Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिमणिशंकर अय्यर ने चीन के 1962 के हमले को बताया 'कथित', BJP का विरोध...

मणिशंकर अय्यर ने चीन के 1962 के हमले को बताया ‘कथित’, BJP का विरोध देख माँगनी पड़ी माफी: कॉन्ग्रेस नेता जयराम रमेश बोले- उम्र देखकर उन्हें छूट दे दो

मणिशंकर अय्यर के इस बयान के बाद कॉन्ग्रेस बैकफुट पर आ गई। कॉन्ग्रेस के मीडिया प्रमुख जयराम रमेश ने तुरंत डैमेज कंट्रोल में बताया कि मणिशंकर अय्यर ने माफी माँग ली है।

कॉन्ग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने 1962 में चीन के भारत पर हमले को ‘कथित’ बता दिया है। उन्होंने चीन के भारत पर हमले को एक स्पष्ट युद्ध मानने की बजाय इस पर शंकाएँ उत्पन्न करने की कोशिश की है। भाजपा ने इस घटना को कॉन्ग्रेस का चीन के लिए प्यार बताया है।

मंगलवार (28 मई, 2024) को मणिशंकर अय्यर ने एक कायर्क्रम में एक किताब के विमोचन के दौरान कहा, “अक्टूबर 1962 में चीन ने कथित तौर पर भारत पर आक्रमण किया।” उन्होंने इस दौरान 1962 के भारत-चीन युद्ध की कुछ घटनाएँ भी बताईं।

अमित मालवीय ने लिखा, “नेहरू’स फर्स्ट रिक्रुट्स पुस्तक के विमोचन के दौरान FCC में बोलते हुए मणिशंकर अय्यर ने 1962 में चीनी आक्रमण को ‘कथित’ बताया है। यह सच्चाई को बदलने का एक निर्लज्ज प्रयास है। नेहरू ने चीन को संयुक्त राष्ट्र की स्थायी सीट दे दी। राहुल गाँधी ने चीन के साथ गुप्त समझौता किया।”

आगे उन्होंने लिखा, “राजीव गाँधी फाउंडेशन ने चीनी दूतावास से पैसा लिया और चीनी कंपनियों के लिए बाजार में घुसने की सिफारिश करने वाली रिपोर्ट प्रकाशित की, जिसके आधार पर सोनिया गाँधी की UPA सरकार ने चीनी सामानों के लिए भारत का बाजार खोल दिया। इससे MSME को नुकसान पहुँचा और अब कॉन्ग्रेस नेता अय्यर चीनी आक्रमण पर पर्दा डालना चाहते हैं। इस युद्ध के बाद चीन ने 38,000 स्क्वायर KM भारत की जमीन पर कब्जा कर लिया है। कॉन्ग्रेस का चीनियों के प्रति यह प्रेम क्या दर्शाता है?”

मणिशंकर अय्यर के इस बयान के बाद कॉन्ग्रेस बैकफुट पर आ गई। कॉन्ग्रेस के मीडिया प्रमुख जयराम रमेश ने तुरंत डैमेज कंट्रोल में बताया कि मणिशंकर अय्यर ने माफी माँग ली है। उन्होंने लिखा, “मणिशंकर अय्यर ने ‘कथित आक्रमण’ शब्द का इस्तेमाल करने के लिए बिना शर्त माफ़ी माँगी है। उनकी उम्र की वजह से उन्हें छूट दी जानी चाहिए। कॉन्ग्रेस उनके शब्दों के चुनाव से खुद को अलग करती है।”

कॉन्ग्रेस के इस बयान से दूरी बनाने के बाद भी सोशल मीडिया पर मणिशंकर अय्यर की काफी आलोचना हो रही है। लोगों का कहना है कि चीन के भारत पर हमले को कथित बताकर अय्यर ने इतिहास में गड़बड़ी करने की कोशिश की है। मणिशंकर अय्यर ने हाल ही में कहा था कि भारत को पाकिस्तान की इज्जत करनी चाहिए क्योंकि उनके पास परमाणु बम है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -