Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिहर महीने ₹8700 करोड़ का नुकसान, फिर भी पेट्रोल-डीजल पर मोदी सरकार ने दी...

हर महीने ₹8700 करोड़ का नुकसान, फिर भी पेट्रोल-डीजल पर मोदी सरकार ने दी राहत: जानें एनडीए शासित राज्यों में कितना सस्ता

केंद्र सरकार की घोषणा के बाद एनडीए शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने ट्वीट कर केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया और अपने-अपने राज्यों में पेट्रोल-डीजल के दाम में की जाने वाली कटौती की घोषणा की।

दीवाली के मौके पर मोदी सरकार ने आम जनता को तोहफा दिया है। केंद्र सरकार ने बुधवार (3 नवंबर 2021) को पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी में 5 रुपए और डीजल पर 10 रुपए की कटौती करने का ऐलान किया है यानी आज सुबह से आपको पेट्रोल और डीजल पहले के मुकाबले सस्ता मिलेगा।

अभी तक केंद्र सरकार पेट्रोल पर 32.90 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर 31 रुपए प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी लेती थी। लेकिन अब यह कीमत पेट्रोल पर 27.90 रुपए और डीजल पर 21.80 रुपए रह जाएगी।

यहाँ बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा एक्साइज ड्यूटी में कटौती के बाद राज्यों से पेट्रोल डीजल पर वैट घटाने की अपील की थी, जिसके बाद 10 एनडीए शासित राज्यों में इस बाबत घोषणाएँ हुईं। खुद राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने ट्वीट कर केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया और अपने-अपने राज्यों में पेट्रोल-डीजल के दाम में की जाने वाली कटौती की घोषणा की।

केंद्र सरकार के ऐलान के बाद उत्तर प्रदेश और हरियाणा में पेट्रोल-डीजल 12 रुपए प्रति लीटर कम करने का ऐलान हुआ है।

इसी तरह गोवा के मुख्यमंत्री डॉ प्रमोद सावंत ने कहा, “गोवा सरकार पेट्रोल पर 7 रुपए और डीजल पर 7 रुपए की अतिरिक्त कटौती करेगी, जिससे डीजल की कीमत में 17 रुपए प्रति लीटर और पेट्रोल की कीमत में 12 रुपए प्रति लीटर की कमी आएगी।”

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, “पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क कम करने के केंद्र सरकार के फैसले को जानकर खुशी हुई। माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्णय के अनुरूप, मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि असम सरकार भी पेट्रोल और डीजल पर वैट में तत्काल प्रभाव से 7 रुपए की कटौती करेगी।”

कर्नाटक में भी राज्य सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर 7 रुपए प्रति लीटर की कटौती का ऐलान किया है।

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा, “बिहार में राज्य वैट में पेट्रोल पर 1.30 रुपए और डीजल पर 1.90 रुपए और उत्पाद शुल्क पर 5 रुपए और 10 रुपए की कटौती होगी। प्रभावी रूप से पेट्रोल 6.30 रुपए और डीजल 11.90 रुपए सस्ता होगा।”

त्रिपुरा के सीएम बिपलब कुमार देब ने भी ऐलान किया कि वह पेट्रोल डीजल पर 7 रुपए घटाएँगे। उन्होंने कहा कि केंद्र और सरकार की घोषणा के बाद त्रिपुरा में पेट्रोल और डीजल 12 रुपए और 17 रुपए  कम होगा।

मणिपुर के सीएम एन बिरेन सिंह ने भी केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत किया और बताया कि वो पेट्रोल और डीजल पर 7रुपए वैट की कटौती करेंगे।

गुजरात में भी 7 रुपए प्रति लीटर पेट्रोल और डीजल का दाम घटाने का ऐलान हुआ है। वहीं उत्तराखंड ने भी पेट्रोल को 2 रुपए प्रति लीटर की अतिरिक्त राहत देने का निर्णय लिया है।

केंद्र सरकार के ऐलान के बाद किस राज्य में कितनी कटौती

-असम, गुजरात, कर्नाटक, गोवा, मणिपुर, त्रिपुरा में 7-7 रुपए पेट्रोल डीजल पर घटाए गए हैं। इस फैसले के बाद पेट्रोल पर 12 और डीजल पर 17 रुपए कम होंगे।
-यूपी में पेट्रोल-7 रुपए, डीजल-2 रुपए घटे हैं। केंद्र सरकार के ऐलान के साथ ही यहाँ दोनों ईंधन की कीमत 12-12 रुपए घटेगी। हरियाणा में भी 12 रुपए कम होंगे।
-बिहार में 1.30 रुपए पेट्रोल व 1.90 रुपए डीजल पर कम होंगे।
-उत्तराखंड में 02 रुपए पेट्रोल पर कम हुए हैं।

बता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले साल लॉकडाउन के कारण हुए नुकसान की पूर्ति पेट्रोल-डीजल से करने का प्रयास किया था। इसकी वजह से मार्च से मई-2020 के बीच केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 13 रुपए और डीजल पर 16 रुपए एक्साइज ड्यूटी बढ़ाई थी। इससे पेट्रोल पर एक्साइज करीब 65% बढ़कर 19.98 रुपए से 32.98 रुपए हो गया था, वहीं डीजल करीब 79% बढ़कर 15.83 रुपए से 28.35 रुपए प्रति लीटर हो गया था। 

सरकार ने इस फैसले के साथ ही इस साल अप्रैल से सितंबर तक पेट्रोल-डीजल की एक्साइज ड्यूटी से 1.71 लाख करोड़ रुपए कमाए, जो कोविड काल से पहले इन्हीं महीनों की कमाई से 70% ज्यादा है। अब पीटीआई की रिपोर्ट इस साल अप्रैल से अक्टूबर तक पेट्रोल-डीजल की खपत के डेटा के आधार पर अनुमान लगाते हुए बताती है कि केंद्र सरकार को एक्साइज कटौती से हर महीने 8700 करोड़ रुपए प्रति महीने का नुकसान होगा। वहीं कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस फाइनेंशियल ईयर के बाकी महीनों में यह नुकसान करीब 43,500 करोड़ रुपए का बैठेगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -