Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजखुद के नाम इस्लामी, पिता के हिंदू नाम: अयोध्या में सिंदूर बेच रहे लड़कों...

खुद के नाम इस्लामी, पिता के हिंदू नाम: अयोध्या में सिंदूर बेच रहे लड़कों की क्या है असली पहचान, Video से उठे सवाल

महंत राजूदास ने आगे कहा, "मैं अभी वीडियो में सुन रहा था, जिसमें वो 5 लोग हैं और उनके पास ID प्रूफ नहीं है। यहाँ का प्रशासन इतना सख्त है कि हम लोगों को भी आने-जाने के लिए रूकना पड़ता है, जबकि हमारे पास PASS भी होता है। वहीं, ये लोग अंदर घूम रहे हैं और तमाम चीजें बेच रहे हैं।"

उत्तर प्रदेश (UP) के अयोध्या (Ayodhya) जिले में हनुमान गढ़ी इलाके का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में सिन्दूर बेचने वाला एक व्यक्ति अपना नाम सलमान और पिता का नाम देशराज बता रहा है। युवक के साथ कुछ अन्य लोग भी हैं, जो अपना पता कभी कानपुर तो कभी बाराबंकी बता रहे हैं। वीडियो में दिखाई दे रहे संदिग्ध खुद को सिन्दूर बेचने वाला बता रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वायरल वीडियो रामकोट इलाके का है। यह वही इलाका है, जहाँ श्रीराम मंदिर बन रहा है। जिस स्थान पर वीडियो बनाया गया है, वह अतिसुरक्षित येलो ज़ोन में आता है। यहाँ पर भारी संख्या में तैनात पुलिस का सख्त पहरा रहता है। वीडियो स्थानीय लोगों द्वारा बनाया गया है।

संदिग्ध युवक मुस्लिम समुदाय से बताए जा रहे हैं। कहा जाता रहा है कि इनकी संख्या दर्जनों में है, जो इलाके में इस तरह का काम कर रहे हैं। सभी युवक अपना असली नाम-पता बताने में कतरा रहे थे। जिस जगह ये सभी संदिग्ध सिन्दूर बेचते दिखाई दिए।

वीडियो में एक युवक ने अपना नाम मुस्लिम और पिता का नाम हिंदू बताया। उसने खुद को सलमान बताते हुए कहा कि उसके पिता का नाम देशराज है। उसने अपना घर यूपी के बाराबंकी जिले के मसौली थाना क्षेत्र के अंतर्गत जमालपुर गाँव बताया।

इस इलाके में स्थानीय निवासियों को भी आने-जाने के लिए सुरक्षा जाँच से गुजरना पड़ता है। उस क्षेत्र में वाहनों का आना प्रतिबंधित है। वहीं, ये संदिग्ध लोग दिन भर सिंदूर आदि बेचते हैं और रात में भी इसी अतिसुरक्षित इलाके में रहते हैं। लोगों का आरोप है कि इन संदिग्धों की मौजूदगी से पुलिस व खुफिया विभाग भी अनजान है।

इस पूरे घटनाक्रम को हनुमान गढ़ी के महंत राजूदास ने अयोध्या की सुरक्षा से जोड़ा है। उन्होंने कहा, “मैं प्रशासन से ऐसी चीजों की जाँच की अपील करता हूँ। ऐसे लोग न आएँ। व्यापार करना अच्छी बात है। मैं किसी पंथ या मजहब के खिलाफ नहीं बोल रहा, लेकिन ये वो कौम है जिस पर विश्वास करने लायक नहीं है। इस रामजन्मभूमि परिसर में कई बार बम धमाके हो चुके हैं। यहाँ बम भी बरामद हुए हैं और कई आतंकी भी पकड़े जा चुके हैं।”

महंत राजूदास ने आगे कहा, “मैं अभी वीडियो में सुन रहा था, जिसमें वो 5 लोग हैं और उनके पास ID प्रूफ नहीं है। यहाँ का प्रशासन इतना सख्त है कि हम लोगों को भी आने-जाने के लिए रूकना पड़ता है, जबकि हमारे पास PASS भी होता है। वहीं, ये लोग अंदर घूम रहे हैं और तमाम चीजें बेच रहे हैं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के बाद अब तमिलनाडु में YouTuber अजीत भारती के खिलाफ FIR, कॉन्ग्रेस नेता सैमुअल MC ने की शिकायत: राहुल गाँधी से जुड़ा है...

"कर्नाटक उच्च न्यायालय ने स्थगन का आदेश दे रखा है, उस पर कथित घटना और केस पर स्टे के बाद, वापस दूसरे राज्य में केस करना क्या बताता है? "

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -