Friday, May 24, 2024
Homeराजनीति'हिंदू आस्था केंद्रों को अपमानित किया गया, मोदी सरकार में नए युग का सूत्रपात':...

‘हिंदू आस्था केंद्रों को अपमानित किया गया, मोदी सरकार में नए युग का सूत्रपात’: अमित शाह ने बताया- कैसे विंध्याचल में छिपानी पड़ी थी मूर्तियाँ

गृह मंत्री शाह ने कहा कि मुस्लिम हमलावरों के डर से देवी-देवताओं की मूर्तियों को एक घर में छिपा गया था। आज मिर्जापुर स्थित माँ विंध्यवासिनी धाम के जीर्णोद्धार के लिए इसी साल अगस्त में विंध्याचल कॉरिडोर परियोजना की शुरुआत की गई थी। इसके लिए 150 करोड़ रुपए भी आवंटित किए गए हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार (11 दिसंबर 2021) अहमदाबाद में कदवा पाटीदार समुदाय की कुलदेवी उमिया माता को समर्पित उमिया धाम का शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि बीते कई सालों से हिंदुओं की आस्था के केंद्र मंदिरों को अपमानित करने की कोशिश की गई। इसके बाद साल 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार ने सत्ता में आने के बाद नए युग की शुरुआत की। अब पीएम इन जगहों का बड़ी ही निडरता से पुनर्निमाण करवा रहे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, गृह मंत्री शाह ने कहा कि पहले लोग मंदिरों में जाने से कतराते थे। उमियाधाम के बारे में बोलते हुए उन्होंने बताया कि 74 हजार वर्ग गज जमीन पर 1,500 करोड़ रुपए की लागत से मंदिर व अन्य भवन बन रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा, “कई वर्षों तक हिंदू समुदाय के आस्था के केंद्रों को अपमानित किया गया और जब तक मोदी पूर्ण बहुमत के साथ केंद्र में सत्ता में नहीं आए, तब तक किसी ने भी इस गौरव को वापस लाने की पहल नहीं की।”

इस अवसर पर शाह ने कहा, “आज जब एक भव्य मंदिर का शिलान्यास आर्य समाज (गुजरात के राज्यपाल) आचार्य देवव्रत द्वारा किया जा रहा है, मैं यह कहना चाहूँगा कि मोदीजी ने हमारे भूले-बिसरे मंदिरों के जीर्णोद्धार के लिए निडर और विश्वास और सम्मान के साथ काम किया है।”

काशी विश्वनाथ और विंध्याचल मंदिर का किया जिक्र

केंद्रीय मंत्री ने पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बनाए गए काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का जिक्र किया, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री 13 दिसंबर 2021 को करेंगे। साथ ही उन्होंने मिर्जापुर स्थित माँ विंध्यवासिनी धाम का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि इस मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए इसी साल अगस्त में विंध्याचल कॉरिडोर परियोजना की शुरुआत की गई थी। इसके लिए 150 करोड़ रुपए भी आवंटित किए गए थे।

इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि विंध्याचल में मुस्लिमों के डर से हिंदुओं ने माँ विंध्यवासिनी की मूर्ति को एक घर के भीतर छिपाकर रखा था और उसे वहीं स्थापित कर रखा था। इसके अलावा उन्होंने हाल ही में केदारनाथ में पीएम मोदी द्वारा आदि गुरू शंकराचार्य के प्रतिमा का अनावरण किए जाने का भी उल्लेख किया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दुबई में चल रही हनुमत कथा, शेखों ने गुलाब के फूल बरसा कर बागेश्वर बाबा का किया स्वागत: गोल्डन वीजा पर अबुधाबी के मंदिर...

सुपरस्टार रजनीकांत ने अबुधाबी के BAPS मंदिर में दर्शन किया। वहीं दुबई के बुर्ज खलीफा में बागेश्वर धाम वाले बाबा का भव्य स्वागत हुआ।

हिरोइन लैला खान की हत्या मामले में सौतेले अब्बा को हुई ‘सजा-ए-मौत’: फार्म हाउस में गाड़ दी परिवार के 6 लोगों की लाश, 13...

बॉलीवुड अभिनेत्री लैला खान और उनके पूरे परिवार की हत्या मामले में अभिनेत्री के सौतेले पिता को कोर्ट ने सजा-ए-मौत सुनाई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -