अखिलेश ने किया आज़म के अंडरवियर बयान का बचाव, कहा ‘उन्होंने किसी का नाम तो नहीं लिया’

आज़म ख़ान के ख़िलाफ़ एफआईआर भी दर्ज कर ली गई है। वो चौतरफा घिर गए हैं। महिला आयोग भी उन्हें नोटिस भेजा है। उनके इस बयान को घिनौना बताते हुए महिला आयोग की अध्यक्षा रेखा शर्मा ने कहा था कि वो निर्वाचन आयोग से अनुरोध करेंगी कि उन्हें चुनाव लड़ने से रोका जाए।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज़म ख़ान के उस बयान का बचाव किया है जिसमे उन्होंने कहा था कि रामपुर के लोगों ने 17 सालों में उनको (जया प्रदा) नहीं पहचाना, जबकि उन्होंने केवल 17 दिन में उनकी वास्तविकता को पहचान लिया। आज़म ने कहा था, “उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लग गए। मैं तो 17 दिन में ही पहचान गया कि इनके नीचे का जो अंडरवियर है, वो भी खाकी रंग का है। यह टिप्पणी करते हुए आजम खान ये दिखाने की कोशिश कर रहे थे कि जया प्रदा के संबंध आरएसएस से थे और जया ने जो उनके खिलाफ आरोप लगाए थे, वो भी आरएसएस की साज़िश थी। आजम ने जब यह शर्मनाक टिप्पणी की थी, उस समय सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी मंच पर मौजूद थे।

कई नेताओं ने कहा कि सपा सुप्रीमो अखिलेश की मौजूदगी में दिए गए इस बयान का अखिलेश द्वारा बचाव करने का अर्थ है कि सब कुछ उनकी देखरेख और सहमति से हो रहा है। अखिलेश यादव ने आज़म के महिला-विरोधी ‘अंडरवियर बयान’ पर उनका बचाव करते हुए कहा, “आज़म ख़ान के बयान को गलत परिपेक्ष्य में पेश किया गया। उन्होंने ऐसा किसी और के लिए कहा था। संघ के कपड़ों को लेकर दिया गया उनका बयान किसी और के लिए था। मीडिया इस मामले में ग़लती कर रही है, कुछ और ही दिखाया जा रहा है।” इतना ही नहीं, अखिलेश यादव ने आज़म ख़ान के साथ एक फोटो ट्वीट कर भी यह दिखाया कि कि वो उनके साथ खड़े हैं। अखिलेश का ये ट्वीट आज़म के बयान पर उठे विवाद के बाद आया है।

उधर मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव ने आज़म ख़ान के बयान की निंदा की है। उन्होंने निर्वाचन आयोग और सपा प्रमुख अखिलेश से इस मामले में त्वरित कार्रवाई करने की अपील की। अपर्णा ने आज़म ख़ान के बयान बताते हुए कहा कि वो पार्टी की छवि को गिरा रहे हैं। केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी कई महिला नेत्रियों को ट्विटर पर टैग करते हुए इस बयान की निंदा करने की अपील की। सुषमा ने लिखा “मुलायम भाई- आप पितामह हैं समाजवादी पार्टी के। आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा हैं आप भीष्म की तरह मौन साधने की ग़लती मत करिए।

आज़म खान को महिला आयोग ने भेजी नोटिस
- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

आज़म ख़ान के ख़िलाफ़ FIR भी दर्ज कर ली गई है। महिला आयोग भी उन्हें नोटिस भेजा है। उनके इस बयान को घिनौना बताते हुए महिला आयोग की अध्यक्षा रेखा शर्मा ने कहा था कि वो निर्वाचन आयोग से अनुरोध करेंगी कि उन्हें चुनाव लड़ने से रोका जाए। कॉन्ग्रेस पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, ‘जया प्रदा पर आज़म ख़ान की टिप्पणी का स्तर भद्दा और तुच्छ है। ऐसा बयान लोकतंत्र के लिए अपमानजनक है। आशा करता हूँ कि चुनाव आयोग और अखिलेश यादव इसका संज्ञान लेंगे और कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

अरविन्द केजरीवाल, दिल्ली चुनाव
एक ने अपनी पार्टी की ही महिला कार्यकर्ता को अपना शिकार बनाया तो दूसरे पर अपने परिवार की ही महिला के यौन शोषण का आरोप लगा। एक अन्य विधायक ने बीवी को कुत्ते से कटवा दिया। केजरीवाल के 6 विधायक, जिन पर लगे महिलाओं के बलात्कार, शोषण व दुर्व्यवहार के आरोप।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,168फैंसलाइक करें
35,340फॉलोवर्सफॉलो करें
161,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: