Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजकश्मीर: BJP नेता अनवर खान के घर आतंकी हमला, पुलिसकर्मी की मौत; आतंकियों की...

कश्मीर: BJP नेता अनवर खान के घर आतंकी हमला, पुलिसकर्मी की मौत; आतंकियों की तलाश जारी

अनवर खान भाजपा के बारामुला जिले के सचिव और कुपवाड़ा जिले के इंचार्ज हैं। 2018 में भी पुलवामा में उन पर आतंकियों ने गोली चलाई थी।

जम्मू-कश्मीर के नौगाम के अरीबाग में भाजपा नेता अनवर खान के घर पर आतंकी हमला हुआ। इसमें पुलिस के एक जवान रमीज राजा की मौत हो गई। हमले को अंजाम देने के बाद आतंकी पुलिसकर्मी की एके-47 भी लेकर फरार हो गए। आतंकियों की तलाश में सेना और पुलिस टीम सर्च ऑपरेशन चला रही है।

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक आतंकियों की गोली से जवान घायल हो गया था। बाद अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में उसकी मौत हो गई। रिपोर्ट में बताया गया है कि जिस वक्त ये हमला हुआ उस दौरान भाजपा नेता अनवर खान उत्तरी कश्मीर में कैंपेन कर रहे थे। इस कारण वह अपने घर पर नहीं थे।

अनवर खान भाजपा के बारामुला जिले के सचिव और कुपवाड़ा जिले के इंचार्ज हैं। 2018 में भी पुलवामा में उन पर आतंकियों ने गोली चलाई थी। उस दौरान उन्हें बचाने के चक्कर में एक पुलिस अधिकारी बुरी तरह से घायल हो गए थे।

जम्मू-कश्मीर के आईजीपी विजय कुमार ने कहा कि गर्मी के मौसम में संदिग्ध हमलों के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक बीते चार दिन में यह दूसरा बड़ा आतंकी हमला नेताओं पर हुआ है। बीते सोमवार को सोपोर में हुए आतंकी हमले में दो काउंसलरों की मौत हो गई थी। वहीं जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक पीएसओ वारगति को प्राप्त हो गया था। आतंकी संगठन द रेजिस्टेंट्स फ्रंट ने इसकी जिम्मेदारी भी ली थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -