Tuesday, September 29, 2020
Home बड़ी ख़बर 'बच्चों की कसम है' से लेकर, उसी कॉन्ग्रेस सपोर्ट के लिए 'लालायित' सड़जी... और...

‘बच्चों की कसम है’ से लेकर, उसी कॉन्ग्रेस सपोर्ट के लिए ‘लालायित’ सड़जी… और कितना गिरेंगे?

एक आम आदमी का चोला पहनकर और बड़े-बड़े नेताओं को भ्रष्ट बता कर जो साहब कभी ईमानदार छवि की वजह से मुख्यमंत्री बने थे, उन्होंने आज अपनी गलीच राजनीति के चलते बड़े से बडे़ घाघ राजनेता को भी पीछे छोड़ दिया है।

देश के सबसे ईमानदार नेता केजरीवाल जी इन दिनों दुविधा के दौर से गुज़र रहे हैं। वो साम-दाम-दंड-भेद की नीति अपनाकर भी लोकसभा चुनाव में खुद को खड़ा नहीं कर पा रहे हैं। कभी देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए वो बंगाल जाकर ममता की रैली में शामिल हो रहे हैं, तो कभी खुद ही दिल्ली में रैली निकाल रहे हैं। जिन विपक्षी नेताओं से उनका किसी समय में 36 का आँकड़ा था, उनके गले लगने में भी सीएम साहब को इस समय कोई गुरेज नहीं है।

हाल ही में केजरीवाल साहब विपक्ष की रणनीति के लिए एनसीपी के नेता शरद पवार के घर हुई बैठक में शामिल हुए। उनके साथ इस बैठक में बंगाल सीएम ममता और कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी भी थे।

बुधवार को देर रात हुई इस बैठक के बाद केजरीवाल का बयान आया है कि दिल्ली में गठबंधन को लेकर कॉन्ग्रेस ने लगभग मना कर दिया है। जी हाँ, एक बार फिर से पढ़िए… केजरीवाल ने आज गुरूवार (फरवरी 14, 2019) को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, “हमारे मन में देश को लेकर बहुत ज्यादा चिंता है, इसी वजह से हम लालायित हैं, उन्होंने (कॉन्ग्रेस) ने लगभग मना कर दिया है।”

यह वचन हैं माननीय दिल्ली सीएम श्री अरविंद केजरीवाल के… देश के प्रति अटूट चिंता दिखाने वाले महानुभाव चाहते हैं कि कॉन्ग्रेस उनके साथ गठबंधन कर ले। ये वही केजरीवाल हैं जो कभी कॉन्ग्रेस को वोट देने का मतलब भाजपा को वोट देना ही कहते थे, और आज भाजपा को सत्ता से हटाने के लिए कॉन्ग्रेस से गठबंधन करने के लिए लालायित हुए जा रहे हैं। ये उन्हीं केजरीवाल के बोल हैं जिन्होंने कभी कॉन्ग्रेस से सपोर्ट के मुद्दे पर बच्चों की कसम खाते हुए कहा था कि उनसे गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता।

केजरीवाल के मीडिया में दिए इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर उनका खूब चुटकी ली जा रही है। और, ऐसा हो भी क्यों न, अपने आप को सबसे ईमानदार पार्टी कहने वाले केजरीवाल ने कुछ समय पहले साल 2011 में हुए पीएनबी स्कैम को केंद्र में रखकर कॉन्ग्रेस और भाजपा पर हमला बोला था। उनका कहना था कि जिन घोटालों से आज भाजपा कमा रही है, उनसे कभी कॉन्ग्रेस कमाई करती थी।

सवाल है कि जिस कॉन्ग्रेस की सीएम शीला दीक्षित को भ्रष्टाचार के ख़िलाफ केजरीवाल कभी 370 पेज के सबूत दिखाकर, जेल में भेजने की बात करते थे, उन्हें केजरीवाल ने बीतते समय के साथ कहाँ पर गायब कर दिया? शीला दीक्षित को ‘आप’ ने जेल भेजने का जो वादा किया था उसे लगता है ‘आप’ भूल गए हैं। कोई बात नहीं…लेकिन यह तो नहीं भूलना चाहिए कि जिस कॉन्ग्रेस से समर्थन के लिए लार टपक रही है उसी के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाकर आपने दिल्ली की जनता से वोट माँगा था।

लोकसभा चुनाव में केजरीवाल ने किरण बेदी के चुनाव लड़ने पर दिल्ली के आटो रिक्शा तक पर उन्हें अवसरवादी कहलवा दिया था। लेकिन, इस बार उनका इस तरह से लालायित होना राष्ट्रभक्ति है। क्योंकि उन्हें देश की चिंता खाए जा रही है। देश हित में आज वो कॉन्ग्रेस के साथ क्या सभी विपक्षी नेताओं के साथ जुड़ने को तैयार हैं।

जिन शरद पवार के घर जाकर केजरीवाल मोदी सरकार को सत्ता से हटाने के लिए गठबंधन पर बातचीत करके आए है, उन्हीं शरद पवार से जुड़े भ्रष्टाचार के मामले पर केजरीवाल दस दिन का अनशन कर चुके हैं। इस पर विधायक कपिल शर्मा ने तंज भी कसा है कि जो करप्शन से लड़ने आया था वो शरद पवार के सोफे पर जाकर पड़ा है। साथ ही कुमार विश्वास ने भी सीएम साहब की इस हरकत पर उन्हें आत्ममुग्ध बौना कहकर बुलाया। क्योंकि शरद पवार ही वो शख्स हैं जिन्होंने लोकपाल बिल का भरी संसद में मज़ाक उड़ाया था।

इतना ही नहीं, साल 2013 में “हैलो, मैं अरविंद केजरीवाल बोल रहा हूँ…फोन मत काटिएगा” का तरीका अपनाकर घर-घर के लोगों के मन में ईमानदार सरकार की आस जगाने वाले सीएम महोदय ने उस दौरान अपने बच्चों की कसमें तक खाई थी कि वो न ही कॉन्ग्रेस को समर्थन देंगे और न उनसे समर्थन लेंगे। लेकिन, नतीजों के कुछ दिन बाद ही ‘सड़जी’ नायक के अनिल कपूर जैसे मुख्यमंत्री पद पर बैठे।

ऐसे ही, समय-समय पर कोर्ट द्वारा अपराधी करार दिए जा चुके लालू जैसे भ्रष्ट नेताओं से गले मिलना भी इनकी ईमानदारी की चमक बढ़ाता रहा है। पहले यही केजरीवाल जी अपने आप को छोड़कर हर किसी को भ्रष्ट मानते थे, वो अब अवसरवाद की राजनीति के कारण स्वयं को शायद गंगा मानकर सबसे गले मिलते जा रहे हैं।

आज केजरीवाल साहिब को भले ही अपने किए कारनामें याद न हों, लेकिन मासूम जनता का ख्याल तो आना ही चाहिए। विपक्षी नेताओं के साथ इस तरह उनकी रणनीति तय करना स्पष्ट करता है कि उनका एजेंडा जन कल्याण नहीं बल्क़ि सिर्फ राजनीति और सत्ता लोलुपता ही रहा है। एक आम आदमी का चोला पहनकर और बड़े-बड़े नेताओं को भ्रष्ट बता कर जो साहब कभी ईमानदार छवि की वजह से मुख्यमंत्री बने थे, उन्होंने आज अपनी गलीच राजनीति के चलते बड़े से बडे़ घाघ राजनेता को भी पीछे छोड़ दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेसी राज्य कृषि कानूनों को रद्द करें’ – सोनिया गाँधी का ‘फर्जी’ निर्देश, क्योंकि इसमें है राष्ट्रपति की मंजूरी का पेंच

सोनिया गाँधी ने कॉन्ग्रेस शासित राज्यों को निर्देश दिया है कि वो वो ऐसे विकल्प आजमाएँ, जिससे केंद्र के कृषि कानूनों को रद्द किया जा सके।

बिहार चुनाव की वो 40+ सीटें, जहाँ ओवैसी कर सकते हैं खेल: राजनीति की प्रयोगशाला में चलेगा दलित-मुस्लिम कार्ड

किशनगंज (करीब 68%), कटिहार (करीब 45%), अररिया (करीब 43%) और पुर्णिया (करीब 39%) में कम से कम 20 सीटें ऐसी हैं, जहाँ से...

तिलक लगा, भगवा पहन एंकरिंग करना अपराध है? सुदर्शन न्यूज ने केंद्र के शो-कॉज नोटिस का दिया जवाब

‘यूपीएससी जिहाद’ कार्यक्रम को लेकर सूचना प्रसारण मंत्रालय की ओर से जारी शो-कॉज नोटिस का सुदर्शन न्यूज ने जवाब दे दिया है।

16 दिसंबर को बस फूँका, 17 को हिंदुओं पर पथराव: दिल्ली दंगों में ताहिर हुसैन के बयान से नए खुलासे

ताहिर हुसैन के बयान से दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों को लेकर कुछ चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। कुछ ऐसे तथ्य सामने आए हैं जिससे अब तक सब अनजान थे।

दीपिका, सारा, श्रद्धा और रकुल… सबने NCB को दिए एक जैसे जवाब, बताया- हैश ड्रग नहीं है

दीपिका, सारा, श्रद्धा और रकुल से एनसीबी ने पूछताछ भले अलग-अलग की हो, पर दिलचस्प यह है कि सवालों जवाब सबके एक जैसे ही थे।

कहीं देवी-देवताओं की मूर्ति पर हथौड़े से वार, कहीं आग में जलता रथ: आंध्र प्रदेश में मंदिरों पर हुए हालिया हमले

पिछले कुछ समय से लगातार आंध्र प्रदेश में हिंदू मंदिरों पर हमले की घटनाएँ सामने आ रही हैं। ऐसे 5 मामलों में क्या हुआ, जानें।

प्रचलित ख़बरें

बेच चुका हूँ सारे गहने, पत्नी और बेटे चला रहे हैं खर्चा-पानी: अनिल अंबानी ने लंदन हाईकोर्ट को बताया

मामला 2012 में रिलायंस कम्युनिकेशन को दिए गए 90 करोड़ डॉलर के ऋण से जुड़ा हुआ है, जिसके लिए अनिल अंबानी ने व्यक्तिगत गारंटी दी थी।

‘दीपिका के भीतर घुसे रणवीर’: गालियों पर हँसने वाले, यौन अपराध का मजाक बनाने वाले आज ऑफेंड क्यों हो रहे?

दीपिका पादुकोण महिलाओं को पड़ रही गालियों पर ठहाके लगा रही थीं। अनुष्का शर्मा के लिए यह 'गुड ह्यूमर' था। करण जौहर खुलेआम गालियाँ बक रहे थे। तब ऑफेंड नहीं हुए, तो अब क्यों?

एंबुलेंस से सप्लाई, गोवा में दीपिका की बॉडी डिटॉक्स: इनसाइडर ने खोल दिए बॉलीवुड ड्रग्स पार्टियों के सारे राज

दीपिका की फिल्म की शूटिंग के वक्त हुई पार्टी में क्या हुआ था? कौन सा बड़ा निर्माता-निर्देशक ड्रग्स पार्टी के लिए अपनी विला देता है? कौन सा स्टार पत्नी के साथ मिल ड्रग्स का धंधा करता है? जानें सब कुछ।

व्यंग्य: दीपिका के NCB पूछताछ की वीडियो हुई लीक, ऑपइंडिया ने पूरी ट्रांसक्रिप्ट कर दी पब्लिक

"अरे सर! कुछ ले-दे कर सेटल करो न सर। आपको तो पता ही है कि ये सब तो चलता ही है सर!" - दीपिका के साथ चोली-प्लाज्जो पहन कर आए रणवीर ने...

आजतक के कैमरे से नहीं बच पाएगी दीपिका: रिपब्लिक को ज्ञान दे राजदीप के इंडिया टुडे पर वही ‘सनसनी’

'आजतक' का एक पत्रकार कहता दिखता है, "हमारे कैमरों से नहीं बच पाएँगी दीपिका पादुकोण"। इसके बाद वह उनके फेस मास्क से लेकर कपड़ों तक पर टिप्पणी करने लगा।

‘नहीं हटना चाहिए मथुरा का शाही ईदगाह मस्जिद’ – कॉन्ग्रेस नेता ने की श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति याचिका की निंदा

कॉन्ग्रेस नेता महेश पाठक ने उस याचिका की निंदा की, जिसमें मथुरा कोर्ट से श्रीकृष्ण जन्मभूमि में अतिक्रमण से मुक्ति की माँग की गई है।

‘कॉन्ग्रेसी राज्य कृषि कानूनों को रद्द करें’ – सोनिया गाँधी का ‘फर्जी’ निर्देश, क्योंकि इसमें है राष्ट्रपति की मंजूरी का पेंच

सोनिया गाँधी ने कॉन्ग्रेस शासित राज्यों को निर्देश दिया है कि वो वो ऐसे विकल्प आजमाएँ, जिससे केंद्र के कृषि कानूनों को रद्द किया जा सके।

बिहार चुनाव की वो 40+ सीटें, जहाँ ओवैसी कर सकते हैं खेल: राजनीति की प्रयोगशाला में चलेगा दलित-मुस्लिम कार्ड

किशनगंज (करीब 68%), कटिहार (करीब 45%), अररिया (करीब 43%) और पुर्णिया (करीब 39%) में कम से कम 20 सीटें ऐसी हैं, जहाँ से...

‘केस वापस ले, वरना ठोक देंगे’: करण जौहर की ‘ड्रग्स पार्टी’ की शिकायत करने वाले सिरसा को पाकिस्तान से धमकी

करण जौहर के घर पर ड्रग्स पार्टी होने का दावा करने वाले सिरसा को पाकिस्तान से जान से मारने की धमकी मिली है।

तिलक लगा, भगवा पहन एंकरिंग करना अपराध है? सुदर्शन न्यूज ने केंद्र के शो-कॉज नोटिस का दिया जवाब

‘यूपीएससी जिहाद’ कार्यक्रम को लेकर सूचना प्रसारण मंत्रालय की ओर से जारी शो-कॉज नोटिस का सुदर्शन न्यूज ने जवाब दे दिया है।

16 दिसंबर को बस फूँका, 17 को हिंदुओं पर पथराव: दिल्ली दंगों में ताहिर हुसैन के बयान से नए खुलासे

ताहिर हुसैन के बयान से दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों को लेकर कुछ चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। कुछ ऐसे तथ्य सामने आए हैं जिससे अब तक सब अनजान थे।

सुब्हानी हाजा ने इराक में IS से ली जिहादी ट्रेनिंग, केरल में जमा किए रासायनिक विस्फोटक: NIA कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद

केरल के कोच्चि स्थित एनआईए की विशेष अदालत ने सोमवार को ISIS आतंकी सुब्हानी हाजा मोइदीन को उम्रकैद की सज़ा सुनाई।

‘हाँ, मैंने माल के बारे में पूछा, हम सिगरेट को माल कहते हैं; वीड मतलब मोटी सिगरेट-हैश मतलब पतली’

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि एनसीबी के सामने पूछताछ में दीपिका पादुकोण ने कहा कि 'माल' सिगरेट का कोड वर्ड है।

दीपिका, सारा, श्रद्धा और रकुल… सबने NCB को दिए एक जैसे जवाब, बताया- हैश ड्रग नहीं है

दीपिका, सारा, श्रद्धा और रकुल से एनसीबी ने पूछताछ भले अलग-अलग की हो, पर दिलचस्प यह है कि सवालों जवाब सबके एक जैसे ही थे।

मथुरा: श्रीकृष्ण जन्मभूमि मुक्ति को लेकर दाखिल याचिका पर 30 सितंबर को सुनवाई

मथुरा श्रीकृष्ण जन्मभूमि के मालिकाना हक को लेकर दाखिल याचिका पर सीनियर सिविल जज छाया शर्मा की अदालत ने सुनवाई के लिए 30 सितंबर की तारीख निर्धारित की है।

कहीं देवी-देवताओं की मूर्ति पर हथौड़े से वार, कहीं आग में जलता रथ: आंध्र प्रदेश में मंदिरों पर हुए हालिया हमले

पिछले कुछ समय से लगातार आंध्र प्रदेश में हिंदू मंदिरों पर हमले की घटनाएँ सामने आ रही हैं। ऐसे 5 मामलों में क्या हुआ, जानें।

हमसे जुड़ें

264,935FansLike
78,069FollowersFollow
325,000SubscribersSubscribe