Friday, July 30, 2021
Homeराजनीतिबंगाल: अमित शाह के रोड शो से पहले हंगामा, गुजरात से आए BJP कार्यकर्ताओं...

बंगाल: अमित शाह के रोड शो से पहले हंगामा, गुजरात से आए BJP कार्यकर्ताओं को होटल से निकाला

कई तृणमूल कॉन्ग्रेस समर्थक, भाजपा कार्यकर्ता के घर के बाहर इकट्ठा हो गए और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस को सुरक्षा के लिए बीजेपी समर्थकों को पुलिस स्टेशन ले जाना पड़ा।

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच उठापटक शांत होने का नाम नहीं ले रही है। अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के मंगलवार (मई 14, 2019) को कोलकाता में रोड शो से पहले शहर में कल रात बारासात चुनाव क्षेत्र में दोनों पक्षों के बीच खूब हंगामा हुआ।

पश्चिम बंगाल के बारासाट संसदीय क्षेत्र में सोमवार को अमित शाह की रैली के कुछ घंटों बाद रात में हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला। यहाँ लोकल होटल में रुके गुजरात से आए कई बीजेपी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बाहर निकाल दिया। इस बीच कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी बहस भी हुई। पुलिस ने चुनाव से पहले होने वाली रुटीन जाँच के दौरान कार्यकर्ताओं से होटल छोड़ देने के लिए कहा। इसके पीछे का एक कारण ये भी था कि तृणमूल कॉन्ग्रेस की उम्मीदवार काकोली घोष दास्तीदार ने पुलिस को बताया था कि चुनाव के अंतिम दौर से पहले यहाँ कुछ बाहरी बीजेपी समर्थकों के ठहरे होने का शक है, जिनके पास कैश और हथियार हैं। होटल से निकाले जाने के बाद बीजेपी कार्यकर्ता स्थानीय बीजेपी नेता तुहीन मंडल के घर चले गए।

इस बीच, तृणमूल उम्मीदवार ने भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की माँग को लेकर स्थानीय पुलिस स्टेशन के बाहर धरना दिया। खबर है कि घटना की रात तुहिन मंडल के घर के बाहर भी खूब हंगमा हुआ। भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ वहाँ पहुँचने वाले वाहनों की अचानक हड़बड़ी में स्थानीय लोग उत्तेजित हो गए। कई वाहनों में तोड़फोड़ भी की गई।

रिपोर्ट्स के अनुसार, इस पर मामले की जाँच के लिए पुलिस तुहिन मंडल के घर गई। पुलिस के मुताबिक पूरे घर में अंधेरा था और पुलिस द्वारा कई बार दरवाजा खोलने की अपील करने के बाद अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। बाद में पुलिस ने गेट की ग्रिल तोड़ दी, और बड़े से लकड़ी के दरवाजे को किसी तरह खोला और अंदर से लाइट चालू की।

घर के अंदर स्थानीय भाजपा नेता प्रदीप बनर्जी सहित कुछ लोग थे, जिन्होंने कहा कि वे पार्टी की बैठक शुरू करने वाले थे। उन्होंने यह भी पुष्टि की कि बैठक में आरएसएस नेता और बंगाल के भाजपा के सह-प्रभारी अरविंद मेनन ने भी भाग लिया। इसी दौरान कई तृणमूल कॉन्ग्रेस समर्थक, भाजपा कार्यकर्ता के घर के बाहर इकट्ठा हो गए और विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस को सुरक्षा के लिए बीजेपी समर्थकों को पुलिस स्टेशन ले जाना पड़ा।

इससे पहले, कल (मई 13, 2019) को जाधवपुर में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दी गई, जिससे उनकी रैली भी रद्द करनी पड़ी। इसके बाद प्रदेश भाजपा में भूचाल आ गया और सभी कार्यकर्ताओं व पार्टी पदाधिकारियों ने तृणमूल कॉन्ग्रेस सहित राज्य के प्रशासन पर जम कर निशाना साधा। भाजपा ने कहा कि पश्चिम बंगाल राज्य चुनाव आयोग तृणमूल कॉन्ग्रेस की दलाली करने में लगा हुआ है। भाजपा ने राज्य चुनाव आयोग के दफ़्तर के सामने बड़ी संख्या में विरोध प्रदर्शन किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,052FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe