Tuesday, June 25, 2024
HomeराजनीतिBJP के IT सेल हेड अमित मालवीय ने शांतनु सिन्हा पर किया ₹10 करोड़...

BJP के IT सेल हेड अमित मालवीय ने शांतनु सिन्हा पर किया ₹10 करोड़ का मानहानि केस: यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाले को भेजा नोटिस

नोटिस में बताया गया है कि शांतनु द्वारा फेसबुक पर पोस्ट में मालवीय के खिलाफ़ "झूठे और अपमानजनक" आरोप लगाए गए थे, जिसका उद्देश्य "उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुँचाना" था।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने पश्चिम बंगाल के शांतनु सिन्हा नामक एक व्यक्ति को 8 जून 2024 को उनके खिलाफ यौन दुराचार के आरोप लगाने के लिए कानूनी नोटिस भेजा है और 10 करोड़ की मानहानि का दावा किया है। हालाँकि, यह नोटिस सोशल मीडिया पर तब आया, जब कॉन्ग्रेस नेता और आईटी सेल प्रमुख सुप्रिया श्रीनेत ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मालवीय के खिलाफ आरोपों के बारे में बात की।

कानूनी नोटिस के मुताबिक, मालवीय के खिलाफ पोस्ट 7 जून 2024 को फेसबुक पर प्रकाशित की गई थी। मालवीय की ओर से सुप्रीम कोर्ट के वकील अभिजीत ने शांतनु को यह नोटिस भेजा था, जिसमें पोस्ट हटाने और बिना शर्त माफी माँगने को कहा गया था। नोटिस में बताया गया है कि शांतनु द्वारा फेसबुक पर पोस्ट में मालवीय के खिलाफ़ “झूठे और अपमानजनक” आरोप लगाए गए थे, जिसका उद्देश्य “उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुँचाना” था।

नोटिस में लिखा है, “आरोपों की प्रकृति बेहद आपत्तिजनक है क्योंकि वे मेरे मुवक्किल द्वारा कथित तौर पर किए गए यौन दुराचार का झूठा आरोप लगाते हैं। यह मेरे मुवक्किल की गरिमा और प्रतिष्ठा के लिए घातक है, जो अपने पेशेवर प्रोफ़ाइल के अनुसार एक सार्वजनिक व्यक्ति हैं। उनकी प्रतिष्ठा को धूमिल करने के लिए जानबूझकर इस तरह के दुर्भावनापूर्ण बयान दिए गए हैं।”

शांतनु को तीन दिन के भीतर पोस्ट हटाने के लिए कहा गया है। हालाँकि, नोटिस का समय खत्म होने से पहले ही श्रीनेत ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस मुद्दे को उठाया। मालवीय के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने लिखा, “चूँकि कॉन्ग्रेस और उससे पहले पश्चिम बंगाल में टीएमसी ने अपमानजनक पोस्ट पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। तीन दिन का नोटिस का समय 11 जून 2024 को समाप्त हो रहा है। इसके बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।”

सुप्रिया श्रीनेत ने मालवीय पर यौन उत्पीड़न के लगाए आरोप

इस बीच, 10 जून 2024 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कॉन्ग्रेस की आईटी सेल की हेड सुप्रिया श्रीनेत ने फेसबुक पर आरएसएस के शांतनु सिन्हा के सोशल मीडिया पोस्ट के आधार पर बीजेपी के अमित मालवीय पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए। अपने बयान में श्रीनेत ने कहा, “बीजेपी नेता राहुल सिन्हा से जुड़े आरएसएस सदस्य शांतनु सिन्हा ने कहा है कि बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय गलत गतिविधियों में शामिल हैं। वह महिलाओं के यौन शोषण में लिप्त हैं। सिर्फ 5 स्टार होटलों में ही नहीं, बल्कि पश्चिम बंगाल के बीजेपी कार्यालयों में भी। हम बीजेपी से केवल एक ही चीज चाहते हैं, महिलाओं के लिए न्याय… सच्चाई यह है कि पीएम मोदी के शपथ ग्रहण के 24 घंटे से भी कम समय में बीजेपी के एक बहुत ही प्रमुख पदाधिकारी, इसके आईटी सेल के प्रमुख के खिलाफ यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए गए हैं… आज हम अमित मालवीय को उनके पद से तत्काल हटाने की माँग करते हैं। जब तक उन्हें उनके पद से नहीं हटाया जाता, तब तक न्याय नहीं हो सकता।”

शांतनु सिन्हा ने अमित मालवीय पर लगाए गंभीर आरोप

कानूनी नोटिस के बावजूद शांतनु सिन्हा ने फेसबुक से पोस्ट नहीं हटाई है। बंगाली में लिखे पोस्ट में शांतनु ने अमित मालवीय और बीजेपी के अन्य वरिष्ठ नेतृत्व पर पश्चिम बंगाल के नेताओं से यौन संबंध बनाने और बदले में उन्हें पार्टी में पद दिलाने का आरोप लगाया। उन्होंने पश्चिम बंगाल के बीजेपी नेताओं पर आरोप लगाया कि वे अध्यक्ष पद हासिल करने के लिए मालवीय और बीजेपी के अन्य वरिष्ठ नेताओं को 5 स्टार होटलों में महिलाओं को भेजते हैं। उन्होंने लिखा, “क्या अमित मालवीय अभी भी कोलकाता के किसी 5 स्टार होटल में बंगाल नेतृत्व द्वारा सुंदर महिलाएँ मुहैया कराए जाने का इंतज़ार कर रहे हैं? क्या बंगाल नेतृत्व के बीच यह प्रतिस्पर्धा बंद हो गई है कि अध्यक्ष पद हासिल करने के लिए कौन सबसे सुंदर महिलाएँ मुहैया करा सकता है? कृपया, अपने कार्यकर्ताओं और समर्थकों के साथ खड़े होने में प्रतिस्पर्धा करें। अमित मालवीय या दिल्ली से अध्यक्ष या सचिव पद हासिल करने के लिए भेजे गए पर्यवेक्षकों को सुंदर महिलाएँ मुहैया कराने में नहीं। आखिरकार, उन्होंने आपके आश्वासनों और आपके शब्दों के आधार पर अपने जीवन में जोखिम उठाया है। बंगाल नेतृत्व, कृपया एक नाममात्र के व्यक्ति की तरह निष्क्रिय न बैठें।”

सांतनु सिन्हा की फेसबुक पोस्ट

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में संदेशखाली में टीएमसी नेता शेख शाहजहाँ और उनके सहयोगियों के खिलाफ यौन शोषण के गंभीर आरोप सामने आए थे। शेख शाहजहाँ और उसके गुँडों पर इलाके में सालों से महिलाओं का शोषण करने का आरोप है।

ये खबर मूल रूप से अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित की गई है। मूल खबर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -