Thursday, February 22, 2024
Homeराजनीतिकिसानों के लिए ₹1 लाख करोड़, हेल्थ सेक्टर को ₹23,000 करोड़: PM मोदी की...

किसानों के लिए ₹1 लाख करोड़, हेल्थ सेक्टर को ₹23,000 करोड़: PM मोदी की नई कैबिनेट की पहली बैठक, ये रहे बड़े फैसले

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि मंडियों माध्यम से एक लाख करोड़ रुपए किसानों तक पहुँचाए जाएँगे। साथ ही नारियल की खेती करने वाले किसानों के फायदे के लिए नारियल एक्ट में संशोधन किया गया है और जल्द ही नारियल बोर्ड बनाया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल के पहले मंत्रिमंडल विस्तार के अगले ही दिन यानी गुरुवार (8 जुलाई 2021) को कैबिनेट की पहली बैठक संपन्न हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली इस बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए, जिनके दूरगामी प्रभाव देखने को मिल सकते हैं। बैठक में कृषि और स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े फैसले बेहद महत्वपूर्ण हैं। इसके तहत सरकार मंडी के माध्यम से किसानों तक एक लाख करोड़ रुपए पहुँचाएगी। इसके अलावा, सरकार ने 23,000 करोड़ के आपातकालीन स्वास्थ्य पैकेज का भी ऐलान किया है।

नवनियुक्त स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बताया कि कोविड की दूसरी लहर के दौरान जो समस्याएँ आई थीं, उनको देखते हुए 23,000 करोड़ रुपए का नया पैकेज दिया गया है। इस पैकेज के तहत 15,000 करोड़ केंद्र सरकार खर्च करेगा, जबकि राज्यों को 8,000 करोड़ रुपए दिए जाएँगे।

उन्होंने बताया कि साल 2020 में कोरोना से निपटने के लिए सरकार ने 15,000 करोड़ रुपए का पैकेज दिया था। इसकी मदद से कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर खोले गए। उन्होंने बताया कि इस फंड से कोविड डेडिकेटेड अस्पताल, कोविड केयर सेंटर और ऑक्सीजन बेड स्थापित किए गए। इस समय देश में 4,389 कोविड डेडिकेटेड अस्पताल, 10,000 कोविड केयर सेंटर और 4 लाख से अधिक ऑक्सीजन बेड हैं। उन्होंने बताया कि पहले कोविड डेडिकेटेड अस्पताल 163 थे, जबकि कोविड केयर सेंटर एक भी नहीं थे।

वहीं, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि मंडियों माध्यम से एक लाख करोड़ रुपए किसानों तक पहुँचाए जाएँगे। साथ ही नारियल की खेती करने वाले किसानों के फायदे के लिए नारियल एक्ट में संशोधन किया गया है और जल्द ही नारियल बोर्ड बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर फंड के लिए राज्य सरकार और सहकारिता संस्थान, स्वयं-सहायता समूह और APMC भी पात्र होंगे।

कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि क्षेत्र को आगे बढ़ाने के लिए कृषि स्टार्टअप और किसान समूहों को 2 करोड़ रुपए तक का ऋण दिया जाएगा। इस ऋण पर 3% ब्याज की छूट दी जाएगी। उन्होंने बताया कि कोई भी अलग-अलग इलाकों में स्थित कोई प्रोजेक्ट लाता है तो उसे 2 करोड़ रुपए का अलग-अलग लोन दिया जाएगा और ब्याज की छूट मिलेगी।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कैबिनेट में बड़ा बदलाव करते हुए कई चेहरों को मौका दिया है, इनमें मनसुख मांडविया भी शामिल हैं। नए मंत्रिमंडल में 43 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई है। वहीं, अगर राज्य के आधार पर बात करें तो उत्तर प्रदेश से सबसे ज्यादा 7 और फिर गुजरात से 3 मंत्रियों को मंत्रिमंडल में जगह दी गई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अलवर में जहाँ कटती थी गाय उस मंडी को चलाता था वारिस, बना रखा था IPS का फर्जी कार्ड: रिपोर्ट में बताया- सप्लाई के...

मकानों को ध्वस्त किया गया है, बिजली के पोल गिरा कर ट्रांसफॉर्मर हटाए गए हैं और खेती भी नष्ट की गई है। खुद कलक्टर अर्पिता शुक्ला ने दौरा किया।

खनौरी बॉर्डर पर पुलिस वालों को घेरा, पराली में भारी मात्रा में मिर्च डाल कर लगा दी आग… किसानों ने लाठी-गँड़ासे किया हमला, जम...

किसानों द्वारा दाता सिंह-खनौरी बॉर्डर पर पुलिसकर्मियों को घेर कर पुलिस नाके के आसपास भारी मात्रा में मिर्च पाउडर डाल कर आग लगा दी गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe