Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजमहंत पर चाकुओं से ताबड़तोड़ वार, लखनऊ में चल रहा इलाज: लईक खान ने...

महंत पर चाकुओं से ताबड़तोड़ वार, लखनऊ में चल रहा इलाज: लईक खान ने अतीक, सलमान के साथ किया हमला

मुख्य आरोपित का नाम लाईक खान है, जिसने अपने साथियों के साथ महंत पर हमला किया। साथ में उसके भाई सलमान और अतीक भी थे।

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में मंगलवार (फरवरी 16, 2021) को ‘बड़ी संगत’ के महंत मुनि बजरंग दास पर चाकुओं से जानलेवा हमला किया गया। महंत पर ये हमला तब हुआ, जब समुदाय विशेष के लोग विवादित बाग़ में दवा का छिड़काव कर रहे थे और महंत ने इस पर विरोध जताया। इसके बाद आरोपितों ने महंत पर चाकुओं से ताबड़तोड़ कई वार किए, जिससे वो जख्मी हो गए। हमले में महंत के सुरक्षाकर्मी सहित 4 लोग जख्मी हो गए।

‘न्यूज़ 18’ की खबर के अनुसार, घायल महंत मुनि बजरंग दास की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया गया है। घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए जिले के डीएम और एसपी ने खुद घटनास्थल पर जाकर स्थिति का जायजा लिया। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है। ये घटना खैराबाद थाना क्षेत्र की है। उक्त बाग़ विवादित है, जहाँ समुदाय विशेष के लोग दवा का छिड़काव करने पहुँच गए थे।

जैसे ही महंत ने विरोध जताया, समुदाय विशेष के कई लोग धारदार हथियारों से लैस होकर वहाँ पहुँच गए। इस जमीन को लेकर काफी समय से विवाद चला आ रहा है। संगत की कई बीघा जमीन महंत ने हाल ही में कब्जे से मुक्त कराई है। प्रशासन की तरफ से महंत को बंदूक से लैस एक सुरक्षाकर्मी भी दिया गया है। स्थानीय प्रशासन ने कहा है कि ये जमीन का विवाद है और मामले की जाँच की जा रही है।

मुख्य आरोपित का नाम लईक खान है, जिसने अपने साथियों के साथ महंत पर हमला किया। साथ में उसके भाई सलमान और अतीक भी थे। डीएम विशाल भारद्वाज और एसपी आरपी सिंह खुद मामले पर नजर रख रहे हैं।

‘उदासीन अखाड़ा’ के महंत धर्मेंद्र दास ने शांति की अपील करते हुए कहा कि आपसी विवाद में कहासुनी हुई और महंत बजरंग को चोट आई। उन्होंने प्रशासन को स्थिति को संभालने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि चीजें नियंत्रण में हैं और अफवाह न फैलाएँ।

सीतापुर पुलिस ने बताया है कि खैराबाद क्षेत्र में जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक की गई, जिसमें दोनों समुदायों के गणमान्य लोग शामिल हुए। पुलिस ने कहा कि कानून/शांति व्यवस्था सम्बन्धी कोई समस्या नहीं है।

महंत की हालत भी स्थित बताई गई है, जिसकी पुष्टि ‘उदासीन अखाड़े’ ने भी की है। अभियुक्तों के खिलाफ जाँच कर के कार्रवाई की बात कही गई है। ये घटना ऐसे समय में हुई है, जब दिल्ली के मंगोलपुरी में चाकुओं से रिंकू शर्मा की हत्या से लोग आक्रोशित हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्र है भारतीय मीडिया, सूत्रों से बनी खबरें मानहानि नहीं: शिल्पा शेट्टी की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट

कोर्ट ने कहा कि उनका निर्देश मीडिया रिपोर्ट्स को ढकोसला नहीं बताता। भारतीय मीडिया स्वतंत्र है और सूत्रों पर बनी खबरें मानहानि नहीं है।

रामायण की नेगेटिव कैरेक्टर से ममता बनर्जी की तुलना कंगना रनौत ने क्यों की? जावेद-शबाना-खान को भी लिया लपेटे में

“...बंगाल मॉडल एक उदाहरण है… इसमें कोई शक नहीं कि देश में खेला होबे।” - जावेद अख्तर और ममता बनर्जी की इसी मीटिंग के बाद कंगना रनौत ने...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,014FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe