Wednesday, July 17, 2024
Homeराजनीतिअसम: AIUDF के 20 प्रत्याशी लाए गए जयपुर, कॉन्ग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन में...

असम: AIUDF के 20 प्रत्याशी लाए गए जयपुर, कॉन्ग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन में परिणाम से पहले ही मची खलबली

गठबंधन को अपने प्रत्याशियों के पाला बदल कर भाजपा के खेमे में जाने का डर सता रहा है। इससे बचने के लिए गठबंधन कॉन्ग्रेस की पुरानी रणनीति अपना रहा है, होटल या रिसॉर्ट में प्रत्याशियों या विधायकों को शिफ्ट कर देना। एआईयूडीएफ के 20 प्रत्याशियों को जयपुर के एक रिसॉर्ट भेज दिया गया है।

असम में होने वाला तीन चरणों का मतदान 6 अप्रैल को संपन्न हुआ। चुनावों का परिणाम 2 मई को घोषित किया जाएगा। हालाँकि, चुनाव परिणाम घोषित होने से पहले ही कॉन्ग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन ‘महाजोत’ में खलबली मची हुई है। गठबंधन को अपने प्रत्याशियों के पाला बदल कर भाजपा के खेमे में जाने का डर सता रहा है। इससे बचने के लिए गठबंधन कॉन्ग्रेस की पुरानी रणनीति अपना रहा है, होटल या रिसॉर्ट में प्रत्याशियों या विधायकों को शिफ्ट कर देना। एआईयूडीएफ के 20 प्रत्याशियों को जयपुर के एक रिसॉर्ट भेज दिया गया है।

न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार कॉन्ग्रेस के सूत्रों ने बताया कि महाजोत के प्रत्याशियों को जयपुर भेज दिया गया है। गठबंधन में शामिल एआईयूडीएफ के कई प्रत्याशी जयपुर पहुँच चुके हैं और जल्दी ही कॉन्ग्रेस के कुछ प्रत्याशी भी जयपुर के रिसॉर्ट में शिफ्ट किए जाएँगे।

राजस्थान में कॉन्ग्रेस के मुख्य व्हिप महेश जोशी ने कहा कि भाजपा द्वारा खरीद-फरोख्त के डर से प्रत्याशियों को राजस्थान लाया गया है। उन्होंने कहा कि जब तक भाजपा केंद्र में है तब तक विधायकों की खरीद-फरोख्त की संभावना बनी रहेगी। जोशी ने बताया कि 20 लोग आज आए हैं लेकिन किस पार्टी के हैं यह ज्ञात नहीं है। प्रत्याशियों को फेयरमाउंट होटल लाया गया है।

गुवाहाटी से जयपुर जाने वाली फ्लाइट के मैनिफेस्ट में एआईयूडीएफ के 20 ऐसे प्रत्याशियों की सूची है जिन्हें जयपुर भेजा गया है।


एआईयूडीएफ के 20 प्रत्याशियों को गुवाहाटी-जयपुर फ्लाइट से जयपुर भेजा गया।

गठबंधन ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जब गठबंधन में शामिल बीपीएफ के तामुलपुर से प्रत्याशी रंगजा खुंगूर बासुमतरी 1 अप्रैल को भाजपा में शामिल हो गए थे और मतदाताओं से यह अपील की कि वो भाजपा प्रत्याशी को वोट करें। ऐसा इसलिए क्योंकि नामांकन वापस लेने की तारीख बीत जाने के बाद रंगजा अपना नामांकन वापस नहीं ले सके।

असम में कॉन्ग्रेस, बदरुद्दीन अजमल की पार्टी एआईयूडीएफ, बोड़ोलैंड पीपुल्स फ्रंट और अन्य क्षेत्रीय पार्टियों के साथ चुनाव लड़ रही है। असम की 126 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हो चुके हैं। चुनाव आयोग के अनुसार असम चुनावों में कुल 82.04 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अब सरकार की हो गई माफिया अतीक अहमद की ₹50 करोड़ की प्रॉपर्टी, किसानों-गरीबों को धमका कर किया था अवैध कब्ज़ा

उत्तर प्रदेश में ऑपरेशन माफिया के तहत चल रही कार्रवाई में कमिश्नरेट पुलिस प्रयागराज और राज्य सरकार ने बड़ी सफलता हासिल की है। माफिया अतीक अहमद की करीब 50 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति अब राज्य सरकार की हो गई है।

‘रुक जाएगा विकास’: कर्नाटक सरकार के 75% आरक्षण वाले बिल से डरा IT कंपनियों का सबसे बड़ा समूह, CM नायडू के मंत्री बेटे ने...

IT कंपनियों के सबसे बड़े संघ ने कहा कि स्थानीय प्रतिभाओं की कमी होने के कारण कंपंनियों को किसी अन्य राज्य का रुख करने को मजबूर होना पड़ सकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -