Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजकश्मीरी हिंदू राहुल भट की हत्या का सुरक्षाबलों ने लिया बदला, 24 घंटे में...

कश्मीरी हिंदू राहुल भट की हत्या का सुरक्षाबलों ने लिया बदला, 24 घंटे में मार गिराए 3 आतंकी: मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी, हत्या की SIT जाँच

जिस समय दोनों आतंकियों ने कार्यालय में घुसकर भट की हत्या की थी, उस समय शाम के लगभग साढ़े चार बज रहे थे और तहसील कार्यालय कर्मचारियों से भरा हुआ था। 

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आतंकियों के टारगेट किलिंग (Target Killing) का सुरक्षाबलों ने जवाब देते हुए 24 घंटे के भीतर शुक्रवार (13 मई 2022) को तीन आतंकियों को मार गिराया है। मारे गए आतंकियों में कश्मीरी हिंदू राहुल भट की हत्या करने वाले दो इस्लामिक आतंकी भी शामिल हैं। तीसरे आतंकी की पहचान गुलजार अहमद के रूप में हुई है। वहीं, दूसरे आतंकी की तलाश जारी है। बता दें कि भट की हत्या की जाँच के लिए सरकार ने SIT गठित की है।

SP (ऑपरेशन) इफ्तखार तालिब ने बताया कि पिछले कई सप्ताह से इन आतंकियों को ट्रैक कर रहे थे। बाद में इन्हें मार गिराया गया। वहीं, अन्य आतंकियों की भी तलाश जारी है।

जम्मू-कश्मीर सरकार ने राहुल भट की हत्या की जाँच के लिए SIT का गठन किया है। इसके साथ ही सरकार ने उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी देने और बेटी की पढ़ाई का खर्च वहन करने का ऐलान किया है। बता दें कि भट की हत्या को उनके परिजनों साजिश करार देते हुए जाँच की माँग की थी।

जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा (LG Manoj Sinha) ने शुक्रवार ट्वीट कर राहुल भट्ट के परिजनों से मुलाकात की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट किया, “मैंने राहुल भट के परिजनों से मुलाकात की और परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। दुख की इस घड़ी में सरकार राहुल के परिवार के साथ मजबूती से खड़ी है। आतंकवादियों और उनके समर्थकों को उनके इस जघन्य कृत्य की बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।”

बता दें कि कश्मीर के बडगाम (Badgam, Kashmir) जिले में गुरुवार (12 मई 2022) को लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों ने एक सरकारी कार्यालय में घुसकर 35 वर्षीय राहुल भट की गोली मारकर हत्या कर दी थी। भट चादूरा के तहसील ऑफिस में राजस्व विभाग में तैनात थे और वे प्रवासी कश्मीरी हिंदुओं के रोजगार के लिए दिए गए विशेष पैकेज के लिए काम कर रहे थे।

जिस समय दोनों आतंकियों ने कार्यालय में घुसकर भट की हत्या की थी, उस समय शाम के लगभग साढ़े चार बज रहे थे और तहसील कार्यालय कर्मचारियों से भरा हुआ था। आतंकी दुस्साहस दिखाते हुए भरी ऑफिस में घुस गए और राहुल भट को सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -