Thursday, May 23, 2024
Homeराजनीतिराहुल का अमेठी में पत्ता साफ कर अब स्मृति ईरानी ने किया वायनाड की...

राहुल का अमेठी में पत्ता साफ कर अब स्मृति ईरानी ने किया वायनाड की ओर कूच, यूजर्स ने कहा- बच्चे को महासागर में भेजोगी क्या

केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने 2 मई को ट्वीट करके जानकारी दी थी, "नमस्ते वायनाड! मैं जल्द ही जिले के विकास से संबंधित बैठकों और अन्य सार्वजनिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए वहाँ रहूँगी। कल मिलते हैं।"

उत्तर प्रदेश के अमेठी में राहुल गाँधी को हरा कर इतिहास रचने वाली भाजपा नेता स्मृति ईरानी आज 3 मई को केरल के वायनाड का दौरा करने गई हैं। वायनाड वही संसदीय क्षेत्र है जहाँ से राहुल गाँधी पिछले चुनावों में सांसद चुने गए थे।

केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने 2 मई को ट्वीट करके जानकारी दी थी, “नमस्ते वायनाड! मैं जल्द ही जिले के विकास से संबंधित बैठकों और अन्य सार्वजनिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए वहाँ रहूँगी। कल मिलते हैं।”

स्मृति ईरानी के इस ट्वीट के बाद नेटीजन्स इस पर अपनी प्रतिक्रिया देने लगे। किसी ने कहा कि स्मृति ईरानी ‘इस लड़के’ को यहाँ से भी भगा कर मानेंगी तो किसी ने उनसे कहा, “मैडम ये ठीक नहीं है। आपने हमारे पप्पू महाराज को खदेड़ा अब वायनाड पर आपकी आँख है।” एक यूजर ने लिखा- बच्चे की जान लोगे क्या अब कहाँ महासागर में राहुल गाँधी को भेजना चाहती हो।

अमेठी से राहुल गाँधी को खदेड़ा

गौरतलब है कि राहुल गाँधी और स्मृति ईरानी के बीच की लड़ाई 2014 लोकसभा चुनावों से ही शुरू है। साल 2014 के चुनावों में स्मृति ईरानी ने अमेठी में राहुल गाँधी को कड़ी टक्कर दी थी। और हार का मुँह देखने के बाद भी वहाँ अपनी कैंपेनिंग करनी नहीं छोड़ी। उन्होंने जमीन पर काम किया जिसका असर पाँच साल बाद 2019 के लोकसभा चुनावों में देखने को मिला। जहाँ ईरानी ने राहुल गाँधी को उन्हीं के गढ़ में 55 हजार वोटों को फर्क से हराकर इतिहास रच दिया। 1981 के बाद से ये सीट कॉन्ग्रेस पर ही थी। सिर्फ 1998 में यहाँ संजय सिंह ने बाजी मारी थी वरना उससे पहले और उसके बाद कॉन्ग्रेस का बोल बाला था।

राहुल गाँधी की वायरल वीडियो

स्मृति ईरानी की जीत के पीछे उनके जमीनी कार्यों को वजह माना जाता है और इसीलिए जब उन्होंने वायनाड को लेकर ट्वीट किया तो कयास लगने लगे कि इस बार उनकी नजर राहुल गाँधी की अगली इस संसदीय सीट पर है। सबसे दिलचस्प बात ये है कि स्मृति ईरानी का वायनाड जाने का प्लॉन उसी बीच बना जब राहुल गाँधी की सोशल मीडिया पर एक पार्टी वीडियो वायरल है। नेटीजन्स का दावा है कि राहुल जिस महिला के साथ पार्टी करते वीडियो में नजर आ रहे वह नेपाल में चीन की राजदूत हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मी लॉर्ड! भीड़ का चेहरा भी होता है, मजहब भी होता है… यदि यह सच नहीं तो ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारों के साथ ‘काफिरों’ पर...

राजस्थान हाईकोर्ट के जज फरजंद अली 18 मुस्लिमों को जमानत दे देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि चारभुजा नाथ की यात्रा पर इस्लामी मजहबी स्थल के सामने हमला करने वालों का कोई मजहब नहीं था।

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -