Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजतेज प्रताप यादव के BMW से ड्राइवर निकला और ऑटो वाले को खूब मारा,...

तेज प्रताप यादव के BMW से ड्राइवर निकला और ऑटो वाले को खूब मारा, माँग रहा था ₹180000

जिस समय यह दुर्घटना हुई, उस समय तेज प्रताप यादव ख़ुद अपने वाहन में मौजूद नहीं थे। उस वक़्त केवल उनका ड्राइवर जयपाल और उनके पीए सृजन स्वराज यात्रा कर रहे थे। पुलिस ने...

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के बेटे और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेज प्रताप यादव एक अजीब सी घटना के लिए एक बार फिर से सुर्ख़ियों में आ गए हैं। इस बार उनका नाम उनके ड्राइवर द्वारा हर्ज़ाने की माँग को लेकर सुर्ख़ियों में आया है। दरअसल, इन दिनों वो वृंदावन में हैं और उनको लेने के लिए बिहार से होकर रोहनिया के रास्ते उनकी BMW कार गुज़र रही थी, तभी अचानक एक ऑटो चालक से पीछे से उनकी कार में टक्कर हो गई। इसके बाद गाड़ी स्टार्ट न हो पाने की स्थिति में सड़क पर आने-जाने वालों को काफ़ी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ा।

दरअसल, यह घटना आज (14 नवंबर) सुबह 6:30 बजे की है। इन दिनों तेज प्रताप यादव वृंदावन में हैं और उनको लेने के लिए सुबह करीब 6:30 बजे उनकी BMW कार बिहार से होकर रोहनिया के रास्‍ते से गुज़र रही थी कि तभी अचानक पीछे से एक ऑटो से उसमें टक्‍कर लग गई। घटना के दौरान तेज प्रताप के ड्राइवर, जयपाल और ऑटो चालक के बीच काफ़ी बहस शुरू हो गई। इस बीच, यह बात सामने आई कि ऑटो चालक से हर्ज़ाने के तौर पर 1,80,000 रुपए की माँग की गई।

इतनी बड़ी रक़म सुनते ही ऑटो चालक ने कहा कि वो इतनी राशि का भुगतान नहीं कर सकता। इतना सुनने के बाद ऑटो चालक को तेज प्रताप के ड्राइवर ने जमकर पीटा और उसे साथ में चल रही एस्कॉर्ट गाड़ी में जबरन बैठा लिया। बीच सड़क पर वीआईपी गाड़ी के ड्राइवर द्वारा ऑटो चालक के साथ की गई मारपीट की जानकारी मिलते ही लोगों की भीड़ घटना-स्थल पर जुट गई। मामला जब नहीं थमा तो पुलिस को घटना की सूचना दी गई, इसके बाद वो दोनों पक्षों को थाने ले आई।

वहीं, तेज प्रताप यादव ने फोन पर अपने पीए सृजन स्वराज को थाने जाने से मना कर दिया। हालाँकि, मौक़े पर समझौता न हो पाने पर दोनों ही पक्षों को पुलिस रोहनिया थाने लेकर पहुँची और मामले की तफ़्तीश में जुट गई। चूँकि यह मामला वीआईपी व्यक्ति के वाहन से जुड़ा हुआ है, इसलिए पुलिस ने इसकी सूचना आला अधिकारियों को भी दे दी।      

बता दें कि जिस समय यह दुर्घटना हुई, उस समय तेज प्रताप यादव ख़ुद अपने वाहन में मौजूद नहीं थे, उस वक़्त केवल उनका ड्राइवर जयपाल और उनके पीए सृजन स्वराज यात्रा कर रहे थे। पुलिस ने घटना-स्थल पर पहुँचकर मामले को शांत कराया और दोनों पक्षों को स्थानीय पुलिस स्टेशन में ले गई जहाँ दोनों ने अपनी-अपनी शिकायतें दर्ज कराई।

ख़बर के अनुसार, वाराणसी पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस मामले के सन्दर्भ में  प्रभारी निरीक्षक रोहनिया के हवाले से बताया कि दोनों पक्षों द्वारा थाने पर आकर सुलह समझौता कर लिया गया है। वहीं, लिखित रूप में दिया गया कि वो कोई क़ानूनी कार्रवाई नहीं चाहते हैं, इसके बाद विवाद का आख़िरकार पटाक्षेप हो गया और दूसरे अन्‍य साधन से बिहार से आया सुरक्षा दस्‍ता तेज प्रताप को लाने के लिए वृंदावन की ओर रवाना हो गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -