Wednesday, June 12, 2024
Homeराजनीतिनाले की सफाई और टोंटी सही कराने जैसे कामों पर खर्च कर दिए ₹29...

नाले की सफाई और टोंटी सही कराने जैसे कामों पर खर्च कर दिए ₹29 करोड़, अरशद-अहमद जैसों को ठेका: RTI खुलासे के बाद घिरे ‘शीशमहल’ वाले अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के PWD विभाग ने यह काम करने वाले ठेकेदारों के विषय में भी जानकारी दी है। इनमें से मुनज़रीन अहमद को ₹21.89 लाख, मोहम्मद अरशद को ₹17.21 लाख के ठेके दिए गए।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने अपने आधिकारिक आवास में छोटे-मोटे कामों के लिए वर्ष 2015 से 2022 के बीच ₹29 करोड़ खर्च कर दिए। यह खुलासा एक RTI से हुआ है। भाजपा ने इसको लेकर केजरीवाल पर प्रश्न उठाए हैं।

एक्स (पहले एक्स) पर सुमित जोशी नाम के शख्स ने इस RTI की एक फोटो डाली है। RTI में प्रश्न पूछा गया था कि केजरीवाल के दिल्ली के आधिकारिक आवास पर वर्ष 2015 से लेकर वर्ष 2022 तक सिविल कामों (इलेक्ट्रिक वायरिंग, प्लंबिंग और लकड़ी के काम) पर कितना पैसा खर्च किया गया और इसका ठेका किसे दिया गया।

RTI के जवाब में दिल्ली के लोक निर्माण विभाग (PWD) ने बताया है कि 31 मार्च 2015 से 27 दिसम्बर 2022 तक केजरीवाल के आवास में प्लंबिंग (टोंटी, पाइप और पानी की आपूर्ति से जुड़े अन्य काम), बिजली के कामों और लकड़ी के कामों पर ₹29.56 करोड़ खर्चे गए हैं।

वहीं दिल्ली के PWD विभाग ने यह काम करने वाले ठेकेदारों के विषय में भी जानकारी दी है। इनमें से मुनज़रीन अहमद को ₹21.89 लाख, मोहम्मद अरशद को ₹17.21 लाख के ठेके दिए गए। इसी के साथ ही मेसर्स AK बिल्डर्स को ₹29.08 करोड़ और मेसर्स MA बिल्डर्स को ₹8.7 लाख के ठेके दिए गए।

भाजपा ने केजरीवाल के आवास में छोटे-मोटे कामों पर ₹29 करोड़ खर्चने को लेकर प्रश्न खड़े किए हैं। दिल्ली भाजपा ने इसे केजरीवाल का नवाबी ठाठ बताया है। भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने इसे जनता की जगह अपना विकास करना बताया है। शहजाद पूनावाला ने केजरीवाल को दिल्ली का ठग बताया है।

अरविन्द केजरीवाल के आवास के रखरखाव पर ही ₹29 करोड़ खर्च किए जाने को लेकर प्रश्न खड़े हो रहे हैं। इससे पहले अप्रैल 2023 में सामने आया था कि केजरीवाल ने अपने आवास के सौन्दर्यीकरण में ₹45 करोड़ खर्चे। इन सौन्दर्यीकरण में मार्बल वियतनाम से मंगवाया गया जबकि ₹8 लाख के परदे मँगवाए गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़की हिंदू, सहेली मुस्लिम… कॉलेज में कहा, ‘इस्लाम सबसे अच्छा, छोड़ दो सनातन, अमीर कश्मीरी से कराऊँगी निकाह’: देहरादून के लॉ कॉलेज में The...

थर्ड ईयर की हिंदू लड़की पर 'इस्लाम' का बखान कर धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया गया और न मानने पर उसकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई।

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -