Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाज'बंदूक की नोंक पर एक तरफ ले गए... पहले किस किया और फिर कपड़े...

‘बंदूक की नोंक पर एक तरफ ले गए… पहले किस किया और फिर कपड़े उतारने को मजबूर’: छात्रा ने सुनाई उस रात की सिहरने वाली कहानी, CM योगी सख्त, PMO की भी नजर

पीड़िता ने कहा, "मैं अपने हॉस्टल की ओर भागी तो पीछे से वे भी आने लगे। डर के मारे मैं एक प्रोफेसर के घर में घुस गई। वहाँ पर 20 मिनट तक रुकी और प्रोफेसर को आवाज दी। प्रोफेसर ने मुझे गेट तक छोड़ा। उसके बाद पार्लियामेंट सिक्योरिटी कमेटी के राहुल राठौर मुझे IIT-BHU पेट्रोलिंग गार्ड के पास लेकर पहुँचे। जहाँ से मैं अपने हॉस्टल तक सुरक्षित आ पाई।"

उत्तर प्रदेश के वाराणसी स्थित बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) के परिसर में बंदूक की नोंक पर IIT की छात्रा के कपड़े उतरवाकर अश्लील वीडियो बनाने का मसला मुख्यमंत्री कार्यालय और प्रधानमंत्री कार्यालय तक पहुँच चुका है। इस मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों ने कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। वहीं, PMO भी इस पर नजर बनाए हुए है। अब लड़की ने उस रात हुई घटना का पूरा ब्यौरा दिया है।

मामला बुधवार (1 नवंबर, 2023) का है। कैम्पस में रात करीब 1.30 बजे छात्रा अपने साथी अपने हॉस्टल के पास टहल रही थी। इसी दौरान बुलेट पर सवार 3 बदमाश आए और छात्रा को रोका। तीनों बदमाशों ने बंदूक की नोंक पर उसके कपड़े फाड़ डाले और उसका वीडियो बना लिया। इतना ही नहीं, बदमाशों ने छात्रा का फोन नंबर भी लिया और धमकी दी कि अगर इस संबंध में किसी को कुछ बताया तो वे उसे जान से मार देंगे।

छात्रा ने बताई आपबीती

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, छात्रा ने उस रात की घटना को याद करते हुए बताया, “मैं बुधवार रात 1:30 बजे एक जरूरी काम से अपने हॉस्टल से निकली थी। कैंपस के गाँधी स्मृति चौराहे के पास मुझे मेरा दोस्त मिल गया तो हम दोनों साथ में जाने लगे। रास्ते में कर्मन बाबा मंदिर से करीब 300 मीटर दूर पीछे से एक बुलेट आई। उस पर 3 लड़के सवार थे। उन लोगों ने बाइक खड़ी करके मुझे और मेरे दोस्त को रोक लिया।”

न्यू गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली मैथेमेटिकल इंजीनियरिंग विभाग में बीटेक की पीड़ित छात्रा ने बताया, “इसके बाद हथियार दिखाकर और मेरा मुँह दबाकर एक कोने में ले गए। वहाँ पहले मुझे किस किया, उसके बाद गन पॉइंट पर मेरे कपड़े उतरवाए। मेरा वीडियो बनाया और फोटो खींची। मैं जब बचाव के लिए चिल्लाई तो मुझे मारने की धमकी दी। करीब 10-15 मिनट तक मुझे अपने कब्जे में रखा और फिर छोड़ दिया।”

पीड़िता ने कहा, “मैं अपने हॉस्टल की ओर भागी तो पीछे से वे भी आने लगे। डर के मारे मैं एक प्रोफेसर के घर में घुस गई। वहाँ पर 20 मिनट तक रुकी और प्रोफेसर को आवाज दी। प्रोफेसर ने मुझे गेट तक छोड़ा। उसके बाद पार्लियामेंट सिक्योरिटी कमेटी के राहुल राठौर मुझे IIT-BHU पेट्रोलिंग गार्ड के पास लेकर पहुँचे। जहाँ से मैं अपने हॉस्टल तक सुरक्षित आ पाई।”

तीनों आरोपितों के हुलिये को याद करते हुए पीड़ित छात्रा ने बताया कि इन तीनों आरोपियों में से एक मोटा और दूसरा पतला थी। वहीं, तीसरे लड़के की हाईट मीडियम थी। तीनों युवक रॉयल इनफील्ड क्लासिक 350 बाइक पर सवार थे। घटनास्थल का सीसीटीवी फुटेज खराब था। वहीं, देर रात हैदराबाद गेट के पास बुलेट पर सवार तीन लोग जाते दिखे हुए सीसीटीवी में दिखे हैं। हालाँकि, बाइक का नंबर स्पष्ट नहीं हो पाया है।

CM योगी ने कठोर कार्रवाई के दिए निर्देश, PMO ने भी माँगी रिपोर्ट

इस घटना को यूपी के मख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खासे नाराज बताए जा रहे हैं। सीएम योगी ने मंडलायुक्त कौशल राज शर्मा और बीएचयू के कुलपति प्रोफेसर एसके जैन से भी बात की। उन्होंने आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि कठोर कार्रवाई का संदेश जनता तक जानी चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए विश्वविद्यालय में तैनात पुलिस को प्रशिक्षण देने को कहा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र होने के नाते इस पूरे मामले पर प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की नजर बनी हुई है। PMO ने इस मामले पर बनारस के पुलिस कमिश्नर मुथा अशोक जैन से रिपोर्ट माँगी है। इस घटना के कारण पुलिस कमिश्नर ने लंका थाने के SHO अश्विनी पांडेय को लाइन हाजिर कर दिया है।

कैंपस में दिवार बनाने पर विद्यार्थियों का विरोध

इस घटना के विरोधी में 2500 छात्र-छात्राओं ने गुरुवार (2 नवंबर 2023) को राजपूताना हॉस्टल के सामने लगभग 11 घंटे तक विरोध प्रदर्शन किया। इसके बाद पुलिस-प्रशासन और IIT-BHU के डायरेक्टर ने छात्रों के साथ बैठक की। उन्हें भरोसा दिया कि 7 दिनों के भीतर सभी आरोपितों को पकड़कर जेल भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आरोपितों को कड़ी सजा दी जाएगी। आश्वासन के बाद विद्यार्थियों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया।

इस घटना के बाद प्रशासन ने IIT-बनारस और BHU के बीच दीवार बनाने का फैसला किया है। हालाँकि, विद्यार्थी इसका भी विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि कैंपस को दो हिस्सों में नहीं किया जाना चाहिए। इस निर्णय का विरोध कर रहे यूनिवर्सिटी के छात्र नेता अभय सिंह ने कहा कि प्रशासनिक लापरवाही और सुरक्षा की अनदेखी के कारण छात्रा के साथ छेड़छाड़ हुई है।

विद्यार्थियों ने कैंपस में CCTV कैमरे लगाने, सुरक्षाकर्मियों की संख्या बढ़ाने और शाम के बाद कैंपस में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगाने की माँग की है। उन्होंने कैंपस में दिवार बनाने का पूरी तरह विरोध किया। इस घटना के लेकर यूनिवर्सिटी के एक छात्र निखिल ने बताया कि बनारस देश का पहला IIT है, जहाँ बाहरी लड़के कार और बाइक की रेस लगाते हैं और लड़कियाँ छेड़ते हैं।

प्रशासन का निर्णय

इस घटना के बाद प्रशासन और यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कई निर्णय लिए हैं। हालात को देखते हुए अब प्रॉक्टर ऑफिस में सब-इंस्पेक्टर और 4 पुलिस कर्मी तैनात किए जाएँगे। बैरिकेड्स लगाकर रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक कैंपस में आवाजाही को प्रतिबंधित किया जाएगा। इसके अलावा, ग्रीन जोन बनाया जाएगा, जिसमें कई तरह के बदलाव आगे होंगे।

स्थानीय प्रशासन के सहयोग से यूनिवर्सिटी एक इंटीग्रेटेड मॉनिटरिंग सिस्टम बनाएगा, ताकि विद्यार्थियों की सुरक्षा को मॉनिटर किया जा सके। संवेदनशील स्थानों पर मिलिट्री के रिटायर्ड लोगों को सुरक्षा गार्ड्स के तौर पर तैनाती की जाएगी। कैंपस के सभी सातों गेटों पर जिला पुलिस और संस्थान के कर्मियों की चौबीसों घंटा ड्यूटी रहेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -