Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजजम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के तीन जवान बलिदान: मरने वालों...

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना के तीन जवान बलिदान: मरने वालों में कश्मीर के फुटबॉलर वसीम डार भी शामिल, बीवी है 6 महीने की गर्भवती

बताते चलें कि आतंकियों की गतिविधियों की सूचना मिलने पर सेना की 34 राष्ट्रीय राइफल, CRPF और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने संयुक्त रूप से कुलगाम जिले के हालान वन इलाके में सघन सर्च ऑपरेशन चलाया था। इसी दौरान सिक्योरिटी फोर्सेज की आतंकियों से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में 5 जवानों को गोली लगी है। इनमें तीन जवानों की मौत हो गई है।

जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शुक्रवार (4 जुलाई 2023) को तीन सैनिक बलिदान हो गए। बलिदान हुए सैनिकों में एक वसीम अहमद डार भी थे। डार एक फुटबॉलर भी थे। उनकी मौत से इलाके में शोक की लहर है। वहीं, उनकी गर्भवती बीवी पर मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा है।

वसीम डार साल 2014 में भारतीय सेना में शामिल हुए थे। वह इलाके में एक फुटबॉल खिलाड़ी के रूप में मशहूर थे। डार की मौत की सूचना मिलते ही लोगों को गहरा सदमा लगा। इलाके के लिए उनके पहुँचकर उनकी पत्नी को सांत्वना दी। डार की साल 2021 में शादी हुई थी।

वसीम के छोटे भाई ज़ुबैर सरवर डार ने बताया, “उनकी पत्नी छह महीने की गर्भवती है।” उनकी शादी नवंबर 2021 में हुई थी। वह अपने पीछे माता, पिता, पत्नी, एक भाई और दो विवाहित बहनें छोड़ गए हैं। उन्होंने कहा, वसीम आखिरी बार ईद पर घर आया था।

एक फुटबॉलर होने के नाते जिला फुटबॉल एसोसिएशन ने भी वसीम की मौत पर दुख जताया है। एसोसिएशन ने लिखा, “वह न केवल एक बहादुर और समर्पित सैनिक थे, बल्कि एक प्रतिभाशाली फुटबॉलर भी थे, जिनमें खेल के प्रति जुनून था। वह दाचीगाम में इकरा फुटबॉल क्लब के लिए खेले।”

एसोसिएशन ने आगे लिखा, “उनके टीम के साथी और दोस्त उन्हें एक मिलनसार, शुद्ध दिल वाले व्यक्ति के रूप में याद करते थे, जिन्होंने कभी किसी को धोखा नहीं दिया। उन्होंने हमेशा अच्छी गुणवत्ता वाले फुटबॉल और जम्मू-कश्मीर के फुटबॉलरों का समर्थन किया है। फुटबॉल में उनका योगदान बहुत बड़ा है।”

बताते चलें कि आतंकियों की गतिविधियों की सूचना मिलने पर सेना की 34 राष्ट्रीय राइफल, CRPF और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने संयुक्त रूप से कुलगाम जिले के हालान वन इलाके में सघन सर्च ऑपरेशन चलाया था। इसी दौरान सिक्योरिटी फोर्सेज की आतंकियों से मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में 5 जवानों को गोली लगी है। इनमें तीन जवानों की मौत हो गई है।

इस दौरान आतंकी कुछ हथियार लेकर भी भागे हैं। इन आतंकियों को पकड़ने के लिए सेना ने बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन चलाया है। कहा जा रहा है कि आतंकियों की संख्या तीन है। अधिकारियों ने कहा कि ऐसा माना जाता है कि समूह ने हाल ही में पीर पंजाल रेंज के माध्यम से घुसपैठ की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

10 साल का इस्कॉन, 30 साल का युवक और न्यूयॉर्क में पहली रथयात्रा… जब महाप्रभु जगन्नाथ का प्रसाद ग्रहण कर डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा...

कंपनी ने तब कहा कि ये जमीन बिकने वाली है और करार के तहत अब इसके नए मालिकों के ऊपर है कि वो ये जमीन देते हैं या नहीं। नए मालिक डोनाल्ड ट्रम्प ही थे।

ट्रेनी IAS पूजा खेडकर की ऑडी सीज, ऊटपटांग माँगों के बचाव में रिटायर्ड IAS बाप: रिवॉल्वर लहराने पर FIR के बाद लाइसेंस रद्द करने...

ट्रेनिंग के दौरान ही VIP सुविधाओं के लिए नखरा करने वाली IAS पूजा खेडकर की करस्तानियों का उनके पिता दिलीप खेडकर ने बचाव किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -