Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिबिहार में लगेगी पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की मूर्ति, जयंती पर सालाना कार्यक्रम...

बिहार में लगेगी पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की मूर्ति, जयंती पर सालाना कार्यक्रम भी

24 अगस्त को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का दिल्ली के एम्स में निधन हो गया था। उनकी याद में पटना स्थित कृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित सभा के दौरान सीएम नीतीश कुमार ने ये ऐलान किए।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के दिवंगत नेता और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के सम्मान में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनकी मूर्ति लगवाने का ऐलान किया है। इसके साथ ही अरुण जेटली के जन्मतिथि (28 दिसंबर) को हर साल राजकीय समारोह के तौर पर मनाया जाएगा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार (अगस्त 31, 2019) को खुद इसकी घोषणा की।

इसी माह 24 अगस्त को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का दिल्ली के एम्स में निधन हो गया था। वे पिछले कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे। जेटली के निधन पर पटना स्थित कृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित शोक सभा के दौरान सीएम नीतीश कुमार ने यह ऐलान किए। इस सभा में डिप्टी सीएम सुशील मोदी सहित बीजेपी और जनता दल यूनाइटेड (JDU) के तमाम बड़े नेता मौजूद थे।

बीजेपी नेता के निधन पर शोक प्रकट करते हुए नीतीश ने कहा- “अरुण जेटली जी असाधरण और प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे। उन्होंने भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों की जिम्मेदारी बखूबी सँभाली। वह कानून के जानकार भी थे।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -