस ने उसका स्केच भी जारी किया है। उसने मामूली कहासुनी के बाद ट्रेन में पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी, जिससे 3 लोगों की मौत हो गई और 8 घायलों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। इस मामले में एक गवाह रजाक है, जिसकी निशानदेही पर एलथूर पुलिस थाने में उसका स्केच तैयार करवाया गया।

रेलवे ट्रैक के पास से पुलिस को एक मोबाइल फोन भी मिला था, जिसे खँगालने के बाद कई सूचनाएँ मिलीं। लेकिन, इस फोन में कोई सिम कार्ड नहीं मिला। इसे पहले ही निकाल लिया गया था। इसे अंतिम बार गुरुवार (30 मार्च, 2023) को प्रयोग में लाया गया था। अब पुलिस शाहरुख़ सैफ के संपर्कों को तलाश रही है, ताकि उसे जल्द से लड़ दबोचा जा सके। पुलिस पहले ही कह चुकी है कि इस मामले का पर्दाफाश जल्द किया जाएगा।

इस मामले की आतंकी एंगल से भी जाँच की जा रही है। NIA ने भी इस मामले में शुरुआती जाँच शुरू कर दी है। ये घटना अलपुझा-कन्नूर एक्सप्रेस की है। मरने वालों में एक 2 साल का बच्चा और एक महिला भी शामिल है। 9 घायलों में से 3 की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। लोगों ने बताया कि आरोपित लाल कपड़ों में था और उसके पास दाढ़ी थी। वो इस अपराध को अंजाम देने के लिए D2 कपार्टमेन्ट से D1 कम्पार्टमेंट में आया था।

इस घटना के तुरंत बाद लोगों ने ट्रेन की चेन खींच कर ट्रेन को रोक दिया। उस समय अँधेरा था, जिसका फायदा उठा कर शाहरुख़ सैफ भाग खड़ा हुआ। घटनास्थल से एक बैग और फोन मिले थे। बैग में एक कागज पर तिरुवनंतपुरम और कन्याकुमारी के कुछ जगहों के नाम थे। कपड़े, चश्मा और पेट्रोल की एक बोतल भी मिली थी। मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने इस घटना की निंदा की है। केरल की भाजपा यूनिट ने इसे देशद्रोहियों की करतूत बताया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -