Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजलुलु मॉल ने नमाजियों के खिलाफ दर्ज कराई FIR, केरल का अरबपति युसूफ अली...

लुलु मॉल ने नमाजियों के खिलाफ दर्ज कराई FIR, केरल का अरबपति युसूफ अली है मालिक: मॉल में लगे 1016 CCTV, 200 गार्ड

गंगाधर ने कहा कि कुछ स्वार्थी तत्व लुलु मॉल को निशाना बनाने की कोशिश कर रहे थे। मॉल प्रशासन ने पहले एक नोटिस जारी कर कहा था कि मॉल परिसर में किसी भी धार्मिक प्रार्थना की अनुमति नहीं दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित लुलु मॉल में मुस्लिमों द्वारा नमाज पढ़े जाने के बाद मचे बवाल के बाद उसकी सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। शॉपिंग मॉल के प्रबंधन ने इसके हर फ्लोर पर सिक्योरिटी को बढ़ाते हुए 200 सुरक्षा गार्डों को तैनात कर दिया है। इसके साथ ही 1016 सीसीटीवी कैमरों को एक्टिव कर दिया है।

मॉल प्रबंधन ने ये फैसला करणी सेना से जुड़े 10 लोगों को कस्टडी में लिए जाने के बाद लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, करणी सेना के लोग मॉल का बॉयकॉट करने वाले पोस्टर लिए हुए थे। इस बीच लखनऊ पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने एक्शन लेते हुए गोल्फ सिटी के एसएचओ अजय प्रताप सिंह को पुलिस लाइन अटैच कर लिया है। उनके स्थान पर शैलेंद्र गिरि को नया एसएचओ नियुक्त किया गया है। यहीं नहीं साउथ जोन के डीसीपी गोपाल चौधरी को क्राइम ब्रांच का डीसीपी बना दिया गया है।

मॉल प्रबंधन ने नमाज पढ़ने वालों के खिलाफ किया केस

इस बीच लुलु मॉल के प्रबंधन ने उन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है, जिन्होंने कुछ दिन पहले इसके परिसर में नमाज अदा की थी। लुलु इंडिया शॉपिंग मॉल, लखनऊ के क्षेत्रीय निदेशक जयकुमार गंगाधर ने कहा, “प्रतिष्ठान में धार्मिक प्रथाओं में शामिल होना प्रतिबंधित है।”

गंगाधर ने कहा कि कुछ स्वार्थी तत्व लुलु मॉल को निशाना बनाने की कोशिश कर रहे थे। मॉल प्रशासन ने पहले एक नोटिस जारी कर कहा था कि मॉल परिसर में किसी भी धार्मिक प्रार्थना की अनुमति नहीं दी जाएगी। लोगों द्वारा नमाज अदा करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद यह नया निर्देश आया है। मॉल प्रबंधन ने दावा किया कि उसके यहाँ 80% से अधिक कर्मचारी हिन्दू हैं और बाकी मुस्लिम, ईसाई व अन्य हैं।

गौरतलब है कि इस मॉल के मालिक यूसुफ अली हैं, जो कि एक अरबपति व्यवसायी हैं। वो मूल रूप से केरल के रहने वाले हैं। लेकिन, रहते अबू धाबी में हैं। दरअसल लुलु मॉल में नमाज पढ़ने का मामले सबसे पहले 12 जुलाई 2022 को उस वक्त आया था, जब कुछ मुस्लिमों ने वहाँ पर नमाज पढ़ी और इसका वीडियो वायरल हो गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -